ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के सौतेले व्यवहार स े नाराज नेफोमा ने परिसर में किया प्रदर्शन

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में आज विभिन्न प्रोजेक्टो के प्रतिनिधि नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान के साथ टाइम लेकर सीईओ देवाशीष पांडा से मिलने पहुचे थे जिसमें महिलाएं व बच्चे शामिल थे पहले तो सिक्युरिटी अधिकारी 5 से ज्यादा बॉयर्स को मीटिंग में जाने की इजाजत नही दे रहा था जब महिलाओं ने काफी बहस की तो अंदर जाने की इजाजत दी ।
जब बॉयर्स मीटिंग हाल में पहुचे तो सीईओ पहले ही अपने अधिकारियो की मीटिंग ले रहे थे उस पर नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान ने सीईओ से कहा सर हम सभी 20 मिनिट और इंतजार कर लेते है आप अपनी मीटिंग खत्म कर ले सीईओ ने कहा नही आप अपनी बात कहो अन्नू खान ने कहा सर खड़े होकर मीटिंग नही हो पाएगी बच्चे है महिलाएं है कई वरिष्ठ अधिकारी भी साथ मे जिनके फ्लेट है या दुकान है प्रोजेक्टो में, पहले ही काफी देर से बाहर इंतज़ार कर रहे है और कई बॉयर्स 200 या 300 किलोमीटर दूर से आए है काफी बहस के बाद भी सीईओ ने एक न सुनी और सभी अधिकारी बैठे रहे और लगभग 40-50 बॉयर्स को खड़े कर के ही उनकी बात को सुना और बॉयर्स को कहा कि हमारे पास कोई जादू की छड़ी नही है जो घुमा देगे और समस्या का समाधान हो जाएगा, हम तो थर्ड पार्टी है हमसे आपने प्रोपर्टी नही खरीदी है, बिल्डर को बुलाकर बात की जाएगी, आपको तब बता दिया जाएगा, इस बात पर बॉयर्स में काफी रोष है दरसअल एयर विल इंटेलसिटी ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बॉयर्स जिनका अभी कही कही अभी काम स्टार्ट भी नही हुआ है, और कॉस्मिक, अजनारा ली गार्डन, अम्रापाली ड्रीम वेली के बॉयर्स मीटिंग के लिए गए थे जिन बॉयर्स ने 95% पैसे देने के बाद भी फ्लेट या दुकान नही मिल रही है बॉयर्स को आखिरी उम्मीद है प्राधिकरण पर लेकिन प्राधिकरण के अधिकारी जब बॉयर्स के साथ इस तरह का व्यवहार करेगे तो बॉयर्स कहाँ जाए, सभी बॉयर्स ने प्राधिकरण के ऑफिस के बाहर प्रदर्शन कर विरोध दर्ज कराया ।
नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान ने बताया कि सीईओ साहब ने बॉयर्स के साथ मुजरिमो जैसा व्यवहार किया है खड़े खड़े कही मीटिंग होती है हमारी बातो को सही से सुना नही गया, हमने विनम्रता पूर्वक और इंतज़ार करने को कहा था, हमने सीईओ से यह तक कहा कि हमारे मुख्यमंत्री योगी जी फरियादी के सामने स्वयं खड़े हो जाते है और फरियादी को बिठाकर तसल्ली से उसकी बात सुनते है लेकिन आप आए बॉयर्स की बेइज्जती कर रहे है जिसमें महिलाएं, बच्चे, वरिष्ट अधिकारी और उद्योग पति व आई टी कंम्पनी में काम करने वाले बॉयर्स है, हम मुख्यमंत्री से बिल्डर और प्राधिकरण में चल रही दोस्ती की शिकायत करेंगे बिल्डरो को अधिकारी अपने केबिन में ले जाकर बिठाते है लेकिन बॉयर्स को लाइन में लगाते है , इंतज़ार करने के लिए कोई जगह नही बनाई गई है, तीन लोग से ज्यादा मिल नही सकते फिर बिल्डर और प्राधिकरण में क्या अंतर रहा । विरोध दर्ज कराने में प्रमुख रूप से सुरेंद्र सिंह, डी०सी० मिश्रा, पुनीत राणा, आसिम खान, निरंजन सिंह ढींगरा, रुचिका सेठ, पूजा शर्मा, राजीव गोयल, पवन मित्तल, अवधेश सक्सेना आदि बॉयर्स रहे ।

Leave a Reply