Greater Noida Latest News

मैक्स हॉस्पिटल वैशाली ने आयोजित किया “आर् थो वॉकथॉन”

लगातार बढ़ रही घुटने की बीमारी के प्रति और इसके सफल इलाज के बारे मे जागरूकता फ़ैलाने के उद्देश्य से मैक्स सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल वैशाली ने आज एक अनोखी "ऑर्थो वॉकथान" का आयोजन किया जिसमे घुटने के असहनीय दर्द से निजात पाए 100 से निजात पाए लोगो ने हिस्सा लिया। इस वॉक की शुरआत सुबह 8 बजे हॉस्पिटल के प्रांगण से हुई और सारे प्रतिभागियों ने 1 किलोमीटर की दूरी सफलतापूर्वक चलकर / दौड़कर पूरी की जिसमे हॉस्पिटल के डॉ बी एस मूर्ति समेत कई अन्य डॉक्टर्स और सहायक कर्मचारी ने अपना भरपूर योगदान दिया ।

इस वॉकथान के बाद मैक्स हेल्थकेयर समूह द्वारा एक विशेष और अत्याधुनिक "घुटने के क्लिनिक" की भी शुरआत की गयी जो की 4 अलग अलग तरह की चिकित्सा प्रदान करता है जिसमे की ऑर्थो स्पाइन , ऑर्थो ट्रामा, जॉइंट रिप्लेसमेंट, और स्पोर्ट्स इंजरी प्रमुख है । यह गाजियाबाद का घुटने का सबसे बड़ा अपनी तरह का पहला क्लिनिक और रिसर्च सेंटर होगा । यह महीने के हर दूसरे शनिवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे के बीच परिचालित होगा, जिसमें विशेषज्ञों द्वारा चिकित्सीय परामर्श और दोनों घुटने का एक्सरे सितंबर तक केवल 500 रुपये मे प्रदान किया जाएगा।

ऑर्थो वॉकथान का उद्देश्य घुटने के रिप्लेसमेंट के लाभ को समझाने के साथ साथ रोगियों को यह भी अवगत करना था की भौतिक कार्यों का अभाव न केवल शारीरिक रूप से लोगों पर प्रभाव डालता है बल्कि विभिन्न रोगों की ओर भी ले जाता है। सही स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए जीवनशैली और आदतों की जांच की जानी चाहिए। सर्जरी के बाद घुटने के रोगो से छुटकारा पाए रोगियों ने घुटने के प्रतिस्थापन के बाद होने वाले फायदे के बारे मे अपने सुखद अनुभवों को लोगों के साथ साझा किया और अन्य लोगो को इसके बारे मे जागरूक किया।

इस वॉक के बाद मरीजों के साथ संवाद करते हुए, मैक्स हॉस्पिटल वैशाली के निदेशक और यूनिट हेड – ऑर्थोपेडिक और जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी के प्रमुख डॉ बी एस मूर्ति ने बताया कि "घुटने का रिप्लेसमेंट एक पूरी तरह से सुरक्षित और पीड़ारहित सर्जरी है जहां मरीज एक सप्ताह के समय में अपने सामान्य जीवन को फिर से शुरू कर सकते हैं। हमारा उद्देश्य इस सर्जरी के सकारात्मक विचारों के बारे में जन स्तर तक जागरूकता पैदा करना है। घुटने के प्रतिस्थापन के बारे में लोगों के बीच थोड़ा सी आशंका और भ्रांतियां है जो हम निकालना चाहते हैं। एक अग्रणी स्वास्थ्य सेवा प्रदाता होने के नाते हमारी जिम्मेदारी बनती है कि हम नागरिकों को सही जानकारी दे और उनका मार्गदर्शन करे। उसी उद्देश्य से हमने हमारे द्वारा स्वस्थ किये गए 100 से अधिक रोगियों को आज आमंत्रित किया था, ये लोग घुटने के प्रतिस्थापन के बाद पूरी तरह से सामान्य जीवन व्यतीत कर रहे हैं और पहले से ज्यादा कही बेहतर अपने रोजमर्रा के काम कर रहे है ।

एक शोध के अनुसार, घुटने के प्रतिस्थापन वाले 90 प्रतिशत लोगों को बहुत कम दर्द है। इनमें से अधिकतर लोग दैनिक गतिविधियों को करने और सक्रिय रहने में पूरी तरह से सक्षम हैं यहाँ तक कि कई मामलों में, वे गोल्फ जैसी गतिविधियों को फिर से शुरू करने में सक्षम हैं ।

वॉकथान मे आयी एक गृहणी ने बताया कि घुटने के दर्द के कारण मेरा जीवन दुखमय हो गया था और मै कई काम नहीं कर पा रही थी, शौचालय तक चल के जाना भी बहुत दर्दनाक और चुनौती भरा था, मैंने घुटने के प्रतिस्थापन सर्जरी के बारे में बहुत कुछ सुना था, लेकिन मेरे बहुत सारे दोस्तों ने मुझे बताया कि सर्जरी जोखिम भरा है लेकिन मेरा दर्द असहनीय और नियंत्रण से परे था है इसलिए मैंने घुटने रिप्लेसमेंट सर्जरी की कराने का फैसला किया और मैक्स हॉस्पिटल वैशाली की अत्यधिक कुशल टीम से मुलाकात की। यह एक दर्द रहित सर्जरी थी और मैं सर्जरी के 5 दिनों के भीतर अपने सामान्य जीवन में गयी थी। मुझे सर्जरी करवाए 1 महीना हो गया है, मै अब पहले से अधिक ऊर्जावान महसूस कर रही हूँ । मैं लोगों को बताना चाहती हूँ कि ऐसी अफवाहों में विश्वास न करें और उसके बाद से मेरे तीन और दोस्तों से अपने घुटने कि सर्जरी कराई है और अब वो बी पूरी तरह से स्वस्थ है ।

मैक्स हेल्थकेयर के बारे मै

मैक्स हेल्थकेयर के उत्तर भारत में 14 केंद्र हैं और यह 30 से अधिक चिकित्सा विषयों में सेवाओं की पेशकश करता है। इसके 11 केंद्र दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित हैं और अन्य केंद्र मोहाली, बठिंडा और देहरादून में स्थित हैं। मैक्स नेटवर्क के तहत साकेत, पटपड़गंज, वैशाली , शालीमार बाग, मोहाली, बठिंडा और देहरादून में अत्याधुनिक टर्षीरी केयर हाॅस्पीटल और गुड़गांव, पीतमपुरा, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में सेकंडरी केयर हाॅस्पीटल और पंचशील पार्क में एक ओपीडी सेवा और स्पेशलिटी सेंटर शामिल हैं। मैक्स हेल्थकेयर में 2300 से अधिक प्रमुख चिकित्सक और 10,000 कर्मचारी हैं और इसके 14 अस्पतालों के नेटवर्क में 80 से अधिक देशों के 22 लाख से अधिक रोगियों का इलाज किया गया है।

दनकौर पुलिस एक वांटेड को किया गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा । पुलिस काफी दिनों से चोरी और लूट की घटनाओ में अंजाम दे चुके एक वांटेड की तलाश कर रही थी। और पुलिस की महेनत रंग लायी। मुखबिर की सुचना के आधार पर दनकौर पुलिस ने मंगलवार की रात को कासना क्षेत्र में लूट की घटनाओं में वांटेड चल रहे मेहराज पुत्र असलम निवासी दनकौर को गिरफ्तार कर लिया । दनकौर एसएचओ फरमूद अली पुंडीर ने बताया की मंगलवार की रात चेकिंग के दौरान दनकौर पुलिस ने सलारपुर अंडरपास के पास से बदमाश को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बदमाश से एक तमंचा, एक चोरी की गई मोटरसाइकिल सीडी डीलक्स बरामद की है। बता दें बदमाश मेहराज थाना कासना से सोने की चेन लूट और सेलेरियो कार लूट में वांटेड त चल रहा था।

