नगर निकाय चुनाव के लिए हुआ अधिकारीयों का प्रशिक्षण, मास्टर ट्रेनर शैलेन्द्र भाटिया ने दी विस्तार पूर्वक जानकारी।

नगरीय निकाय सामान्य निर्वाचन 2017 से संबंधित पीठासीन अधिकारी और मतदान अधिकारी प्रथम का प्रशिक्षण गौतम बुद्ध बालक इंटर कॉलेज में आयोजित किया गया। प्रशिक्षण के समय जिलाधिकारी बी एन सिंह ने कहा कि मतदान अधिकारी प्रत्येक दशा में निष्पक्षता और तटस्थता सुनिश्चित करेंगे और भय मुक्त होकर शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराएं। किसी भी दशा में किसी भी व्यक्ति को चुनाव के दौरान गड़बड़ी फैलाने का मौका नहीं दिया जाएगा तथा कानून के अनुसार कठोरतम कार्रवाई की जाएगी ।उन्होंने कहा कि मतदान अधिकारी आपसी टीम भावना के साथ कार्य करें ।

भारत निर्वाचन आयोग के मास्टर ट्रेनर शैलेन्द्र भाटिया ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से पीठासीन अधिकारी और अन्य मतदान अधिकारी के द्वारा संपन्न किए जा रहे कार्यों के संबंध में विस्तार पूर्वक बताया ।उन्होंने कहा कि पीठासीन अधिकारी मतदान सामग्री प्राप्त करते समय मतदाता सूची, बैलेट पेपर और अन्य सामग्री का भली-भांति मिलान कर लें और मतदान स्थल पर पहुंच कर मतदान की तैयारी पूर्ण रूप से करे। सभी प्रपत्र सावधानी पूर्वक भरे।मतदान स्थल पर उम्मीदवार ,पोलिंग एजेंट और उसका इलेक्शन एजेंट में से कोई एक ही व्यक्ति रह सकता है यह सुनिश्चित करें ।महिलाओं और पुरुषों की लिए अलग अलग लाइन होगी।

मतदाता पर्ची पर केवल मतदाता का क्रमांक और उसका नाम होगा ।मतदाता पर्ची पर किसी भी दशा में दल का चुनाव चिन्ह या उम्मीदवार का नाम नहीं होगा। पीठासीन अधिकारी की डायरी बहुत सावधानी पूर्वक भरें तथा प्रत्येक 2 घंटे में मतदान की प्रगति का अंकन करें तथा इसकी जानकारी सेक्टर मजिस्ट्रेट को भी देते रहें। मतदान समाप्ति के बाद पूरी पोलिंग पार्टी एक साथ मतदान सामग्री जमा कराने जाएगी तथा कोई भी मतदान कर्मी तब तक नहीं जाएगा जब तक की सामग्री जमा नहीं हो जाती। मतदान स्थल पर किसी भी दशा में प्रचार सामग्री नहीं लगाई जायेगी।पोस्टल बैलट की प्रक्रिया के बारे में भी विस्तार से बताया ।

निर्वाचन में ड्यूटी कर रहे निर्वाचन अधिकारी और कर्मी पोस्टल बैलट से मतदान करेगे। मतदान 26 नवंबर को प्रातः 7.30 से सांय 5.00 बजे तक होगा। पोलिंग पार्टी की रवानगी 25 नवंबर को नोएडा स्थित फूल मंडी फेस 2 से होगी ।मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने आयोग के निर्देशों के अनुरूप कर्यवाही करने के लिए आवश्यक बताया। प्रशिक्षण के समय जिला विकास अधिकारी डॉ रामाश्रय और अन्य अधिकारी उपस्थित थे

Leave a Reply