ग्रेटर नॉएडा में लगातार बढ़ रहा अतिक्रमण

ग्रेटर नॉएडा जिसे प्लान कर के बसाया गया और शहर को खुबशुरत बनाने में कोई कशर नहीं छोड़ी गई थी पर प्रशासन की अनदेखी के चलते जगह जगह रेहड़ी पटेहड़ी वालो का कब्ज़ा बढ़ता जा रहा है जिसके चलते शहर वासियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है |
शाम होते ही रेहड़ी पटेहड़ी वालो का बाजार गर्म हो जाता है और असामाजिक तत्वों व शराबियों का जमावड़ा लगने लगता है
शहर में बढ़ते अतिक्रमण को देख कर लगता है की अधिकारी दफ़्तरों से बाहर निकल कर देखना नहीं चाहते या उनके अधीन कर्मचारी अफ़सरों के नाम पर अवेध वसूली कर अतिक्रमण को बढ़ावा दे रहें हैं |
शहर के भीड़ भाड़ वाले इलाको को ही रेहड़ी पटेहड़ी वाले अपना कब्ज़ा जमाये हुए है ज्यादा तर अतिक्रमण का असर जगत फ़ार्म , परी चोक, तुगलपुर की ग्रीन बेल्ट असल प्लाज़ा से तेजा मार्केट तक, पी 3 मार्केट, वैनिश माल, के सामने , अल्फ़ा वन कमर्शियल बेल्ट, और ग्रेटर नोएडा के हर गोल चक्कर के साथ साथ प्रत्येक सेक्टर में हैं |
शहर की सामाजिक संगठन एक्टिव सिटीजन टीम व अन्य समाजी संगठनों द्वारा इनपर रोक लगाने के लिए शिकायत दर्ज करने पर प्रशासन की तरफ से कार्यवाही तो होती है पर स्टाफ़ के कर्मचारी पहलें ही रेहड़ी पटेहड़ी वालो की सूचित कर देते हैं और रेहड़ी पटेहड़ी वाले कार्यवाही होने से पहले ही अपनी डेली कुछ समय के लिए हटा लेते हैं |
कुछ जगहों पर ढाबे वालों ने बाँस बल्ली से होटल का रूप दे रखा हैं और पीसीआर व प्राधिकरण के कर्मचारी कुछ कहने या करने में भी अपने को अलग रखते हैं और प्राधिकरण की व्यावसायिक जगहों पर अतिक्रमण की औपचारिकता पुरी करते है जिससे प्राधिकरण की कमर्शियल व व्यापारियो को ही दिक़्क़त का सामना करना पढ़ता है अवेध ठेलियाँ व अवेध ठेलियों के ठेकेदार कुछ कर्मचारीयो के सहयोग से मलाई खाते है ये बेचारे प्राधिकरण के दुकानदार साल से साल परेशान रहते है। ऐसा ही हाल रहा तो ग्रेटर नॉएडा भी नॉएडा की तरह ही रेहड़ी पटेहड़ी वालो से घिरा और गंदगी से भरा मिलेगा |

Leave a Reply