घर पर चल रही थी होली की तैयारी, आई बच्चों की मौत की खबर

तीन बच्चों की मौत के मामले में एनपीसीएल के 15 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज
ग्रेटर नोएडा के सेक्टर फाई-3 में आज एनपीसीएल के सब स्टेशन में लगे ट्रांसफार्मर की चपेट में आने से 3 मासूम बच्चों की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई है। इसमें एनपीसीएल की लापरवाही सामने आयी है। सेक्टर में बने बिजली सब स्टेशन में गेट भी नहीं लगा हुआ था और उसके अंदर लगी शटर जाम हुई पड़ी है, जिसके चलते बच्चे स्कूल से आकर खेलते हुए सब स्टेशन के अंदर घुस गए। खेलते हुए एक बच्चे ने नासमझी में बिजली के तार को हाथ में ले लिया जिससे वो वहीँ झुलस गया।

 

उसको बिजली से छुड़वाने के चक्कर में 2 अन्य बच्चे भी बिजली की चपेट में आ गए। इसके बारे में एनपीसीएल को सूचना दी गई थी जिसके बावजूद भी बिजली नहीं काटी गई थी। 1 घंटे बाद बिजली काटी गई तो बच्चो को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर डॉक्टरों ने तीनो बच्चों को मृत घोषित कर दिया।

सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्चों को शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था।
वहीँ लोगों ने आरोप लगाते हुए कहा कि इस घटना के आधे घंटे बाद एनपीसीएल के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और इस दर्दनाक दृश्य को देखकर वो भी वहाँ से भाग निकले। जिसके 2 घंटे बाद एनपीसीएल के अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का जायजा लिया।

लोगों ने बताया कि बिजली के खुले हुए बॉक्सों और सब स्टेशन की शिकायत उन्होंने कई बार एनपीसीएल में भी की थी, हालांकि एनपीसीएल की ओर से इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।
<iframe width=”560″ height=”315″ src=”https://www.youtube.com/embed/q-oAlLnLeoI” frameborder=”0″ allow=”accelerometer; autoplay; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture” allowfullscreen></iframe>
सूचना मिलने पर घटनास्थल पर सीओ श्वेताभ पांडेय भी मौके पर पहुंचे। लोगों ने एनपीसीएल की घोर लापरवाही की बात सीओ के सामने रखते हुए मुआवजे की मांग की। जिसपर एनपीसीएल के अधिकारियों ने मौके पर ही तीनों बच्चों के परिजनों को 5-5 लाख रूपये मुआवजे के तौर पर देने की बात कही।
सीओ श्वेताभ पांडेय ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि 3 बच्चे बिजली की चपेट में आ गए हैं। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, जिसके बाद बच्चों को जिला अस्पताल में लेकर गए, जहां पर डॉक्टरों ने तीनो बच्चों को मृत घोषित कर दिया। मामले में अभी कोई शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply