लोटस वेलफेयर सोसायटी के निर्माण में हुए भ ्रष्टाचार की जांच करने पहुंचे ग्रेटर नोएडा प ्राधिकरण के अधिकारी।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत ओमीक्रोन थर्ड बनी लोटस वेलफेयर सोसायटी के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच की मांग को लेकर करप्शन फ्री इंडिया संगठन पिछले लंबे समय से जांच की मांग करता आ रहा है। भ्रष्टाचार की जांच कराने के लिए संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने 16 जनवरी से 19 जनवरी 2019 तक भूख हड़ताल भी की थी ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय के बाहर। प्राधिकरण के अधिकारियों की तरफ से 10 फरवरी तक मांग पत्र पर कार्यवाही का लिखित आश्वासन देने के बाद भूख हड़ताल समाप्त की थी ।

करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि बिल्डिंग के निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की जांच की मांग को लेकर संगठन पिछले 1 वर्ष से लड़ाई लड़ रहा है भूख हड़ताल करने के बाद प्राधिकरण के अधिकारियों की नींद खुली और आज ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक एस सी अरोड़ा के नेतृत्व में सोसाइटी में जांच करने के लिए उनकी टीम पहुंची लोटस वेलफेयर सोसायटी में बने सभी फ्लैटों की जांच इंजीनियरों की टीम के साथ जांच की गई है।

चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक एस सी अरोड़ा ने आश्वासन दिया है कि 1 सप्ताह के अंदर जांच कर तथ्यों के आधार पर दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों एवं ठेकेदार के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

संगठन के वरिष्ठ कार्यकर्ता बृजेश भाटी ने बताया कि अगर 1 सप्ताह के अंदर कार्यवाही नहीं हुई तो करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ता फिर से आंदोलन करेंगे
इस दौरान बृजेश भाटी गौरव टाइगर मास्टर अजय पाल शर्मा विपिन चौधरी अभिषेक टाइगर राहुल कुमार संदीप आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply