Tag Archive: #GreaterNoida

पटाखों की अवैध रूप से बिक्री करने वाले लोगों पर की जाएगी कार्रवाई

पटाखों की अवैध रूप से बिक्री करने वाले लोगों पर की जाएगी कार्रवाई
सुप्रीम कोर्ट एवं केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड दिल्ली के निर्देशों के तहत जनपद में पटाखों की बिक्री एवं चलाने को लेकर जिला प्रशासन सक्रियता के साथ दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है।
इसी को लेकर अब जिला प्रशासन की ओर से दीपावली के अवसर पर जिन लाइसेंस धारकों के द्वारा पटाखों की बिक्री में न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन किया गया है, उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की तैयारी जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है। जिला अधिकारी ने इस संबंध में नगर मजिस्ट्रेट एवं उप जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।
वहीं दूसरी ओर जिलाधिकारी ने समस्त जनपद वासियों का आह्वान करते हुए कहा है कि इस समय पूरे जनपद में पटाखों की बिक्री करने के लिए कोई भी लाइसेंस धारक अधिकृत नहीं है। यदि कोई व्यक्ति पटाखे बेचता हुआ पाया जाएगा या कोई खरीदते हुए पाया जाएगा तो माननीय न्यायालय के आदेशों के अनुक्रम उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी जाएगी।

दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन करने को लेकर प्रशासन सख्त, नोएडा में 38 और लोगों के खिलाफ की कार्रवाई

दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन करने को लेकर प्रशासन सख्त, नोएडा में 38 और लोगों के खिलाफ की कार्रवाई
दिवाली पर आतिशबाजी को लेकर न्यायालय के आदेशों का पालन सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से अधिकारियों द्वारा अपने अपने स्तर पर कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है। नोएडा क्षेत्र में आतिशबाजी करने के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करने, प्रदूषण फैलाने एवं शांति भंग करने के संबंध में जिला प्रशासन की ओर से निरंतर रूप से कार्रवाई की जा रही है।
इसी को लेकर नगर मजिस्ट्रेट नोएडा शैलेंद्र कुमार मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि आतिशबाजी करने में माननीय न्यायालय की अवहेलना करने को लेकर 38 और लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।
उन्होंने बताया कि थाना-20 के अंतर्गत 20 लोगों के खिलाफ, थाना फेस 3 में 6, थाना 39 में 7 एवं थाना 24 में पांच व्यक्तियों के विरुद्ध न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की गई है। सभी के द्वारा माननीय न्यायालय के आदेशों की अवहेलना करते हुए आतिशबाजी की जा रही थी और शांति भंग करने तथा प्रदूषण फैलाने में संबंधित व्यक्तियों के खिलाफ प्रशासन एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों द्वारा कार्रवाई की गई है।
नगर मजिस्ट्रेट ने समस्त जनपद वासियों का आह्वान किया है कि माननीय न्यायालय के आदेशों के अनुक्रम में आतिशबाजी करने का समय समाप्त हो चुका है और इस संदर्भ में बार बार जनता को जागरूक किया जा रहा है। अतः कोई भी व्यक्ति अब पटाखे न छोड़ें, यदि कहीं पर माननीय न्यायालय के आदेशों की अवहेलना होते हुए पाई जाएगी तो पटाखे छोड़ने वालों के विरूद्ध इसी प्रकार कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी।
वहीं नगर मजिस्ट्रेट ग्रेटर नोएडा गुंजा सिंह ने भी जानकारी दी है कि ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के थाना सूरजपुर के द्वारा 5 लोगों के खिलाफ तथा थाना कासना में 2 लोगों के खिलाफ नियमों का उल्लंघन करने पर पटाखे छोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

कचैडा के किसानों ने पुलिस पर महिलाओं के साथ अश्लील हरकत करने का लगाया आरोप

कचैडा के किसानों ने पुलिस पर महिलाओं के साथ अश्लील हरकत करने का लगाया आरोप

प्रदर्शन करने व अधिग्रहण के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में जेल में बंद किए गए कचैडा के किसान तेरह दिनों के बाद लुक्सर जेल से बुधवार रात साढ़े 11 बजे छूटने के बाद सीधे खेतों पर पहुंचे और ट्रैक्टर चलाकर जमीन पर कब्जा लेने की मुहीम शुरू कर दी है।

