Nai Pehal – Swavan Ki Malhar Kavi Sammelan

सावन की मल्हार और देश की पुकार नामक शीर्षक से आयोजित जुलाई माह का नई पहल कवि सम्मेलन शनिवार 29 जुलाई 2017 को नोएडा स्टेडियम के गेट नम्बर ४ पर योगा सेन्टर में बड़े ही धूमधाम से संपन्न हुआ | कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में नोएडा डिप्टी कमिश्नर (जीएसटी ) एवं मशहूर शायर डॉ अरुण सागर एवं अध्यक्ष के रूप में सुप्रसिद्ध गीतकार डॉ अशोक मधुप जी उपस्थित रहें | हास्य कवि विनोद पांडेय के संयोजन एवं संचालन में काव्य-पाठ करने वाले अन्य कवियों में सर्वश्री विष्णु सैनी,विनोद यादव ,जयदेव जोनवाल,पीयूष मालवीय ,राम भदावर एवं ओम उपाध्याय जी प्रमुख थे |

कवि सम्मलेन का आगाज दीप प्रज्वलन के पश्चात युवा कवि विनोद यादव जी के सरस सरस्वती वंदना से हुआ । नई पहल के संस्थापक सदस्य एस सी मिश्रा जी एवं विनोद शर्मा जी ने सभी आमंत्रित कवि,मुख्य अतिथि एवं अध्यक्ष महोदय को मोमेंटो प्रदान कर सम्मानित किया |सम्मान के इसी क्रम में नोएडा शहर का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नाम रोशन करने वाले युवा एथलेटिक्स अवधेश नागर एवं उनके युवा साथियों का सम्मान किया गया | तत्पश्चात नवोदित कवि ओम उपाध्याय ने "क्या हुआ जो हो गई कल बीवी से तकरार" जैसी पंक्तियाँ पढ़कर कवि सम्मेलन की शानदार शुरुआत की | योग पर ,देश पर ,परिवार पर कवि ओम ने अच्छी अच्छी रचनायें पढ़ी | ग्रेटर नोएडा से आये युवा कवि राम भदावर ने अपनी कविताओं से सभी का मन मोह लिया ,उनकी पंक्तियाँ "दुनिया को दिखा दे अगर हम साथ हो तो ,सिकंदर को झुका दे अगर हम साथ हो तो " देश की अखंडता और एकता की बात कर रही थी ,उनकी अन्य देशभक्ति कवितायेँ भी बहुत सराही गयी | युवा कवि पीयूष मालवीय ने भी देश और बदलते समाज की स्थिति पर बहुत सुन्दर-सुन्दर कवितायेँ पढ़ी | देश की बात करते हुए उन्होंने युवाओं और युवतियों को देश और समाज के विषय में भी प्रमुखता से सोचने के लिए कविताओं के माध्यम से कहा |उनकी पंक्ति "देश की हर बालिका जो मिस वर्ल्ड बनेगी तो बोलिये फिर झाँसी वाली रानी कौन बनेगा " पर पूरा सदन तालियों से गूंज उठा | हास्य कवि जयदेव जोनवाल ने अपनी हास्य टिप्पणियों से सभी को खूब गुदगुदाया तत्पश्चात आधुनिक गधे की महिमा करते हुए शानदार व्यंग्य कविता का पाठ किया | पहली बार किसी स्थापित मंच से काव्य-पाठ कर रहे कवि विष्णु सैनी ने "जिंदगी की दौड़ में कुछ फुर्सत के पल मिले " कविता पढ़कर भागदौड़ और जिंदगी पर अपनी भावनाएँ व्यक्त की | उन्होंने नई पहल के इस मुहीम को बहुत सराहा जिसके वजह से उन्हें अपनी काव्य भावनाओं व्यक्त करने का माध्यम प्राप्त हुआ |युवा ग़ज़लकार विनोद यादव ने अपने खूबसूरत अशआर पढ़कर महफ़िल ही लुट ली | उनके शेर " कभी फुटपाथ पर सोते हुए बचपन की भी सुध लो ,जहाँ पर एक चादर भी कभी तानी नहीं जाती " खूब पसंद किया गया ,समाज और देश की स्थितियों से जोड़कर उन्होंने बहुत शानदार ग़ज़ल पढ़ी और सभी का दिल जीत लिया | संचालन कर रहे हास्य कवि विनोद पांडेय ने भी अपनी हास्य छंदों में सभी को खूब हँसाया ,उन्होंने बिहार की तत्कालीन राजनैतिक स्थिति पर जमकर व्यंग्य किया और सदन में उपस्थित सभी हँसते हँसते लोटपोट हो गये |उनके हास्य कविता की पंक्तियाँ "लालू जी के दोनों लालटेन जलने लगे तो ,फूंक मार के नीतीश भाग लिए सर्र से " पर लोगों ने तो तालियों की बौछार कर डाली | कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पधारे मशहूर शायर डॉ अरुण सागर ने तो कमाल ही कर दिया | उनकी शानदार शायरी को पूरे सदन का आशीर्वाद मिला | बिहार की स्थिति पर उनके शेर " क्या गुल खिलाया उसने राहे वफ़ा बदलकर ,है अर्श के सफर पे वो दायरा बदल कर ,हर एक मुराद उसकी पूरी जरूर होगी ,सजदा किया है उसने अब देवता बदल कर " पर खूब दाद मिली ,खचाखच श्रोताओं से भरे सदन से डॉ अरुण सागर जी के हर एक शेर पर भरपूर दाद मिली और सभी ने पूरे मन से उनको सुना | कवि सम्मेलन के अंत में अध्यक्ष डॉ अशोक मधुप जी ने सावन की मल्हार और देश की पुकार दोनों बातों को बहुत खूबसूरत ग़ज़ल "सावन की मल्हार तुम्हारी यादों में "पढ़कर कवि सम्मेलन को शिखर पर पहुँचा दिए | साथ ही साथ प्रेम में विरह को व्यक्त करते हुए उनके शानदार गीत को प्रांगण में मौजूद सभी लोगों गीत के रंग में डूब कर सुना और कवि सम्मेलन को पूरी तरह से सफल कवि सम्मेलन बना दिया |
मुख्य अतिथि डॉ अरुण सागर ने नई पहल को दो सालों से निरंतर स्तरीय कवि सम्मेलन कर नोएडा को एक सांस्कृतिक पहचान दिलाने के लिए हार्दिक बधाई दी एवं भविष्य में नई पहल और भी ऊँचाइयाँ छुये इसके लिए ढेर सारी शुभकामनायें दी | विशिष्ट अतिथि के रूप में हरियाणा भाजपा युवा मोर्चा के प्रभारी श्री अशोक सिंह जी ने नई पहल को भव्य एवं सार्थक आयोजनों के लिए बधाई दी | नई पहल के संरक्षक रूप में उपस्थित वरिष्ठ साहित्यकार एवं पूर्व आईएएस श्री गणेश शंकर त्रिपाठी जी ने सभी कवियों की कविताओं को सराहा और युवा कवियों को और अच्छे लेखन की शुभकामनायें दी | कवि सम्मेलन में उपस्थित सभी सुधी श्रोताओं ने खूब कविताओं का आनंद लिया साथ ही साथ कवियों के उत्साहवर्धन में जरा भी तालियाँ कम नही पड़ने दी।कवि सम्मेलन में नोएडा एवं आस पास के के कई सम्मानित लोग उपस्थित रहें जिनमें प्रोफ़ेसर योगेंद्र सिंह जी ,पूर्व स्टेडियम मेंटेनेंस इंजीनियर एम पी शर्मा ,भाजपा नेता अशोक सिंह , सेक्टर-27 आरडब्लूए महासचिव राजीव गर्ग ,समाजसेवी महेंद्र अवाना,डॉ रमा शर्मा ,आर्टिटेक्ट हरीश त्रिपाठी जी ,ज्योति त्रिपाठी,गुलशन शर्मा,राकेश त्रिपाठी,कवि दुर्गेश अवस्थी ,कवि प्रेम सागर "प्रेम ",कवि प्रभाकर आजाद ,उमाशंकर दर्पण,दिलबर नेगी प्रमुख रूप से उल्लेखनीय नाम है |

विनोद पांडेय
संयोजक ,नई पहल