किसान ने अपनी मांगो को लेकर प्राधिकरण के ख िलाफ जल्द करेंगे आंदोलन

ग्रेटर नोएडा :किसानो ने बिसरख गांव में प्राधिकरण के खिलाफ एक पचांयत की गयी और सभी ने किसानो ने प्राधिकरण के अधिकारियो पर गुमराह करने का आरोप लगाया। और सभी किसानो ने एक सुर में जल्द ही अधिकारियो के विरुद्ध बड़ा धरना प्रदर्शन करने फैसला किया । किसानो ने पंचायत में कहा कि प्राधिकरण के अधिकारियो को केवल मंत्री और बिल्डर की चिंता है। प्राधिकरण ने किसानो के मुद्दे से तो पूरी तरह से किनारा कर लिया है। बिसरख में मंगलवार को हुई पंचायत में किसानों ने कहा कि प्राधिकरण के मौजूदा अधिकारी उनकी समस्याओं का समाधान करने के बजाए गुमराह करने में लगे हैं। दस फीसद भूखंड के नाम पर किसानों के साथ प्राधिकरण धोखा कर रहा है। आबादी की लीज बैक व निस्तारण के लिए भी अधिकारियों का रवैया गंभीर नहीं है। पंचायत में किसानों ने प्राधिकरण के खिलाफ आंदोलन का फैसला किया। किसान संघर्ष समिति के बैनर तले हुई पंचायत में ग्रेटर नोएडा वेस्ट के याकूबपुर, पतवाड़ी, ऐमनाबाद, सैनी, इटैड़ा, तुस्याना, चौगानपुर आदि गांवों के किसान शामिल हुए। समिति के प्रवक्ता मनवीर भाटी ने कहा कि खानपुर में होने वाली अगली पंचायत में आंदोलन की तारीख तय होगी। रोजा याकूबपुर के अशोक त्यागी ने कहा कि प्राधिकरण सर्वोच्च न्यायालय के आदेश की अवहेलना कर रहा है। किसानों को दस फीसद भूखंड नहीं दिया है। आबादी की बैकलीज अभी तक शुरू नहीं हुई है। बैकलीज कराने के लिए प्राधिकरण पहुंच रहे किसानों से बिना वजह चक्कर कटवाएं जा रहे हैं। बिना कारण फाइलों में आपत्ति लगा दी जाती है। चेतावनी दी गई कि यदि अविलंब आबादी की बैकलीज शुरू नहीं की गई तो बड़े स्तर पर आंदोलन होगा। किसान अब प्राधिकरण की नीतियों को बर्दास्त नहीं करेंगे।