घोड़ी को बचाने के चक्कर मे युवक की गयी जान

ग्रेटर नोएडा -सही कहा है किसी ने मौत और ग्राहक का कभी पता चलता है कब और किस समय सामने आ जाए। ऐसी एक घटना दनकौर के पास देखने को मिली। रबु पूरा के रहने वाले मनीष नाम का युवक अपने दो साथिओ साथ बाइक पर सवार दनकौर में चल रहे मेले में कबड्डी का कार्यकर्म देखने जा रहे थे। जैसे ही दनकौर सड़क आये वैसे ही सामने से एक घोड़ी दौड़ती हुई सड़क पर कर रही थी , बाइक तेज गति होने के कारण घोड़ी से टकरा गयी। और अनियंत्रित होकर गड्ढे में जा गिरी, बाइक पर सवार तीनो युवक बुरी तरह घायल हो गए ,ये घटना मंगलवार शाम की है। अस्पताल ले जाते वक्त एक की दर्दनाक मौत हो गई। मृतक की पहचान मनीष पुत्र अमरपाल निवासी रबूपुरा क्षेत्र के रूप में हुई है। तीनों युवक दनकौर में आयोजित द्रोण मेले में चल रहे कबड्डी देखने जा रहा थे। तभी ये दर्दनाक हादसा हुआ।

ग्रेटर नॉएडा के स्वर्णनगरी इलाके में मिला युवक का शव, लोगों में हड़कंप

ग्रेटर नॉएडा के स्वर्णनगरी इलाक़े में बुधवार सुबह युवक का शव मिलने से सनसनी मच गई।
शव मिलने के बाद इलाके के लोगों द्वारा हत्या की आशंका जताई जा रही थी।

हालाँकि मौके पर जांच करने पहुंचे कासना थाना प्रभारी ने शुरुवाती जांच में हत्या की आशंका को ख़ारिज कर दिया है। पुलिस द्वारा बताया गया है की मृतक युवक शराब के नशे में सीढियों से टकरा गया जिसकी सर में चोट लगने के कारण मृत्यु हो गयी।

पुलिस द्वारा इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई जारी है।

अल्फ़ा कमर्शियल बेल्ट पर बाइक चोरों को लोग ों ने रंगे हाथ पकड़ा @noidapolice

चोरों के बढ़ते हौंसले की बानगी आज अल्फ़ा-1 कमर्शियल बेल्ट के पास उस समय देखने को मिली जब दो बाइक-चोर दिन दहाड़े बाइक चोरी करते हुए दबोचे गए।

सुबह करीब 11:45 बजे जब दो युवक अपनी नयी मोटरसाइकिल अल्फ़ा कमर्शियल बेल्ट स्थित सिंडिकेट बैंक के सामने पार्क कर निजी काम में व्यस्त थे तभी दो बाइक चोर उनकी बाइक का लॉक तोड़ चोरी करने का प्रयास करने लगे।

कई व्यापारिक प्रतिष्ठान इस जगह होने की वज़ह से यहाँ लोगों की आवाजाही लगातार बनी रहती है।
जब एक व्यक्ति की नजर बाइक चोरी के प्रयास पर पड़ी तो मौजूद लोगों ने तुरंत 2 संदिग्ध युवकों को धर दबोचा। बाइक से छेड़खानी की पुष्टि होने के बाद मौजूद भीड़ ने आरोपियों की पिटाई भी करी।

सुचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुँची और आरोपी युवकों को पकड़ कर थाने ले गई।

Roof collapse in Gautam Budh Nagar. will the @myogiadityanath Govt will act ? @dmgbnagar

By Rajiv Goyal

One week back we came to know about an incident of roof collapse at Mayoor School at Sector 126 Noida. It was the accident happened during construction and resulted into death of one labour at the site.

The District Magistrate , Gautam Budh Nagar , first time in Noida history, took Suo Moto cognisance of the incident and set up a Magistrate inquiry covering many points. The order for inquiry report was circulated on all Social sites by DMGBN Warroom

In an another incident at a restaurant a labour by mistake reverse the connection of water line resulting into sewer water coming into wash basin leading to a customer fall ill. Police took the note of complaint and initiated legal action against the owner. However it’s a different matter that in many sectors for number of times, noida authority is delivering sewer water in water lines as reported from time to time by residents but no action against ACEO or CEO, the Owner / Administrator of NA.

Both incidents are appreciative that enforces rule of law. However, action against owners in the cases , where they had contracted the works to labour agency , is disappointed one.

But then Law is above every one and we understand that actions against Owners will bring a sense of responsibility and accountability.

Now let’s talk of similar incidents at Jewar Primary School where a boys condition is critical as reported in newspapers. It happened due to collapse of roof in a primary school which clearly stated the dilapidated condition of school. This is not the only government school where building is in dilapidated condition. Infact many school in Noida are not having even toilets for staff , forget the children. Who is Owner of government school ? Who is care taker of school? Who is administrator of school? Is there any magistrate inquiry ordered in this incident? If it has not happened, is it that only poor family send children to government school? Why can’t BSA be suspended in this case? Why cannt funds needed to build up and repair of school be obtained ? Who is the Officer who has stopped funding? Whether Hon’ble CM is informed of this deplorable condition of school buildings? Whether BSA want himself to be in TV and newspaper for wrong reasons waiting for an accident like Gorakhpur hospital? Whether anyone has taken bribe to construct such building where roof is collapsed? What would have happened if it was collapsed during class time? What action is proposed by BSA to make every government school safe & secure & hygienic ?

And the Yaksha prasan: Whether a common man can lodge FIR against BSA, the administrator of primary schools, in such incidents?

Hope as a common citizen and in honest government of Hon’ble CM Adarniya Yogi ji , we have right to get response , without any discrimination between a government and private run school , same punishment for same cause , to set up rule of Law.

सफेद कागज कविता संग्रह का विमोचन यमुना वि कास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अरुणवीर सिं ह ने किया

ग्रेटर नोएडा- पीसीएस अधिकारी शैलेन्द्र कुमार भाटिया के प्रथम हिंदी कविता संग्रह " सफेद कागज " का विमोचन युमना विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ अरुणवीर सिंह प्रधिकरण के सभागार में किया गया ।इस काव्य संग्रह में भिन्न-भिन्न विषयों पर लिखी 152 अनूठी कवितायें हैं।
इस पुस्तक में रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़ी बातें के अनुभवों को कविताओं के रूप में लिखा गया है।
डॉ अरुणवीर सिंह पुस्तक के विमोचन के अवसर कहा सफेद कागज कविता संग्रह में मेरा बजट, फ़ाइले , निर्भय, कचहरी ,,पेड़, तुम निःशब्द खड़े हो, किसान, अनदाता , ये बूंदे बदला ले रही है, स्त्री, आदि कविताएं उच्च कोटि की है। जो हमे चिंतन के लिए विवश करती है । यह तभी हो सकता है जो समाज की गहरी समझ रखता हो एवं स्वयं इस सब रूबरू हो। इस कविता संग्रह में व्यक्ति एव उसके आसपास घटित होने वाली घटनाओं के विषयों को अच्छे ढंग प्रस्तुत किया गया है। मानवीय संवेदनशीलता के साथ जिस ढंग स्व श्री भाटिया ने कवितायें रची है ,यह काबिले तारीफ है। खासतौर से स्त्री विमर्श व उसके उथान पर लिखी गयी कवितायें विशेष रूप से उलेखनीय है । और मुझे पूरा विश्वास है कि सफेद कागज कविता संग्रह व्यापक स्तर पढ़ी जाएंगी। में शैलेंद्र को उनकी इस रचना के लिए बधाई देता हूं और भविष्य की शुभकामनाएं देता हूँ। डॉ विधाकांत तिवारी ने इस पुस्तक की भूमिका लिखते हुए कहा है कि गांव,शहर, यथार्थ के विविध रूप, भ्रस्टाचार, अराजकता, भ्रष्टाचार, श्रमिक की दुर्दशा , मूल्यह्रास, जातिय अंहकार, न्याय एवं प्रशासनिक व्यवस्था की विसंगति, कलाकारों का शोषण, शिक्षा क्षेत्र में पतन , स्त्री की मानसिकता, शोषण की पराधीनता का यथार्थ जैसे विषयों पर सफेद कागज दूसरा रागदरबारी प्रतीत होता है ।

डॉ कुश चतुर्वेदी इस काव्य संग्रह पर बोलते हुए फरमाते है," बापू, गांव, पेड़, गंगा ,किसान ,कचहरी, बेटियां, नारी, स्त्री ,माँ, पिता, अन्नदाता जैसी नाम हमारी जिंदगी का हिस्सा है । इन्ही भावो को पिरोकर शैलेन्द्र जी ने कविताएं बनाई है । ये सफेद कागज किताब अपनेआप में बहुत कुछ कहे जाती है। इस किताब में सभी 152 कविताओं पढ़ने एवम समझने, सहजने योग्य हैं "।
शैलेन्द्र जी को लोकसेवा में उत्कृष्ट योगदान के लिए "शोभना सम्मान" से भी सम्मानित किया जा चुका है।

विक्टरी वर्ल्ड स्कूल स्वर्ण नगरी में गौत मबुद्ध ज़िला स्तर डान्स स्पोर्ट्स चैम्पियनश िप का आयोजन गौतमबुद्ध ज़िला डान्स स्पोर्ट्स एसोसिएशन के माध्यम से किया गया.

