Tag Archive: #GNIDA

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने शाहबेरी में बनी अवैध बिल्डिंग को किया धवस्त

ग्रेटर नोएडा : अवैध बिल्डिंग पर चला बुलडोजर, शाहबेरी गांव में जुलाई 2018 में बनी अवैध बिल्डिंग के गिरने से 8 लोगों की हुई थी मौत, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने की बड़ी कार्रवाई

जर्मन डेलिगेशन के साथ शहर के विकास को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों ने की चर्चा

जर्मन डेलिगेशन के साथ शहर के विकास को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों ने की चर्चा
जर्मन डेलीगेशन के साथ ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों की वार्ता हुई। इसमें जर्मनी के शहर एडिनबर्ग के मेयर के द्वारा अपने शहर के विकास कार्यों की पूरी तस्वीर पेश की गई। पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के जरिए उन्होंने वहाँ के रोड व ट्रैफिक प्लान एवं स्वच्छता को लेकर सभी बिन्दुओं पर प्रकाश डाला।
 एसीईओ कृष्ण कुमार गुप्त ने बताया कि भविष्य में शिक्षा, विज्ञान, शहरी विकास जैसे विभिन्न पहलुओं पर परस्पर ज्ञान-विज्ञान के आदान-प्रदान पर बृहद् चर्चा हुई । ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा भी यहाँ के विकास कार्यों को लेकर विस्तार से प्रभावशाली प्रस्तुति हुई, जिसे जर्मन डेलीगेशन ने काफी सराहा।

17 आईएएस अफसरों के तबादले, दीप चंद बने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ

17 आईएएस अफसरों के तबादले, दीप चंद बने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ
दीप चंद – एसीईओ ग्रेटर नोएडा
एमपी सिंह – सचिव एलडीए लखनऊ
राजेश कुमार – वीसी वाराणसी प्राधिकरण
टीके शिबू – विशेष सचिव ग्राम्य विकास
अरूण कुमार – वीसी मुरादाबाद प्राधिकरण
कृष्ण कुमार – एआईजी स्टॉम्प
एसीईओ कृष्ण कुमार की जगह हुआ दीप चंद का तबादला
ऋषिरेंद्र कुमार – विशेष सचिव आईटी इलेक्ट्रानिक्स
राजेश त्यागी – विशेष सचिव वाणिज्यकर
साहब सिंह़ – अपर आयुक्त आगरा मंडल
प्रयागराज डीएम सुहास एलवाई हटाए गए
विशेष सचिव नियोजन बने सुहास एलवाई
भानू चंद्र गोस्वामी – डीएम प्रयागराज बने
शाहिद मंजर – सदस्य वक्फ न्यायाधिकरण लखनऊ
प्रीती शुक्ला – सचिव पंचायती राज्य बनीं
महेंद्र कुमार – कमिश्नर देवीपाटन मंडल
अखिलेश मिश्रा – विशेष सचिव परिवहन
वैभव श्रीवास्तव – डीएम पीलीभीत बने
श्रीमती जे.रीभा – ज्वाइंट मजिस्ट्रेट मैनपुरी बनीं

शहर की समस्याओं के समाधान के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण लेगा सोशल मीडिया का सहारा

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण शहर की समस्याओं का समाधान करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेगा। इसके लिए ट्विटर, वॉट्सऐप और फेसबुक पर अकाउंट बनाए जाएंगे। वॉट्सऐप के जरिए अधिकारियों और शहरवासियों को जोड़ा जाएगा। सोशल मीडिया पर आई शिकायतों का समाधान कराया जाएगा। सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि शहरवासियों के लिए कॉल सेंटर बनाने की योजना पर भी काम चल रहा है। साथ ही सोशल मीडिया का प्रयोग करने पर भी फोकस किया जा रहा है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने 5 वर्ष के लिए एनजीओ को सौंपा अंतिम निवास

