तीन बच्चों की मौत के मामले में एनपीसीएल के 15 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज
ग्रेटर नोएडा के थाना कासना क्षेत्र में स्थित एनपीसीएल के पावर हाउस में करंट लगने से 20 मार्च को तीन बच्चों की मौत के मामले में उनके परिजनों की शिकायत पर आज नोएडा पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (एनपीसीएल) के सीईओ सहित 15 लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।
एसपी देहात विनीत जायसवाल ने बताया कि ग्रेटर नोएडा के फाई-3 सेक्टर में एनपीसीएल का बिजली घर है। यहां पर 20 मार्च को शाम करीब चार बजे 3 बच्चे गोलू, रिंकू और सागर खेलते हुए पहुंच गए। उन्होंने बताया कि बिजली घर में खुले पड़े तारों में हाई वोल्टेज होने की वजह से बच्चों को करंट लग गया तथा तीनों की झुलस कर मौत हो गई।
उन्होंने बताया कि इस मामले में मृतक गोलू के पिता ने थाना कासना में एनपीसीएल के सीईओ आर सी. अग्रवाल, सहायक इंजीनियर आतिश रंजन, जूनियर इंजीनियर धीरेंद्र, इंजीनियर मोहन सिंह, असिस्टेंट मैनेजर आकाश विश्वकर्मा, डीजीएम सुशांत आंद्रे, मुख्य अधिकारी गांगुली सहित 15 लोगों को नामित करते हुए धारा 304 के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। उन्होंने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।