20 अगस्त दिन रविवार को विक्टरी वर्ल्ड स्कूल स्वर्ण नगरी में गौतमबुद्ध ज़िला स्तर डान्स स्पोर्ट्स चैम्पियनशिप 2017 का आयोजन गौतमबुद्ध ज़िला डान्स स्पोर्ट्स एसोसिएशन के माध्यम से किया गया , विक्टरी वर्ल्ड स्कूल के चेयरमेन श्री ओ पी अग्रवाल जी व डायरेक्टर श्री जे बघेल जी प्रिन्सिपल श्रीमती पूनम गुप्ता व वाईस प्रिन्सिपल श्रीमती हरविंदर कौर ने

द्धीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की और अंत तक विशेष योगदान दिया ।

जिसमें नॉएडा , दादरी , एन टी पी सी , ज़ेवर , दनकोर , ग्रेटर नॉएडा के 100 से अधिक चयनित डान्स खिलाड़ियों भागीदारी की । मुख्य आकर्षण ज़िला डान्सिंग सुपर मोम चैम्पियनशिप में भी जिले की चयनित 10 डान्सिंग मोम ने बेहतरीन प्रस्तुति दी ।

डान्स खिलाड़ियों को उत्साहित करने के लिए सेलिब्रिटी गेस्ट वर्ल्ड योगा चैम्पियन "

तेजस्वी शर्मा " ने अपनी प्रस्तुति से सभी खिलाड़ियों को उत्साहित किया ।

ग्रेटर नॉएडा निवासी नेशनल सुपर मोम रजत पदक विजेता श्रीमती ललिता शर्मा व कांस्य पदक विजेता सपना यादव को ज़िला का नाम राष्ट्रीय स्तर पर रोशन करने के लिए प्राइड ओफ ग्रेटर नॉएडा के सम्मान से नवाज़ा गया ।

प्रतियोगिता में अलग अलग आयु वर्गों में बालक बालिकाओं खिलाड़ियों ने भिन्न भिन्न डान्स स्टाइल जैसे की हिप हॉप डान्स , फ़्री स्टाइल डान्स , बॉलीवुड डान्स , क्लासिकल डान्स , कटेम्परेरी डान्स व सेमीक्लासिकल डान्स में शानदार प्रस्तुति कर पदक जीते ।

निर्णायक मंडल में राजकुमार ( अमरोहा ) , सचिन दिवाकर व सर्वेश सेनी ( मुरादाबाद ) , आकाश कुमार ( बरेली ) ,

श्रेया मंगल ( ग़ाज़ियाबाद ) , श्रीमती सोनू राणा ( हापुड़ ) , श्रीमती रीवा शर्मा ( अलीगढ़ ) से शामिल रहे

इस प्रतियोगिता में गोल्ड और सिल्वर मेडलिस्ट विजेता का चयन अक्टूबर में आयोजित होने वाली उत्तर प्रदेश डान्स स्पोर्ट्स प्रतियोगिता 2017 के लिए होगा ।

टॉप 4 सुपर मोम का चयन भी उत्तर प्रदेश डान्सिंग सुपर मोम प्रतियोगिता के लिए किया जाएगा , प्रदेश स्तर पर जीतने के बाद राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भागीदारी करने का मौक़ा मिलेगा ।

गौतम बुद्ध नगर डांसिग सुपर मोम ( माँ ) 2017

श्रीमती निधि मिश्रा ( प्रथम स्थान )

श्रीमती पारुल कोरेवाला ( दूसरा स्थान )

श्रीमती पूजा गर्ग ( तीसरा स्थान )

श्रीमती मनीषा शर्मा ( चौथा स्थान )

श्रीमती रजनी आनंद ( पांचवा स्थान )

डबल डांस वर्ग

अंडर 12 वर्ष

प्रथम स्थान – प्रियांशी शर्मा ( सेंट जोसफ स्कूल ) व जिया शर्मा ( जी डी गोयनका ) !

