आईटीएस इंजीनियरिंग काॅलेज ग्रेटर नॉएडा म ें दो दिवसीय ‘‘स्टार्टअप वीकेण्ड प्रोग्राम‘ ‘ का हुआ आयोजन

आईटीएस इंजीनियरिंग काॅलेज में छात्रों के लिए दो दिवसीय ‘‘स्टार्टअप वीकेण्ड प्रोग्राम‘‘ का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में छात्रों ने अपने नये-नये विचार साझा किए। दो दिवसीय कार्यक्रम को आयोजन 20 और 21 अप्रैल को किया गया जिसमें संस्थान के दो सौ से ज्यादा छात्रों ने भाग लिया।

इसमें मुख्य अतिथि पैडअप वेंचर के संस्थापक श्री पंकज ठाकर एवं विशिष्ट अतिथि स्टार्टअप प्रोग्राम सलाहकार ए0आई0सी0ई0 के सदस्य श्री दीपन साहू, संस्थान के निदेशक डाॅ0 विकास सिंह के अलावा सभी विभागों के विभागाध्यक्ष शामिल हुए।

इस अवसर पर छात्रों से विचार साझा करते हुए मुख्य अतिथि श्री ठाकर ने कहा कि तकनीकी एवं प्र्रबंधकीय पढ़ाई महंगी होने के कारण छा़त्रों से उनके माता-पिता एवं अविभाविकों की अपेक्षायें काफी बढ़ जाती हैं। माता-पिता की इनही अपेक्षाओं को पूरा करने हेतु छात्र पढ़ाई के तुरन्त बाद छोटी-मोटी नौकरी करते है जिससे उनके अपने नये-नये विचार जन्म लेने से पहले ही मर जाते हैं।

उन्होंने छात्रों से अपील की कि वे अपने नये-नये विचारों के बारे में अपने माता-पिता को बताये तथा उन्हें पूरे ईमानदारी से पूरा करने का प्रयास करें। विशिष्ट अतिथि श्री दीपन कुमार साहू ने इस दिशा में केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाई जाने वाली विभिन्न योजनाओं के वारे में छात्रों को अवगत कराया तथा बताया कि छात्र इस दिशा में किस प्रकार सरकारी मदद कर सकते है।

संस्थान के निदेशक डाॅ0 विकास सिंह ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारे देश में काफी आर्थिक असुंतलन है मुट्ठी भर लोगों के पास देश के 80 प्रतिशत पैसा है और शेष करोड़ो लोगों के हिस्से में केवल 20 प्रतिशत पैसा है। इसका प्रमुख कारण देश में उच्च शिक्षा प्राप्त लोगों का अपने विचारों का विकास न करते हुए नौकरी करना है। डाॅ0 सिंह ने छात्रों को समझाते हुए कहा कि उच्च शिक्षा की प्राप्ति के बाद अगर छात्र अपने सोच के अनुसार अपना काम करे तो ज्यादा पैसा कमा सकते है तथा इससे आर्थिक असुंतलन भी दूर हो सकता है।

Leave a Reply