मुंबई विश्वविद्यालय द्वारा दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

मुंबई विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन
गत दिनों मुंबई विश्व विद्यालय मुंबई के हिंदी विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र में वरिष्ठ आई.ए.एस.अधिकारी राकेश मिश्र के तीन काव्य संकलनों ‘जिंदगी एक कण है’ , ‘चलते रहे रात भर ‘तथा ‘अटक गई नींद’ के द्वितीय संस्करण का लोकार्पण सम्पन्न हुआ।
इस अवसर पर बाएं से दाएं -काठमांडू से पधारीं डॉ.श्वेता दीप्ति, मुंबई विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग के प्रोफेसर एवं अध्यक्ष डॉ.करुणाशंकर उपाध्याय, पं.रविशंकर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ .केशरीलाल वर्मा , प्रख्यात आलोचक डॉ.सूर्यप्रसाद दीक्षित, जापान की विदुषी महिला डॉ.तोमोको किकुचि , प्रख्यात अभिनेता अखिलेंद्र मिश्र , कवि राकेश मिश्र तथा महाकवि जयशंकर प्रसाद फाउंडेशन के अध्यक्ष और जयशंकर प्रसाद के प्रपौत्र विजय शंकर प्रसाद। गौरतलब है कि मिश्र जी के तीनों काव्य-संकलन इतने लोकप्रिय हुए हैं कि केवल दो महीने के भीतर इनके दूसरे संस्करण का प्रकाशन हुआ।

Leave a Reply