Daily Archive: April 26, 2017

Greater Noida Shame : Noida International University Student Raped in city

A Girl student of Noida International University has been raped in Greater Noida’s Dankaur area. The girl is a resident of Delhi and she commutes to her collage situated at Yamuna Expressway for attending classes.

A case has been registered in Dankaur police station in this regard and station incharge has informed that necessary action and investigation is being done in the matter.

राजनैतिक पार्टियों के दुशाले उतारकर पढ़े,, , अगर आप सुकमा की घटना से आहत नही है, तो ये कवित ा आपके लिए नही है : कवि अमित शर्मा

कवि अमित शर्मा

कलम बनी है वीर भगतसिंह, आज बगावत होने दो ।
फर्जी राष्ट्रवाद के चेहरों को भी आहत होने दो ।

मुँह में गाली भरी हुई, पर निर्णय ना ले पाउँगा ।
संस्कारो में बंधा हुआ हूँ, गाली ना दे पाउँगा ।

अपना देश समूचा सब्जी मण्डी बना दिया तुमने ।
बलिदानी सैनिक को आज शिखंडी बना दिया तुमने ।

सैनिक जितने मरे यंहा पर, जरा खोट मेरा भी है ।
तुम जिस दिल्ली में बैठ गए हो, एक वोट मेरा भी है ।

ये मंजर, ये मौसम सब बर्बादी जैसा लगता है ।
खुद का चेहरा भी मुझको अपराधी जैसा लगता है ।

मुझे पता है MCD की खुशी में झूल जाओगे तुम ।
हर सैनिक की विधवा, बच्चे सबको भूल जाओगे तुम ।

खुशी जीत की होगी, हर कोई भगवा लेकर दौड़ेगा ।
मफलर वाला दुष्ट ठीकरा ई.वी.एम. पर फोड़ेगा ।

बिछवे, चूड़ी, बिंदी, मंगलसूत्र यहाँ दब जाएँगे ।
इस नौटंकी में सब बलिदानी पुत्र यहाँ दब जाएँगे ।

ओ सैनिक, तुझसे कहता हूँ कि अब बंदूक उठा ले तू ।
या सीमा से घर आ जा अपना संदूक उठा ले तू ।

बी.एस.एफ. के शेर सुने, सभी बलों के जवान सुने ।
खाकी वाले जरा सुने और फौजी देश की शान सुने ।

जहाँ रहो, सतर्क रहो, ना दिल में अपने लोड रखो ।
एस.एल.आर. और ऐ.के. छप्पन, चौबीस घंटे लोड रखो ।

ना सहो किसी भी थप्पड़ को, केवल इतना कर डालो तुम ।
पूरी मेगजिन दुष्टों की छाती में भर डालो तुम ।

कायरता का अब कोई संदेश नही मानो सैनिक ।
पीछे हटने वाला भी आदेश नही मानो सैनिक ।

बंदूक उठाकर नक्सलवाद की छाती पर चढ़ जाओ तुम ।
एल.ओ.सी. की लाइन लाँघकर भी आगे बढ़ जाओ तुम ।

भारत माँ की छाती से बस ये अपवाद मिटा दो तुम ।
सीमा बाद में देखो पहले नक्सलवाद मिटा दो तुम ।

रक्त नसो का गर्म रहे, ये रक्त कभी ना ठंडा हो ।
बस्तर के हर कोने ने केवल भारत का झंडा हो ।

माओ के सारे बेटे ये करनी हरामी भूल जाए ।
इतना इनको लाल करो कि लाल सलामी भूल जाए ।

पहले उसको ठोको जो भी सरकार की बात करे ।
चंद दैत्यों के वध पर मानव अधिकार की बात करे ।

बच्चा-बच्चा मेरे देश का देने को सम्मान खड़ा है ।
हे भारत के सैनिक तेरे संग में हिंदुस्तान खड़ा है ।