शिक्षक के लिए हुआ श्रद्धांजलि सभा का आयोजन ।

ग्रेटर नोएडा के एक्सपोमार्ट गोलचक्कर पर विभिन्न कालेजो व विवि में पढ़ाने वाले शिक्षकों ने प्रोफ़ेसर डॉ जितेंद्र पाठक की आत्मा की शांति के लिए कैंडल मार्च निकल व दो मिनट का मौन रख मृतक की आत्मा की शांति के लिए प्राथना की साथ ही कालेजो की मनमानी का विरोध किया ।
शांति मार्च में एकेटीयू के पूर्व वीसी आरके खंडाल व दादरी विधायक तेजपाल नागर भी पहुंचे ।
जितेंद्र पाठक नॉलेज पार्क के एक कॉलेज में प्रोफेशर केपद पर नियुक्त थे पर कॉलेज प्रबंधन ने बिना नोटिस जारी किये उन्हें नौकरी सिनिकल दिया था बाद में जितेंद्र पाठक फरीदाबाद के एक कॉलेज में नौकरी करनी शुरू कर दी और बीमार होने के कारण कुछ दिनों तक वह नौकरी पर नहीं जा सके जिसके चलते उस कॉलेज प्रबंधन ने भी उन्हें नौकरी से निकल दिया जिससे जितेंद्र पाठक इतने हताश हुए की उन्होंने ट्रेन के सामने कूद कर आत्महत्या कर ली थी । इसी के चलते बड़ी संख्या पर कल शाम ग्रेटर नोएडा स्थित एक्सपोमार्ट गोलचक्कर पर एकत्रित हो कर कैंडल मार्च निकाला व चन्दा एकत्र कर पीड़ित परिवार की मदद करने का फैसला लिया ।
शांति मार्च में पहुंचे एकेटीयू के पूर्व वीसी आरके खंडाल ने कहा कि कॉलेज प्रबंधन की इस तरह की नीति बहुत ही निंदनीय है क्यों की शिक्षकों के ऊपर छात्रों का भविष्य संवारने की जिम्मेदारी होती है। दादरी विधायक तेजपाल नागर ने भी कालेज प्रबन्धको की मनमर्जी वाली नीति का विरोध किया और कहा कि कालेजो की इस तरह की मनमर्जी का खामियाजा शिक्षकों व उनके परिवार वालो को झेलना पड़ता है।
इस मौके पर निखिल, दिनेश कुमार, दीनानाथ, संदीप मलिक, रोहित पण्डे, एके सिंह, स्वदेश कुमार सिंह, और आरके तिवारी मौजूद रहे।

Leave a Reply