गौतम बुद्ध नगर में चला खनन जांच का गोपनीय अ भियान, तड़के 4 बजे निरिक्षण को पहुँचे अधिकारी !

मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर ब्रजेश नारायण सिंह ने जनपद में खनन के संबंध में बड़े स्तर पर गहनता के साथ कराई गोपनीय जांच। जांच के दौरान 11 डंपर ओवर लोडिंग करने पर किया गया चालान। 3 पोकलेन मशीन तथा एक जेबीसी मशीन की गई जब्त। जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर ब्रजेश नारायण सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में अवैध खनन के संबंध में जांच करने के उद्देश्य से आज सुबह 4:00 बजे से वृहद स्तर पर अभियान चलाकर बनाई गई 3 टीमों के द्वारा संपूर्ण यमुना परिक्षेत्र में अवैध खनन के संबंध में गहनता पूर्वक जांच कराई गई ।

गोपनीयता बनाने के लिए सम्बंधित थानों की पुलिस को रखा गया दूर :

यह अभियान इतना गोपनीय रखा गया कि संबंधित थाने की पुलिस भी इस अभियान में सम्मिलित नहीं थी। उन्होंने बताया कि जनपद के तीनों उपजिलाधिकारियों की अध्यक्षता में टीमों का गठन किया गया । जिसमें उनके साथ संबंधित क्षेत्राधिकारी पुलिस तथा खनन विभाग के अधिकारी और परिवहन विभाग के अधिकारी तथा थाने से अलग अन्य स्थानों का पुलिस बल टीमों में सम्मिलित था। उन्होंने बताया कि बनाई गई तीनों टीमों के द्वारा अलग अलग क्षेत्र में आज सुबह 4:00 बजे से 10:00 बजे तक लगभग 6 घंटे तक सघन जांच अभियान चलाया गया । बनाई गई तीन टीमों के द्वारा सरकार द्वारा दिए गए तीनों पट्टेदारों स्थल की जांच की गई कि उनके द्वारा सही स्थान पर खनन किया जा रहा है अथवा नहीं । इस संबंध में यह संज्ञान में आया कि एक पट्टे धारक द्वारा निर्धारित स्थान से अलग स्थान पर खनन किया जा रहा है। इस संबंध में तीन पोकलेन मशीन तथा एक जेसीबी मशीन मौके से जप्त कर ली गई है । और इस संबंध में यह जांच कराई जा रही है कि यह खनन निर्धारित स्थान से किया जा रहा था अथवा नहीं। यदि गलत स्थान से खनन पाया गया तो पट्टाधारक के विरूद्ध और कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसी के साथ साथ 11 डंपर ओवरलोडिंग में पकड़े जाने पर उनका चालान किया गया । ज्ञातव्य हो कि यह अभियान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के निर्देशन पर जिला प्रशासन की ओर से गोपनीय रूप से संचालित किया गया है और इस अभियान कि संबंधित थाने को भी इसकी सूचना नहीं थी। अभियान पूरा होने पर संबंधित एस एच ओ को मौके पर बुलाकर पकड़े गए वाहनों के संबंध में कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए। डीएम ने बताया कि तीनों अधिकारियों द्वारा यमुना के संपूर्ण क्षेत्र में सुबह 4:00 बजे पहुंचकर गहनता के साथ अवैध खनन के संबंध में जांच की गई है जांच के दौरान सभी पंजीकृत वाहन खनन सामग्री ले जाते हुए पाए गए और कोई वाहन अवैध खनन के समान ले जाते हुए नहीं मिला।

Leave a Reply