“सफेद कागज’ काव्य रचना के लिए शैलेन्द्र भा टिया को मिलेगा ‘शोभना सम्मान’, गाँधी शांति प्र तिष्ठान में होगा आयोजन !

आशीष केडिया

(31/12/2017) ग्रेटर नॉएडा :

यमुना विकास प्राधिकरण के विशेष कार्याधिकारी शैलेन्द्र भाटिया को साहित्य के क्षेत्र में उनके प्रथम कविता संग्रह "सफ़ेद कागज़’ के लिए शोभना वेलफेयर सोसायटी नई दिल्ली ने ‘शोभना सम्मान’ देने का निर्णय लिया है।

यह पुरस्कार गांधी शान्ति प्रतिष्ठान में आयोजित कार्यक्रम में 04 फरवरी 2018 को प्रदान किया जाएगा।ज्ञातव्य हो की श्री भाटिया की कविता संग्रह’सफेद कागज़’ का विमोचन गत अगस्त महीने में राज्यपाल राम नाईक ने किया था। रोजमर्रा की जिंदगी पर आधारित कविताओ के इस संग्रह पर इसके पूर्व शैलेन्द्र भाटिया को ‘तथागत विशिष्ट सृजन सम्मान’ भी गत नवंबर माह में प्रदान किया गया था।


(शैलेन्द्र भाटिया )​

यमुना विकास प्राधिकरण में विशेष कार्याधिकारी के रूप में कार्यरत शैलेन्द्र भाटिया को दिसम्बर माह में हिंदी साहित्य में योगदान के लिए "औरैया हिन्दी प्रोत्साहन निधि" ने "कीर्ति पुरुष" सम्मान से भी सम्मानित किया था। गत वर्ष लोकसेवा क्षेत्र में शोभना सम्मान भी प्रदान किया जा चुका है। उल्लेखनीय है की शोभना वेलफेयर संस्थान हिन्दी भाषा के प्रचार-प्रसार और प्रोत्साहन के लिए कार्य करने वाले लोगो को तथा लोकसेवा क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य के लिए सम्मानित करती है।

सफ़ेद कागज काव्य संग्रह ने छोड़ी है अनूठी छाप :

पी एम पब्लिकेशन नई दिल्ली द्वारा प्रकाशित काव्य संग्रह "सफ़ेद कागज़" को काव्यजगत में पाठकों द्वारा बेहद सराहना मिली। प्रकृति एवं जीवन के विभिन्न पहलुओं को साहित्यिक सन्देश में परिवर्तित करती रचनाएँ से भरी यह पुस्तक सहज ही पाठकों को आकर्षित कर लेती है। चाहे ‘चींटियां’ कविता द्वारा प्रकृति के बदलाव और परिवर्तन को आत्मसात करने का सन्देश हो या कान्वेंट स्कूलों के एलिटिज्म पर कुछ पंकितयों में कटाक्ष, ‘सफ़ेद कागज’ की प्रत्येक रचना पाठकों को भिन्न भिन्न अनुभवों से गुजराती रहती है।

(सफ़ेद कागज के लखनऊ लोकार्पण का फाइल फोटो )

Leave a Reply