शारदा यूनिवर्सिटी ने स्कॉलरशिप के आवेदन की समयसीमा 10 दिन और बढ़ाई

स्कॉलरशिप पाने के लिए 10 दिन और मिलेः शारदा यूनिवर्सिटी ने योग्यविद्यार्थियों को फायदा पहुंचाने के लिए समयसीमा को स्थगित किया

शारदा यूनिवर्सिटी में स्कॉलरशिप की इच्छा रखने वालों को 10 दिन और मिले

छात्र अपने आवेदन 29 जुलाई 2017 तक जमा कर सकते हैं

नई दिल्ली, जुलाई 2017: प्रोफेशनल एक्सीलेंस और इनोवेशन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, शारदा यूनिवर्सिटी ने स्कॉलरशिप आवेदनों के लिए समयसीमा 10 दिन बढ़ा दी है। नई समयसीमा के अनुसार, विद्यार्थी 29 जुलाई 2017 तक अपने स्कॉलरशिप आवेदन कर सकेंगे। पहले यह समयसीमा 19 जुलाई 2017 तय की गई थी। इसका उद्देश्य मुख्य रूप से उन छात्रों को एक मौका और देना है जो इस स्कॉलरशिप के लिए योग्य हैं और तय समयसीमा में आवेदन जमा नहीं कर पाए हैं। शारदा यूनिवर्सिटी एक उच्च गुणवत्ता युक्त शैक्षणिक संस्थान है जिसका फोकस मुख्य रूप से विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास, विश्वस्तरीय शिक्षण प्रणाली मुहैया कराना और उनमें प्रतिस्पर्धात्मक गुणों का विकास करना है।

यूनिवर्सिटी में शैक्षणिक सत्र 2017 के लिए विभिन्न अंडर-ग्रेजुएट और पोस्ट-ग्रेजुएट कोर्सेस में प्रवेश प्रक्रिया सतत चल रही है। उम्मीदवारों का चयन शारदा यूनिवर्सिटी एडमिशन टेस्ट (एसयूएटी) 2017 के आधार पर होगा। इस टेस्ट का आयोजन यूनिवर्सिटी ही करती है। यूनिवर्सिटी में दानदाताओं और पूर्व छात्र संगठन की ओर से कई छात्रों को स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है। शैक्षणिक योग्यता, खेलकूद और सांस्कृतिक क्षेत्र में उपलब्धि के आधार पर यूनिवर्सिटी की ओर से ट्यूशन फीस के 80 प्रतिशत तक की स्कॉलरशिप दी जाती है। यह एसयूएटी और प्रवेश परीक्षा में प्रदर्शन के आधार पर तय होती है।

समयसीमा बढ़ाने के मामले में, शारदा यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता, शारदा यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर एडमिशन, राजीव गुप्ता ने कहा, “समयसीमा बढ़ाने के पीछे हमारा उद्देश्य योग्य उम्मीदवारों को एक मौका और देना है। हम चाहते हैं कि इनोवेटिव विचार और योग्यता वाले छात्र यूनिवर्सिटी की ओर से पेश किए जा रहे कोर्सेस का हिस्सा बने। शारदा यूनिवर्सिटी विद्यार्थियों को उनका कौशल विकसित करने और रोजगार पाने की योग्यता को बढ़ावा देती है जिससे वे भविष्य का नेता बन सके। हमें यकीन है कि हमारे इस कदम से शारदा यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों के बुद्धिमान दिमागों की सूची में कुछ नाम और जुड़ जाएंगे।”

2016-17 में, 1,200 से ज्यादा छात्र-छात्राओं को शारदा यूनिवर्सिटी ने विभिन्न अंडर-ग्रेजुएट और पोस्ट-ग्रेजुएट कार्यक्रमों के लिए स्कॉलरशिप प्रदान की। यूनिवर्सिटी का मुख्य उद्देश्य आधुनिक विचारों पर आधारित शिक्षा प्रणाली के जरिए भारतीय छात्र-छात्राओं को वैश्विक स्तर पर लाकर खड़ा करना है। असाधारण फेकल्टी, विश्वस्तरीय शैक्षणिक मानकों और इनोवेटिव एकेडेमिक प्रोग्राम्स की बदौलत शारदा यूनिवर्सिटी ने अपने लिए एक खास जगह बनाई है। यह भारतीय शिक्षा प्रणाली में वैश्विक और भविष्य की लर्निंग लेकर आई है।

शारदा यूनिवर्सिटी के बारे में:

शारदा यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा, दिल्ली एनसीआर के बाहर स्थित एक प्रमुख शैक्षणिक संस्थान है। यह प्रतिष्ठित शारदा ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूशंस का हिस्सा है। यूनिवर्सिटी ने खुद को उच्च-गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदाता के तौर पर स्थापित किया है। यूनिवर्सिटी का मुख्य फोकस संपूर्ण ज्ञान और छात्र-छात्राओं में प्रतिस्पर्धात्मक भावनाओं को जगाना है। यह यूनिवर्सिटी यूजीसी से मान्यता प्राप्त है। इसे एनसीआर के इकलौते बहु-संकाय कैम्पस होने का गौरव भी प्राप्त है। 63 एकड़ से ज्यादा जमीन पर फैली यह यूनिवर्सिटी सभी विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैस है।

शारदा यूनिवर्सिटी का लक्ष्य अनुसंधान और शिक्षण में उच्च स्तरीय सफलता हासिल करते हुए भारत की प्रमुख यूनिवर्सिटियों में जगह बनाना है। अपनी असाधारण फेकल्टी, विश्वस्तरीय शैक्षणिक मानकों और इनोवेटिव शैक्षणिक कार्यक्रमों की बदौलत शारदा यूनिवर्सिटी भारतीय शिक्षा प्रणाली में नए मानक स्थापित करना चाहती है.