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने 5 वर्ष के लिए एनजीओ को सौंपा अंतिम निवास
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय में आज ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण व भारत विकास परिषद गौतमबुद्धनगर शाखा की सहयोगी सस्था “अम्मास एसोसिएशन फॉर एजुकेशन एंड सोशल वेलफेयर” एनजीओ के बीच एक एग्रीमेंट साइन किया गया, जिसमे ग्रेटर नोएडा के गाँव जैतपुर वैशपुर 130 मीटर रोड पर प्राधिकरण द्वारा नवनिर्मित अंतिम निवास के संचालन एवं रख-रखाव के लिए एनजीओ को 5 वर्ष के लिए दिया गया है।
ग्रेटर नोएडा क्षेत्र तेजी से विकसित हो रहा है एवं निवासियों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। इस शहर में एक आदर्श अंतिम निवास की आवश्यकता महसूस की जा रही है। जिसको लेकर पहल करते हुए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण द्वारा यह प्रयास आरंभ किया गया है। जैतपुर, वैशपुर 130 मीटर रोड पर स्थित अंतिम निवास का क्षेत्रफल करीब 2500 वर्गमीटर है। जिसके रख-रखाव एवं सञ्चालन की जिम्मेदारी अम्मास एसोसिएशन फॉर एजुकेशन एंड सोशल वेलफेयर, एनजीओ को सौंपने के अग्रीमनेट पर आज हस्ताक्षर किए गए हैं।
यह एनजीओ पिछले 18 वर्षो से समाज सेवा के कार्यों से जुड़ा हुआ है। समिति द्वारा यह भी आश्वासन भी दिया गया है कि अंतिम निअस स्थान को इस तरह से संचालित करेंगे कि बाहर के लोग इसे पर्यटन स्थल के तौर पर भी देखने को आएँगे।
इस एग्रीमेंट हस्ताक्षर के लिए बैठक में अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी कृष्ण कुमार व कृष्ण कुमार गुप्त, वरिष्ठ प्रबंधक रमेश चंद्र व संस्था की ओर से अध्यक्ष अजय कुमार गुप्ता, सचिव आशुतोष गुप्ता, कोषाध्यक्ष महेश चंद्र गुप्ता, मूलचंद शर्मा, बजरंग लाल गुप्ता तथा गुंजन मित्तल उपस्थित रहे।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के कर्मचारी व अधिकारीयों ने शहीद हुए जवानों के लिए समर्पित किया एक दिन का वेतन

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के कर्मचारी व अधिकारीयों ने शहीद हुए जवानों के लिए समर्पित किया एक दिन का वेतन
पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए भारत माता के वीर सैनिकों के परिजनों के लिए बेहद दुःख का  क्षण है, हालांकि यह अपने शहीद सैनिको पर गर्व करने की बात भी है, जिन्होंने देश की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। देश के लोग सभी शहीद जवानों के परिजनों की सहायता की जा रही है। पूरे देश से जवानों के परिजनों के लिए आर्थिक मदद भी की जा रही है।
इसी क्रम में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सभी कर्मचारी व अधिकारी अपने वेतन में से एक दिन का वेतन वे शहीद जवानों को समर्पित करेंगे। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी कृष्ण कुमार गुप्त ने बताया कि फरवरी माह के वेतन से सभी प्राधिकरणकर्मियो/अधिकारीगण के एक दिन के वेतन काट लिए जाएं। ऐसा आदेश मेरी ओर से बनाकर वित्त विभाग सोमवार को जारी करे । इस अखण्ड भारत के हम सभी नागरिक हैं, जिनका एक ही अखण्ड वर्ग है- “भारतीय” , हम सभी प्राधिकरणकर्मी अधिकारी कर्मचारी बाद में हैं, पहले मेरा देश  है, जहाँ की धरती से उत्पन्न हो रहे वनस्पतियों से निकल रहे ऑक्सीजन को खींचकर हम जिन्दा हैं, जहाँ की धरती से उत्पन्न अनाज, फल व खाद्य सामग्री को खाकर हम जिन्दा हैं, जहाँ की धरती के गर्भ से निकल रहे जल को पीकर हम जिन्दा हैं।
 उन्होंने कहा कि इस प्रकार इस भारत माता रूपी धरा के प्रति हम हमेशा कर्जदार हैं, उसी धरा (भारत माँ) की रक्षा करते हुए हमारे CRPF के वीर जवानों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी है । हम उनके परिवारों को उनके प्राण वापस लाकर देने में अक्षम हैं, किन्तु एक दिन की इन शहीदों के परिवारों के लिए अपनी ड्यूटी व राष्ट्रधर्म का निर्वाह करते हुए एक दिन का वेतन उनके चरणों में समर्पित करते हुए इस चुनौतीपूर्ण क्षणों में अपनी विनम्र श्रद्धाञ्जलि अर्पित कर सकते हैं । हमारा एक-एक प्राधिकरणकर्मी सच्चा देशभक्त है, इस देश की रक्षा के लिए हम सभी अपना सब कुछ न्यौछावर करने को तैयार हैं ।

सार्वजनिक परिवहन सुविधा को मेट्रो से जोड़ने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण द्वारा की गई समीक्षा बैठक

सार्वजनिक परिवहन सुविधा को मेट्रो से जोड़ने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण द्वारा की गई समीक्षा बैठक

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषन की अध्यक्षता में यूपीएसआरटीसी व एनएमआरसी के अधिकारियों के साथ बैठक की गई। जिसमे मुख्य रूप से यह चर्चा की गई कि नोएड – ग्रेटर नोएडा एक्वा मेट्रो लाइन जो कि पिछले महीने ही शुरू की गई थी, ग्रेटर नोएडा के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों के लिए सार्वजनिक परिवहन सुविधा को मेट्रो से जोड़े जाने एवं वर्तमान में चल रहे बस रूटों की भी समीक्षा की गई।