किसानों ने गांव में पंचायत कर पुलिस प्रशासन और बिल्डर के खिलाफ आंदोलन चलाने के लिए 50 सदस्यों की टीम गठित की है। किसानों ने पुलिस प्रशासन के अधिकारियों पर महिलाओं के साथ अश्लील हरकत करने का आरोप भी लगाया है। किसानों ने कहा कि किसी भी राजनीतिक पार्टी के नेताओं ने उनकी कोई मदद नहीं की। किसान 50-50 हजार रुपये के पर्सनल बॉन्ड पर खुद छूटकर आए हैं। किसानों ने लिखित में प्रशासन को बॉन्ड दिया है कि वे 6 महीने तक कोई आंदोलन नहीं करेंगे और न ही किसी आंदोलन में हिस्सा लेंगे।

कचैड़ा के पूर्व प्रधान व किसान संघर्ष समिति के प्रवक्ता सुशील नागर ने बताया कि किसी भी राजनीतिक पार्टी ने उनकी कोई मदद नहीं की। बीजेपी ने प्रशासन और पुलिस पर दबाव बनाकर किसानों को 13 दिनों तक जेल में बंद रखा गया। 62 किसान धारा 151 और 24 किसानों पर 7 धाराओं में बीजेपी ने मुकदमे लगवाए। किसानों का कहना है कि पुलिस ने गिरफ्तारी के दौरान महिलाओं के साथ छेड़छाड़ व अश्लील हरकतें कीं। किसानों ने कहा है कि डीएम व दादरी एसडीएम को बर्खास्त करने की मांग को लेकर वे कोर्ट में मुकदमा दर्ज कराने के लिए अपील दायर करेंगे।

डीएम बीएन सिंह ने दीपावली को प्रदूषण रहित मनाने के संबंध में संबंधित अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

डीएम बीएन सिंह ने दीपावली को प्रदूषण रहित मनाने के संबंध में संबंधित अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

 

जिलाधिकारी बीएन सिंह ने अपने कैंप ऑफिस नोएडा के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा है कि आगामी दीपावली के पर्व पर उच्चतम न्यायालय के आदेशों का पालन सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने कहा कि संबंधित अधिकारियों के द्वारा यह व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी कि सभी स्थानों पर ग्रीन पटाखे विक्रय किए जाएं और उन्हीं का लाइसेंस संबंधित अधिकारियों के द्वारा जारी किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि पटाखों के लाइसेंस जारी करते हुए प्रदूषण विभाग की एनओसी आवश्यक रूप से प्राप्त की जाए ताकि पूरे जनपद में उच्चतम न्यायालय के आदेशों के अनुपालन में पटाखों का विक्रय संभव हो सके।
जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि अभियान चलाकर ज़िले के सभी लोगों को उच्च न्यायालय के आदेशों के बारे में जानकारी देते हुए निर्धारित किए गए समय के अनुसार 8:00 से 10:00 के बीच पटाखे छोड़ने की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए और इस व्यवस्था को कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि अधिकारियों के द्वारा यह भी प्रयास किए जाएं कि पटाखे छोड़ने के लिए एक स्थान निर्धारित करते हुए सामूहिक रूप से पटाखे चलाने की व्यवस्था शहर के अंतर्गत करने की कार्यवाही अधिकारियों द्वारा की जाए ताकि दीपावली के त्यौहार को प्रदूषण मुक्त रूप में मनाया जा सके। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर अन्य समस्याओं के संदर्भ में समीक्षा करते हुए कहा कि जनपद की यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा नियमित रूप से कार्रवाई करने के साथ-साथ जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएं ताकि सभी नागरिकों के द्वारा यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने शहर को अतिक्रमण से मुक्त करने के संदर्भ में विभागीय अधिकारियों का आह्वान किया कि उनके द्वारा कार्य योजना बनाकर शहर को अतिक्रमण मुक्त करने के संदर्भ में एक अभियान चलाकर कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि जनसामान्य को शहर में अतिक्रमण से निजात मिल सके। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर यह भी कहा कि जनपद में अपराधों पर नियंत्रण करने के संदर्भ में जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के द्वारा विभिन्न कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने समस्त अधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में माफियाओं के संदर्भ में यदि कहीं से फीडबैक प्राप्त होती है तो उसके संदर्भ में जिला प्रशासन को जानकारी उपलब्ध कराई जाए ताकि उनके विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई जिला प्रशासन द्वारा संभव की जा सके। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन दिवाकर सिंह, नोएडा प्राधिकरण के ओएसडी राजेश कुमार सिंह, नगर मजिस्ट्रेट नोएडा शैलेंद्र मिश्रा, पुलिस अधीक्षक नगर पुलिस अधीक्षक यातायात ए के झा, एवं अन्य अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया।

