जेवर में एयरपोर्ट को लेकर 3720 किसानों ने दी सहमति , जेवर विधायक ने किया था जागरूक

जेवर में बनने वाले इंटरनेशनल ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट के लिए लगभग 3720 किसानों ने आज सहमति दे दी है ।

आपको बता दे कि लगभग 1175 हैक्टेयर जमीन की सहमति मिलने के बाद जमीन का आंकडा 96 प्रतिशत तक पहुँच गया है ।

जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने रोही, दयानतपुर व किशोरपुर के भ्रमित किसानों को सहमति देने के लिए तैयार कर दिया है । जिससे साफ पता चल रहा है कि जल्दी से अब जेवर एयरपोर्ट बन जाएगा , क्योंकि अगर सभी किसान अपनी ज़मीन देने को तैयार हो जाएंगे तो ये कार्य पूरा कर लिया जाएगा।

जैसा कि विदित है कि दिनांक 11 सितम्बर 2018 तक 3600 किसानों की सहमति के बाद आज दिनांक 12 सितम्बर 2018 को लगभग 120 कृषक और भूमिहीनों ने अपनी सहमति जेवर में एयरपोर्ट बनाये जाने के लिए प्रशासन को सौंपी है।

आज भी जिला प्रशासन, यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण व जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह द्वारा गठित टीमों ने गांवों में जाकर एयरपोर्ट के महत्व के बारे में किसानों को समझाते हुए सहमति प्राप्त की।

वहीं जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने गांव नगला गणेशी, दयानतपुर, रोही व नगला शरीफ खांन के किसानों के बीच में बैठकर उन्हे समझाया कि ’’फिलहाल प्रश्न एयरपोर्ट बनने के बाद क्या सुविधा मिलेगी, यह नही है, बल्कि हम यह तय करने जा रहे हैं कि हमारे क्षेत्र में दुनिया का बेहतरीन एयरपोर्ट बनने जा रहा है, वह बने अथवा नही, इस बात का है।

जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने आगे कहा कि "यदपि किसानों को विस्थापन व मुआवजा नीति को लेकर, कुछ लोग भ्रम फैलाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन मैं उन सभी लोगों को मशविरा देना चाहूॅगा की धारा-11 की कार्यवाही के पश्चात हमारे पास सिर्फ और सिर्फ किसानों को बेहतर सुविधायें दिलवाने का कार्य ही शेष रह जायेगा और प्रदेश के मुख्यमंत्री की नजर जेवर क्षेत्र पर है तथा मुझे पूरी उम्मीद है कि यहां के किसानों के लिए जमीन की सहमति घाटे का सौदा नही होगा।

Leave a Reply