बैठक के बाद ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषन ने संबंधित विभागों के अधिकारियों यह निर्देश दिया गया कि नोएडा – ग्रेटर नोएडा एक्वा मेट्रो लाइन सेवा के दैनिक यात्रियों तथा ग्रेटर नोएडा के शहरी व ग्रामीण वासियों एवं विद्यार्थियों की आवश्यकताओं के अनुरूप सार्वजनिक परिवहन के रूटों का पुर्ननिर्धारण की कार्य योजना जल्द उपलब्ध कराएं। जिससे कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस सुविधा का उपयोग कर सकें।
इस सुविधा का लाभ लेने वाले यात्री जल्द से जल्द अपने गंतव्य स्थान पर पहुँच सकेंगे, जिससे उनके समय और धन दोनों की बचत होगी। इसके साथ-साथ रोड पर जाम की समस्या से निजात मिलेगी और प्रदुषण भी कम होगा। समीक्षा बैठक में सीईओ ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण नरेंद्र भूषन, एसीईओ कृष्ण कुमार, जीएम फाइनेंस, जीएम प्लानिंग समेत एनएमआरसी के और यूपीएसआरटीसी के अधिकारी मौजूद रहे।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में अधिकारियों से मिलने के लिए तय की गई समय सीमा

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के कर्मचारी व अधिकारीयों ने शहीद हुए जवानों के लिए समर्पित किया एक दिन का वेतन
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण कार्यालय में आगंतुक काफी संख्या में प्रात: 9:30 बजे से शाम 6 बजे तक व उसके बाद भी आते रहते हैं। जिससे प्राधिकरण के अधिकारयों व कर्मचारियों को कार्य के समय में निस्तारित करने में बाधा उत्पन्न होती है। प्राधिकरण ने इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए नया नियम बनाया है। प्राधिकरण में आने वाले आगंतुकों हेतु अधिकारियों से मिलने के लिए दोपहर एक बजे तक पास जारी किया जाएगा, जिसकी वैधता 2 बजे तक की होगी। यह व्यवस्था 18 फरवरी यानि सोमवार से लागू कर दी जाएगी।
यदि कोई भी व्यक्ति एक बजे के बाद व्यक्तिगत कार्य के लिए, याचना, सुनवाई, निर्धारित बैठक के लिए समय या किसी अधिकारी से मिलने के उद्देश्य के साथ आता है तो मुख्य कार्यपालक अधिकारी या अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी के स्टाफ ऑफिसर, निजि सचिव व अन्य अधिकारियों से मिलने की दशा में विभाध्यक्ष की स्वयं की अनुमति व पहचान प्रमाणित होने के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। अन्यथा की दशा में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में लीजबैक घोटाले की जांच के लिए शासन ने किया एसआईटी का गठन

ग्रेटर नोएडा :- एसआईटी का हुआ गठन, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में हुए लीज़बैक घोटाले को लेकर शासन ने  एसआईटी  का किया गठन, तीनों प्राधिकरण के 8 अधिकारियों को  एसआईटी का बनाया गया सदस्य। बिसरख में हुई 10 लीज़बैक के प्रकरण में 8 मामले में एफआईआर के हो चुके हैं आदेश।

लोटस वेलफेयर सोसायटी के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच करने पहुंचे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी

लोटस वेलफेयर सोसायटी के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच करने पहुंचे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत ओमीक्रोन थर्ड में बनी लोटस वेलफेयर सोसायटी के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच की मांग को लेकर करप्शन फ्री इंडिया संगठन पिछले लंबे समय से जांच की मांग करता आ रहा है। भ्रष्टाचार की जांच कराने के लिए संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने 16 जनवरी से 19 जनवरी 2019 तक भूख हड़ताल ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय के बाहर की की थी प्राधिकरण के अधिकारियों की तरफ से 10 फरवरी तक  मांग पत्र पर कार्यवाही का लिखित आश्वासन देने के बाद भूख हड़ताल समाप्त की थी।
करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि बिल्डिंग के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच की मांग को लेकर संगठन पिछले 1 वर्ष से लड़ाई लड़ रहा है भूख हड़ताल करने के बाद प्राधिकरण के अधिकारियों ने इस पर एक्शन लिया और आज ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक एस सी अरोड़ा के नेतृत्व में सोसाइटी में जांच करने के लिए उनकी टीम पहुंची लोटस वेलफेयर सोसायटी में बने सभी फ्लैटों की जांच इंजीनियरों की टीम के साथ जांच की गई है चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक एस सी अरोड़ा ने आश्वासन दिया है कि 1 सप्ताह के अंदर जांच कर तथ्यों के आधार पर दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों एवं ठेकेदार के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी।
संगठन के वरिष्ठ कार्यकर्ता बृजेश भाटी ने बताया कि अगर 1 सप्ताह के अंदर कार्यवाही नहीं हुई तो करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ता फिर से आंदोलन करेंगे। इस दौरान बृजेश भाटी, गौरव टाइगर, मास्टर अजयपाल शर्मा, विपिन चौधरी, अभिषेक टाइगर, राहुल कुमार, संदीप आदि लोग मौजूद रहे।