देश, समाज और परिवार के उज्‍ज्‍वल भविष्य के लिये महिला सशक्तिकरण बेहद जरुरी : विधायक धीरेंद्र सिंह

देश, समाज और परिवार के उज्‍ज्‍वल भविष्य के लिये महिला सशक्तिकरण बेहद जरुरी : विधायक धीरेंद्र सिंह

 

महिलाओं की स्थिति में असल परिवर्तन लाना है तो लोगों की सोच में परिवर्तन लाना होगा । आम महिलाओं के जीवन में परिवर्तन, उनकी स्थिति में, उनकी सोच में परिवर्तन ही असल मे महिला सशक्तिकरण है। देश, समाज और परिवार के उज्‍ज्‍वल भविष्य के लिये महिला सशक्तिकरण बेहद जरुरी है। ये बाते आईआईएमटी कॉलेज समूह मे क्‍या महिलाओं को समानता का अधिकार प्राप्‍त है विषय पर आयोजित संगोष्‍ठी में मुख्‍य अतिथि जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने कही ।

ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज समूह में क्‍या महिलाओं को समानता का अधिकार प्राप्‍त है विषय पर संगोष्‍ठी आयोजन किया गया। जिसमें मुख्‍य अतिथि जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह और प्रमुख वक्‍ता के रूप में वरिष्‍ठ पत्रकार राम कृपाल सिंह , वरिष्‍ठ समाचार संपादक मनोज झा , जिला अध्‍यक्ष काग्रेस पार्टी, गौतम बुद्ध नगर डॉ महेंद्र सिंह नागर, उप क्रीडाधिकारी गौतम बुद्ध नगर पूनम बिश्‍नोई आदि वक्‍ताओं ने अपने विचार रखे।

वरिष्‍ठ पत्रकार राम कृपाल सिंह ने कहा कि मैं समाज से पूछना चाहता हू कि कन्‍या दान की वस्‍तु कब तक रहेगी , घर की बहू से बहू का घर कब होगा और गृहणी के काम की कीमत कब तय होगी ।

वरिष्‍ठ समाचार संपादक मनोज झा ने कहा कि प्राचीन समय से ही भारत में महिलाओं को सम्‍मानित स्‍थान प्राप्‍त था । कानून के साथ समाज की सोच में थी परिर्वतन होना चाहिए।

डॉ महेंद्र सिंह नागर ने कहा कि कुछ चुनिंदा घटनाओं एवं कुछ चुनिंदा लोगों की वजह से कई सारी अन्य महिलाओं एवं लड़कियों के बाहर निकलने के दरवाजे बंद हो जाते हैं। जरुरत है बंद दरवाज़ों को खोलने की।

उप क्रीडाधिकारी पूनम बिश्‍नोई ने महिला सुरक्षा को लेकर अनेक कानूनी पहलुओं पर महिलाओं को जागरूक किया ।

आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा कि लड़की के पैदा होते ही उससे भेदभाव होने लगता है। महिलाओं को अपनी आवाज बुलंद करनी होगी और जुल्म का प्रतिरोध करना होगा।

पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के डीन प्रो अनिल निगम ने विषय प्रवर्तन किया ।कार्यक्रम का संचालन प्रोफेसर अमित शर्मा ने किया ।आईआईएमटीं कालेज आफॅ मैनेजमेंट के निदेशक डॉ राहुल गोयल ने सभी अतिथियों का स्‍वागत किया ।

देश, समाज और परिवार के उज्‍ज्‍वल  भविष्य के लिये महिला सशक्तिकरण बेहद जरुरी : विधायक धीरेंद्र सिंह

देश, समाज और परिवार के उज्‍ज्‍वल भविष्य के लिये महिला सशक्तिकरण बेहद जरुरी : विधायक धीरेंद्र सिंह