Greater Noida Latest News

नारी सशक्तिकरण तब तक चले जब तक महिलाएं हर तरह से मजबूत न हो जाएं – मुख्य विकास अधिकारी

नारी सशक्तिकरण तब तक चले जब तक महिलाएं हर तरह से मजबूत न हो जाएं - मुख्य विकास अधिकारी

नारी सशक्तिकरण ऐसा कार्यक्रम है जिसके लिए महीने या सप्ताह की कोई सीमा नहीं है, यह कार्यक्रम तब तक चलता रहना चाहिए जब तक महिलाएं वास्तव में सामाजिक और आर्थिक रूप से सशक्त न हो जाएं और उनकी भागीदारी समाज के हर क्षेत्र में पुरुषों के बराबर ना हो जाए। इसके लिए प्रदेश से लेकर ग्राम स्तर के सरकारी अमले को सक्रिय रहने की आवश्यकता है। उक्त बातें नारी सशक्तिकरण अभियान के दौरान आईआईएमटी इंजीनियरिंग कॉलेज के सभागार में आयोजित नारी स्वावलंबन सम्मेलन में मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह द्वारा कही गई। 

उन्होंने ग्राम स्तरीय नारी शक्ति दूतों एवं जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से आई हुई महिला अध्यापिका, आंगनबाड़ी कार्यकत्री एवं स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आगे कहा कि नारी सशक्तिकरण नारी के स्वाभिमान रक्षा के साथ साथ उनको सम्मान पूर्वक जीवन यापन के लिए आवश्यक संसाधन मुहैया कराना है इसके लिए सरकारी तंत्र पूरी तरह तत्पर है।

उक्त सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में पधारी हुई उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह ने महिलाओं का आह्वान किया की सशक्तिकरण की शुरुआत घर से होती है जो धीरे धीरे आस-पड़ोस समाज ग्राम क्षेत्र और  फिर पूरे देश में फैलती है उन्होंने महिलाओं के प्रति लैंगिक आधार पर भेदभाव की भावना को जड़ से समाप्त किए जाने पर बल दिया। कार्यक्रम को भाजपा महिला मोर्चा के जिला अध्यक्ष डिंपल आनंद ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर नुक्कड़ नाटक एवं जादू शो के माध्यम से नारी सशक्तिकरण के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश सरकार एवं भारत सरकार के द्वारा संचालित की योजनाओं की उपस्थित महिलाओं को जानकारी उपलब्ध कराई गई। 

 

कार्यक्रम में परियोजना निदेशक अवधेश सिंह यादव परियोजना अभियंता जिला प्रोबेशन अधिकारी अतुल कुमार सोनी अपर जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे कार्यक्रम का संचालन जिला कार्यक्रम अधिकारी डीके सिंह द्वारा किया गया 

इस माह के अंत तक ज़िले को मिलेंगी डेढ़ सौ नई बसें

इस माह के अंत तक ज़िले को मिलेंगी डेढ़ सौ नई बसें

यूपी रोडवेज को सीएनजी बस मिलने के बाद नोएडा से हरिद्वार और काशीपुर जाने के लिए नई बसों का संचालन शुरू कर दिया है। इसके अलावा लंबी दूरी के रूट आगरा, कासगंज, एटा आदि पर भी नई बसों को चलाया जा रहा है।

क्षेत्री प्रबंधक अशोक कुमार ने बताया कि जिले में लगातार नई बसें आने का सिलसिला जारी है। इस माह के अंत तक जिले में 100 से 150 बसें और आ जाएंगी। कुल 200 बसें आनी हैं। जो पुरानी अच्छी हालत में बसें हैं, उन बसों को भी जिले में चलाया जाएगा।

जिससे बसों का कोटा पूरा रह सके। जल्द ही जिले को पिंक बसें भी मिलने वाली हैं, जिनके लिए भी भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी। जिसमें महिला चालक व परिचालकों की नियुक्ति की जाएगी। इसके लिए भी शासन में बातचीत चल रही है।

Pragyan School, Greater Noida hosted Inter School Athletics Meet.

December 17th & 18th 2018
On 17thand 18th December 2018, Pragyan School, Greater Noida hosted the Inter-School Athletics Meet. Students from 20 schools of Noida and Greater Noida competed with immense zest and enthusiasm. Nearly 650 students participated in five categories. Boys and girls competed in various athletic events such as – Shotput, long jump, relay races and races of 100 m, 200 m, 400 m and 800 m.

The overall winner of the meet was Savitribai School of Greater Noida, DPS Greater Noida stood second and Ursuline Convent bagged the third position. On day 1, in the category of under- 17 boys, Siddharth Singh of Pragyan School bagged the first position in Shotput. In the category of under -9 girls, Ayesha of Lotus Valley School bagged the first position in 100 m race. On day 2, Under- 13 girls Samiya of The Sriram Millenium School stood first in 100 m race. In the category of under 15 boys, Aditya of Ram-eesh International School bagged the first position in 800 m race. The meet was a success. The Principal Ms. Ruchika Sharma appreciated and applauded the efforts of the participants and gave away the Medals and Certificates.

