आईआईएमटी कॉलेज, ग्रेटर नॉएडा में “फेक न्यू ज का बढ़ता दायरा” पर परिचर्चा का हुआ आयोजन

फेक न्यूज कुछ नहीं होती क्योंकि जो फेक है वह न्यूज हो ही नहीं सकती। यह बात वरिष्ठ पत्रकार व टीवी एंकर सईद अंसारी ने आज नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज ऑफ मैंनेजमेंट के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा आयोजित ‘मीडिया में फेक न्यूज का बढ़ता दायरा’ विषय पर आयोजित सेमिनार में कही। उन्होंने कहा कि कोई भी अखबार, टीवी चैनल, वेब साइट आदि कभी कोई फेक न्यूज नहीं देते और न ही ऐसा कर पाना उनके लिए संभव है।

सेमिनार में श्री अंसारी के साथ ही वरिष्ठ पत्रकार कमलेश त्रिपाठी और विचारक कृपाशंकर ने भी फेक न्यूज और अन्य विषयों पर अपने विचार रखे। कार्यक्रम की शुरूआत में आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल मयंक अग्रवाल ने अतिथियों को स्वागत किया। विषय प्रवर्तन पत्रकारिता विभाग के डीन अनिल कुमार निगम ने किया।
अपने संबोधन में श्री अंसारी ने कहा कि मैंने अपने पत्रकारिता जीवन में कभी फेक न्यूज नहीं दी। इसका कारण है कि चैनल हो या अखबार, उसमें किसी भी खबर को जारी करने से पहले कई स्तर पर उसकी जांच की जाती है। जिसे हम फेक न्यूज कहते हैं वह सोशल मीडिया की देन है और ज्यादातर युवा वर्ग उसे आगे बढ़ाने का काम करते हैं। सोशल मीडिया पर कोई लगाम नहीं है और उसकी कोई जवाबदेही भी नहीं है।

इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार कमलेश त्रिपाठी ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि आज मीडिया में फेक न्यूज एक बड़ी समस्या है। उन्होंने कहा कि ज्यादातर टीवी चैनल और अन्य मीडिया सबसे पहले खबर देने का श्रेय लेने के चक्कर में ऐसी खबरें जारी कर देते हैं जिनका कोई आधार नहीं होता। उन्होंने कहा कि इस मामले में सोशल मीडिया की बड़ी भूमिका है क्योंकि वह बेकाबू है। जिसे हम फेक न्यूज कहते हैं उसका ही एक रूप प्लांटेड न्यूज है।

इस अवसर पर विचारक कृपाशंकर ने कहा कि फेक न्यूज के कारण मीडिया की साख दांव पर लगी हुई है। उन्होंने कहा विद्यार्थियों की तरफ इशारा करते हुए कहा कि मीडिया की इस साख को आप ही बचाएंगे। उन्होंने सामाज व देश के प्रति कर्तव्यों का हवाला दिया और कहा कि यदि मीडिया फेक न्यूज दे भी रहा है तो यह आप पर निर्भर है कि उसे सच माने या नहीं। उन्होंने कहा कि विकल्प आपके पास हैं और आपको अपने विवेक से ही सब तय करना है।

मंच संचालन पत्रकारिता विभाग के प्रोफेसर अमित शर्मा ने किया ।कार्यक्रम की शुरूआत में अतिथियों का स्वागत करते हुए आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा कि आज के समय में फेक न्यूज एक बड़ी समस्या है जिसका सामना हम सभी कर रहे हैं। वरिष्ठ पत्रकारों के अनुभवों से विद्यार्थी बहुत कुछ सीख सकते हैं। सेमिनार में बीजेएमसी, बीबीए व बीसीए के सैकड़ों विद्यार्थियों ने उपस्थित रहकर लाभ उठाया। वक्ताओं ने विद्यार्थियों के सवालों का जवाब देते हुए उन्हें समझाया कि किसी भी तरह की अफवाह या गलत सूचनाओं को महत्व न दें और अपने विवेक से काम लें।

Leave a Reply