दूसरा स्थान – गोरमा ( रायन इंटरनेशनल स्कूल ) व लावण्या ( दिल्ली पब्लिक स्कूल )

12 वर्ष से ऊपर का वर्ग

प्रथम स्थान – मैथिलि ( प्रज्ञान स्कूल ) व जिया राव ( प्रज्ञान स्कूल )

दूसरा स्थान – इशिता सिंह ( प्रज्ञान स्कूल ) व परी अग्रवाल ( प्रज्ञान स्कूल )

हिप हॉप डांस वर्ग बालक व बालिका वर्ग

शैनना साहू ( बालिका ) (10 -13 ) ( जे पी इंटरनेशनल स्कूल ) ( गोल्ड मैडल )

समीर सैफी (10 -13 ) ( संत विवेकानद विधापीठ दनकौर ) ( गोल्ड मैडल )

अनस मालिक ( 13 -15 ) ( संत विवेकानद विधापीठ दनकौर ) ( गोल्ड मैडल )

अल्तमश मालिक ( 13 -15 )( संत विवेकानद विधापीठ दनकौर ) ( सिल्वर मैडल )

हर्षिता खुराना ( 17 -19 ) ( रायन इंटरनेशनल स्कूल ) ( गोल्ड मैडल )

कंटपरेरी डांस

कृदय मनोचा (बालक ) ( अंडर 6 ) ( दिल्ली पब्लिक स्कूल ) ( गोल्ड मैडल )

रितिका कलशन ( बालिका ( 10 -13 ) ( गोल्ड मैडल )

क्लासिकल डांस

लावण्या वांचू ( 6- 8 ) ( दिल्ली पब्लिक स्कूल ) गोल्ड मैडल

रिया वी सिंह ( 8-10 ) ( ज्ञानश्री स्कूल ) गोल्ड मैडल

अंशिका सिंह ( 10 – 13 ) ( दिल्ली पब्लिक स्कूल) गोल्ड मैडल

टुपुर मिश्रा ( 10 – 13 ) ( दिल्ली पब्लिक स्कूल) सिल्वर मैडल

नॅन्सी प्रसाद ( 13 -15 ) ( कैम्ब्रिज स्कूल ) गोल्ड मैडल

सेमि क्लासिकल डांस

गोरमा वान्चू ( 6-8 ) रायन इंटरनेशनल स्कूल ( गोल्ड मैडल )

लावण्या वांचू ( 6- 8 ) दिल्ली पब्लिक स्कूल ( सिल्वर मैडल )

यशिता श्रीवास्तव ( 8 – 10 ) दिल्ली पब्लिक स्कूल ( गोल्ड मैडल )

अनुवृन्दा बामरारा ( 10-13 ) दिल्ली पब्लिक स्कूल ( गोल्ड मैडल )

फोक डांस

सान्वी घोष ( 8-10 ) कौशल्या वर्ल्ड स्कूल ( स्वर्ण पदक )

अवनी शर्मा ( 10 -13 ) उर्शलाइन कान्वेंट स्कूल ( गोल्ड मैडल )

फ्रीस्टाइल डांस

लविशा पुंडीर ( 6-8 ) कौशल्या वर्ल्ड स्कूल ( गोल्ड मैडल )

अंशिका श्रीवास्तव ( 6 – 8 ) ग्रेटर नॉएडा वर्ल्ड स्कूल ( सिल्वर मैडल )

मुस्कान कुमारी ( 10- 13 ) मॉडर्न स्कूल ( गोल्ड )

रानीया गौतम ( 10 -15 ) प्रज्ञान स्कूल ( गोल्ड मैडल )

सुहानी कुमार ( 13 -15 ) प्रज्ञान स्कूल ( सिल्वर मैडल )

शुभम कुमार सिंह ( 17 – 19 ) सेंट जोजफ स्कूल ( गोल्ड मैडल )

बॉलीवुड डांस स्टाइल

शरान्या विशाल (अंडर 6 ) दिल्ली पब्लिक स्कूल ( गोल्ड मैडल )

ऋषिता सिंह ( 6 – 8 ) डी एल ऍफ़ स्कूल ( गोल्ड मैडल )