Grads International School hosted the Miss Teen International Environmental Seminar 2018

Grads International School hosted the Miss Teen International Environmental Seminar 2018 in their school on 17th December 2018. Miss Teen Belgium – Lola Paquay and Miss Teen Venezuela – Kiara Pineda graced the occasion.

Mrs Swati Sharma, Miss Lola and Miss Kiara spoke about the statistics, the need of protecting environment and what we can do about it. Students made wreath of garden leaves and flowers, paper bags, cards and friendship bands for the international guests. Miss Teen Belgium and Miss Teen Venezueala enjoyed a lot of environment protection activities in school with the students and also danced and sang songs with them. Later, the Miss Teen Internationals with some students, teachers, and the director of the school Dr. Roya Singh and the Principal Mrs. Aditi Basu Roy visited a village Pali under “Back to Village” program where they had an amazing experience of rustic farmland air and Indian culture. Women and men of the village welcomed the international beauty pageant participants in a north Indian traditional style. Villagers organized folk songs and dances for the guests. The girls from far away countries and with a different culture, participated in the north Indian cultural panorama wholeheartedly.

They enjoyed the hands on experience of Indian oven ( Chullah), savored the Indian cuisine and drinks. After returning to school they planted trees and had a photo sessions with the students. The Director Dr. Roya and the Principal Mrs. Aditi Basu Roy gifted each of them a copy of Bhagawat Geeta, The New Garden, a hand crafted stole ( Doopatta), bangles, ear rings and bindis which are identities of Indian culture and heritage.

Miss Teen Belgium and Miss Teen Venezuela were sad to leave the school and took away a memorable day with them

33 वर्षीय नाइजीरियन व्यक्ति की जांच के दौर ान मौत

नाइजीरियन निवासी अमासो वॉमवान (33)ओमीक्रोन फर्स्ट एल्डिको सोसाइटी में किराए पर रहता था जो पैरालाइसिस का शिकार एक्सीडेंट की वजह से था आज जब उपरोक्त व्यक्ति नहाने के लिए बाथरूम में गया तो वहां पर उक्त व्यक्ति बेहोशी की हालत में मिला जिसे उपचार हेतु परिजनो के द्वारा यथार्थ अस्पताल लाया गया जिसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया एसएच ओ दादरी रामसेन सिंह ने कहा कि पर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है

जी.एल. बजाज काॅलेज ग्रेटर नॉएडा तथा ज्वाला एनजीओ द्वारा साईक्लोथोन ‘दिशा’ का आयोजन

निर्भया मामले में, जहां 16 दिसंबर 2011 को दिल्ली में 23 वर्षीय विश्वविद्यालय की छात्रा निर्भया के साथ बलात्कार और क्रूरता से उत्पीड़न किया गया था जिसकी याद में जी.एल बजाज काॅलेज के एमबीए विभाग तथा ज्वाला एनजीओ के सहयोग से साइक्लोथोन ‘दिशा’ का आयोजन 16 दिसंबर 2018 को किया गया। डॉ दिव्या गुप्ता, प्रेसिडेंट ज्वाला ने सिटी पार्क, ग्रेटर नोएडा में प्रातः 7.00 बजे साईक्लोथोन को ध्वजांकित किया।

‘ज्वाला’ एक गैर सरकारी संगठन का गठन डॉ दिव्या गुप्ता ने किया, जिसका मूल उद्देश्य आत्म रक्षा प्रशिक्षण के माध्यम से महिलाओं व लड़कियों को सशक्त बनाना है। अब तक ज्वाला ने पूरे देश में आत्म रक्षा में 1 लाख से अधिक महिलाओं व लड़कियों को प्रशिक्षित किया है। ग्रेटर नोएडा में एमबीए डिपार्टमेंट, जीएल बजाज एवं ज्वाला इस दिशा में छात्राओं के सशक्तीकरण पर पिछले कई वर्षों से कार्य कर रहे हैं।

इस वर्ष ज्वाला ने 16 दिसंबर 2018 को साइक्लिंग क्लबों तथा जीएल बजाज काॅलेज ग्रेटर नोएडा के समेकित समर्थन के साथ पूरे देश में साईक्लोथोन ‘‘दिशा‘‘ का सफल आयोजन किया। साईक्लोथोन ‘‘दिशा‘‘ का उद्देश्य महिला सुरक्षा और आत्मरक्षा के बारे में जागरूकता पैदा करना था और साथ ही साईक्लोथोन के अंत में पुरुष सदस्यों द्वारा शपथ लेना कि ‘‘मैं रक्षक हूं – मैं डिफेंडर हूं‘‘।

