आईटीएस डेन्टल कॉलेज में ‘‘तम्बाकू मुक्ति एवं परामर्श केन्द्र का लोकार्पण’’

’’भारतवर्ष में हर साल करोड़ो लोगों की मृत्यु केवल तम्बाकू के सेवन से होती है, 37ः से अधिक युवा तम्बाकू का सेवन करते है यही नहीं भारत तम्बाकू उत्पादन में विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश है।’’

 

देश और समाज को आगे बढ़ाने के लिए लोगों को तम्बाकू के सेवन से बचाना होगा जिसमें दंत चिकित्सकों को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी, यह बातंे गौतम बुद्ध नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ अनुराग भार्गव ने आईटीएस डेन्टल काॅलिज ग्रेटर नोएडा में श्तम्बाकू मुक्ति एवं परामर्श केन्द्र ’’ के लोकार्पण के दौरान चिकित्सकों कों सम्बोधित करते हुए कही। इस अवसर पर आई टी एस द एजूकेशन  ग्रुप के चेयरमैन डाॅ आर पी चड्ढा, वाइस चेयरमैन श्री सोहेल चड्ढा, जिला सलाहकार तम्बाकू उन्मूलन प्रकोष्ठ डाॅ0 श्वेता, प्रधानाचार्य डाॅ0 सचित आनन्द अरोड़ा, सभी डेन्टल विभागाध्यक्ष मौजूद रहे।

 

 

इस अवसर पर डाॅ0 अनुराग भार्गव ने कहा कि भारत देश में लगभग 47.9 प्रतिशत पुरूष तथा 20.3 प्रतिशत महिलाएं धुम्रपान का सेवन करती हैं। डाॅ0 भार्गव ने अपने सम्बोधन में कहा कि धुम्रपान से होने वाली बीमारी मुख्यतः मुख कैंसर के रोकथाम में दांतों के डाॅक्टरों की भूमिका बडी अहम होती है क्योंकि ज्यादातर मरीज दांतों के इलाज हेतु जब डेंटिस्ट के पास जाते हैं तो वे मरीजों के मुख का प्राथमिक निरीक्षण करते हैं। इसकी जानकारी सही समय पर मरीजों को देते हुए उनको सम्बंधित विशेषज्ञ के पास भेजकर सही समय पर इलाज कराने की सलाह देकर उनकी जान बचाई जा सकती है।

 

 

इस अवसर पर आई0टी0एस0 द एजूकेशन ग्रुप के चेयरमैन डाॅ0 आर0 पी0 चड्ढा ने कहा कि देश के विकास में युवाओं की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। आई0टी0एस0 ग्रुप का मैनेजमेण्ट, चिकित्सा, इंजीनियरिंग संस्थानों के माध्यम से विद्यार्थियों को विश्वस्तरीय पढ़ाई की सुविधा उत्पन्न कराता है बल्कि विद्यार्थियों को समाज के मुख्य धारा से जोड़ने के लिए लगातार प्रयास करता है।

 

 

संस्थान के प्रधानाचार्य डाॅ0 सचित आनन्द अरोड़ा ने कहा कि आस-पास के कई गावों से लोग दंत चिकित्सकों हेतु संस्थान में आते रहते है जिसमें अधिकांश तम्बाकू का सेवन करते है, तम्बाकू मुक्त परामर्श केन्द्र की सहायता से ऐसे लोगों की तम्बाकू छुड़वाई जा सकती है। डाॅ0 अरोड़ा ने युवा पीढी को आगाह करते हुए बताया कि भारत देश युवाओं का देश है। इसी को ध्यान में रखते हुए निजी कम्पनियां युवाओं को गुमराह करते हुए धुम्रपान को फैशन से जोडते हुए भारतीय युवाओं को धूम्रपान करने के लिए आकर्षित करते हुए अपने कारोबार को बढा रही है और युवाओं के भविष्य को अंधकार में ढकेल रही है।

 

 

संस्थान के वाइस चेयरमैन श्री सोहिल चडढा और सचिव श्री बी0 के0 अरोड़ा ने संस्थान के विद्याार्थियों और शिक्षकों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि आई0 टी0 एस0 परिवार हमेशा से ही गरीब मरीजों व समाज के हितों के लिए प्रयास करता रहा है और भविष्य में भी आगे बढकर करता रहेगा।

 

 

Leave a Reply