तेजस्वी शर्मा ( 6 – 8 ) ( सेंट जोसफ स्कूल ) ( सिल्वर मैडल )

रिशिता शर्मा ( 8-10 ) ( सेंट जोसफ स्कूल ) ( गोल्ड मैडल )

मानसी तोमर ( 8 -10 ) ब्रैन ट्री स्कूल ( सिल्वर मैडल )

प्रान्गली पांडेय ( 8 -10 ) ( सेंट जोसफ स्कूल ) ( ब्रॉन्ज़ मैडल )

कनिष्का सक्सेना ( 8-10 ) ( विक्ट्री वर्ल्ड स्कूल ) ब्रोंज मैडल

अक्षिता शर्मा (10 -13 ) उर्शलाइन कान्वेंट स्कूल ( गोल्ड मैडल )

विशाखा ( 10 -13 ) ( सिल्वर मैडल )

जाह्नवी श्रीवास्तव ( 10-13 ) ( सिल्वर मैडल )

राशि सिंह ( 10 – 13 ) ( डी एल ऍफ़ वर्ल्ड स्कूल ) ( ब्रोंज मैडल )

गीतिका स्वरुप ( 13 -15 ) ( प्रज्ञान स्कूल ) ( गोल्ड मैडल )

सभी विजेता खिलाड़ियों को देवेंद्र नागर जी , गजानन माली जी ओ पी अग्रवाल जे आदि गणमान्य अतिथियों ने पदक देकर उत्साहवर्धन किया !

भारतीय क्रिकेट के अंडर- 19 के खिलाड़ी शिवम मा वी अपने गांव पहुचने पर हुआ जोरदार स्वागत

ग्रेटर नोएडा – भारतीय क्रिकेट के अंडर-19 में अपनी पहचान बना चुके क्रिकेट खिलाड़ी शिवम मावी का गांव हबीबपुर में पहुंचने पर स्वागत हुआ। शिवम मावी भारतीय टीम के लिए खेलते है । शिवम मावी के साथ साथ अंतर्राष्ट्रीय प्लेयर परविंदर अवाना का भी ग्रेटर नोएडा जगत फार्म जी एम माल पर फूल मालाओं से स्वागत हुआ।शिवम मावई ने अब तक भारत देश के लिए 11 मैच खेले हैं वही अभी उत्तर प्रदेश की टीम में खेल रहे हैं।इस मौके पर खेल प्रेमी चाचा हिंदुस्तानी न कहा की देश के लिए अंतर्राष्ट्रीय खेलों में देश का नाम रोशन करते हैं ऐसी प्रतिभाओं का हम ग्रेटर नोएडा वासी ऐसे ही मान सम्मान करते रहेंगे एक्टिव सिटीजन टीम के सदस्य सरदार मंजीत जी ने कहा शिवम मावी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में खेल कर क्षेत्र का वह देश का नाम रोशन किया है इस मौके पर अंतर्राष्ट्रीय प्लेयर परविंदर अवाना ने कहा मैं शिवम मावी को बचपन से देखता आ रहा हूं उसकी खेल की रुचि बहुत ज्यादा हैं बॉलिंग के साथ-साथ बेटिंग और बिल्डिंग में भी बहुत अच्छा खेलता है आने वाले अंडर-19 के वर्ल्ड कप मैं बॉलिंग के साथ साथ बैटिंग में अच्छा प्रदर्शन करेगा मेरी तरफ से शिवम के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं वही शिवम मावी के कोच फूलचंद शर्मा जी ने बताया कि मेरे यहां 200 बच्चे अकैडमी में है लेकिन जो शिवम मावी का टैलेंट है उसी के आधार पर अंडर-19 में सिलेक्शन हुआ।इस मौके पर सरदार मंजीत जी, राजकुमार भाटी, हरेंद्र भाटी ,परविंदर अवाना, फूल चंद शर्मा जी( शिवम के कोच) सुनील प्रधान ,अनिल कसाना ,संदीप भाटी ,सुमित छतरगढ़ ,जतन भाटी, नरेंद्र मुखिया ,संजय भाटी, पवन नागर, संजय कसाना ,राहुल नंबरदार ,आलोक नागर ,बृजेश भाटी ,विकेश यादव ,सुनील चंदेला ,लालू पंडित, जितेंद्र, रामनिवास, चंद्र बोस प्रधान आदि रहे।