इस साईक्लोथोन का आयोजन देश भर के 22 शहरों जैसे बैंगलोर, पुणे, जम्मु, अगरतला, इन्दौर, भोपाल, दिल्ली, गाजियाबाद, कलकत्ता आदि में एक साथ संबंधित साइकलिंग क्लबों के सहयोग से किया गया। भारत के साइक्लिंग समुदाय मंच ‘‘साइक्लोप‘‘ तथा प्रो. डाॅ. दीपा गुप्ता (विभागाध्यक्ष-एमबीए डिपार्टमेन्ट, जीएल बजाज काॅलेज) ने देश भर में पंजीकरण का समन्वय किया। नोएडा रैंडोनर्स से श्री दीपेन्द्र सहजपाल ने ऑडैक्स इंडिया साइकलिंग क्लब के माध्यम से पूरे भारत में साईक्लोथोन को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

कप्तान विजय इंगले कार्यकारी सचिव ‘ज्वाला’ पूरे देश में मुख्य समन्वयक हैं। ग्रेटर नोएडा में, साईक्लोथोन ‘‘दीशा – सफर एक निर्भय समाज का‘‘ ज्वाला एवं ग्रेटर नोएडा साइकलिंग क्लब (जीएनसीसी) तथा जीएल बजाज काॅलेज ग्रेटर नोएडा के समन्वयन द्वारा आयोजित की

गई। महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तिकरण के संबंध में नागरिकों के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए 300 से अधिक राईडरों ने ग्रेटर नोएडा में सामाजिक जागरूकता के लिए राईडिंग की। मिस लक्ष्मी अग्रवाल इस साईक्लोथोन की ब्रांड एंबेसडर थीं। मिस लक्ष्मी अग्रवाल टीवी होस्ट हैं और स्टॉप एसिड अटैक के लिए एक भारतीय प्रचारक हैं, वह एक एसिड हमले में जीवित हैं और एसिड हमले के पीड़ितों के अधिकारों

Police prung into action after loot reported, criminals arrested after exchange of fire

Yesterday Night Greater Noida Police had arrested two criminals after exchange of fire while the fleeing after attempting a motorcycle loot.

On 17th December a motorcycle loot from Ajay a resident of Pala village was reported Under Surajpur station, as this message flashed from control room immediately a checking drive was launched by the police in the region. Police team identified the criminals they chased them on 130 meter road under Surajpur police station exchange of fire took place and the criminal got injured after they received bullets in their leg.

Police had recovered the motorcycle that was looted from them along with two country made and live cartridges from them.

Nishank Sharma Circle Officer Greater Noida told that “Both the criminal were identified as Nitish a resident of Sikandarabad and Sumit a resident of Bihar. Now we are trying to accesses their criminal history and more details will revile after their further interrogation.”

Both the criminal are being sent to jail after being presented before court.

आईआईएमटी कॉलेज, ग्रेटर नोएड़ा को एआईसीटीई – सीआईआई सर्वे में सिल्‍वर श्रेणी

ग्रेटर नोएड़ा के नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंगको एआईसीटीई- सीआईआई सर्वे ऑफ इन्डस्ट्रीलिक्‍डं टेक्निकल इन्स्टिट्यूट 2018 में राष्‍ट्रीय स्‍तर पर हुए मूल्‍यांकन में सिल्‍वर श्रेणी प्रदान किया गया। इस मूल्‍यांकन में एआईसीटीई से सम्‍बन्‍धित देश के सभी कॉलेजों ने हिस्‍सा लिया था। यह जानकारी आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने दी। उन्‍होंने इस शानदार उपलब्‍धि के लिए कॉलेज समूह के शिक्षकों और विद्यार्थियों को बधाई दी है।

उन्‍होंने बताया कि इस मूल्‍यांकन में रिजल्ट, प्लेसमेंट, शोध कार्य, मूलभूत सुविधाओं, छात्रों द्वारा दिये गये फीडबैक की जांच-परख के बाद आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग को सिल्‍वर श्रेणी प्रदान की गयी । आईआईएमटी में भारत सरकार द्वारा प्रदत्त अनेक प्रोजेक्ट पर छात्र कार्य कर रहे हैं। इन सबका भी इस मूल्यांकन में समायोजन किया गया।

आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग केनिदेशकडॉ के के सैनी ने कहा कि आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में तकनीकी पाठ्यक्रम और कॉर्पोरेट जगत की मांग के बीच के अंतर को देखते हुए व्‍यावहारिक शिक्षा दी जाती है । इसी वजह से एआईसीटीई सीआईआई -सर्वे 2018 में आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग को सिल्‍वर श्रेणी प्रदान की गयी।

cleardot.gif