नुक्कड़ नाटक के जरिए आईआईएमटी के छात्रों ने महिला उत्पीड़न के खिलफ लोगो को किया जागरु क

?ui=2&ik=89f58f1071&view=att&th=1633fcf9b86e1158&attid=0.1&disp=safe&realattid=ii_jgxodfbe0_1633fcf9b86e1158&zw
ग्रेटर नोएडा के आईआईएमटी कॉलेज समूह और ग्रेटर नोएडा पुलिस प्रशासन के सहयोग से महिला सशक्तिकरण के लिए जागरूकता फैलाने हेतु ग्रेटर नोएडा और नोएडा के विभिन्न स्थानों पर नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया गया। इसमें आईआईएमटी के छात्र-छात्राओं ने नुक्कड़ नाटक के जरिए महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों के प्रति लोगों को जागरुक किया।

नाटक में दिखाया गया कि महिलाओं को इन अत्याचारों के विरोध में आवाज उठानी चाहिए। अगर महिलाएं हिम्मत करें तो पुलिस हमेशा उन्हें सहायता देने के लिए तत्पर रहती है। नुक्कड़ नाटक के जरिए कन्या भ्रूण हत्या, दहेज प्रताड़ना, घरेलू हिंसा, बाल विवाह जैसी समस्याओं पर लोगों का ध्यान आकृष्ट किया. नुक्कड़ नाटक के माध्यम से इन समस्याओं का हल खोजने की कोशिश की गयी बालिका शिक्षा पर जोर दिया गया। छात्र-छात्राओं ने ग्रेटर नोएडा के परी चौक के साथ साथ दादरी एवं जीआईपी मॉल,नोएडा में भी नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को जागरुक किया.

एसपी,ग्रामीण सुनीति ने बताया कि इस तरह के नुक्कड़ नाटक के जरिए पुलिस का उद्देश्य महिलाओं को जागरुक बनाना है. पुलिस प्रशासन ने महिला अत्याचार निवारण के लिए कई योजनाएं चलायी है परंतु उनकी जानकारी नहीं रहने के कारण प्रताड़ित महिलाएं उनका लाभ नहीं ले पाती है. ग्रामीण एसपी ने कहा कि महिलाओं को डरना नहीं चाहिए और पुलिस हेल्पलाइन का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए। उन्होंने आईआईएमटी के छात्र-छात्राओं का इस तरह के सामाजिक कार्य में सहयोग करने के लिए धन्यवाद दिया।

आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने पुलिस प्रशासन की तारीफ करते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन के इस नए कदम से महिलाओं में काफी जागरुकता फैलेगी और समाज में महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों को रोकने में मदद मिलेगी. उन्होंने कहा कि पुलिस और प्रशासन जब भी ऐसी योजनाएं लेकर आगे आयेगा उनका कॉलेज ऐसे सामाजिक कार्यों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेगा.