आईटीएस कॉलेज में तकनीकी संस्थान में उद्यमिता की आवश्यकता और महत्व पर विशेष व्याख्यान

आईटीएस कॉलेज में तकनीकी संस्थान में उद्यमिता की आवश्यकता और महत्व पर विशेष व्याख्यान
ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क स्थित आई.टी.एस. इंजीनिंयरिंग कालेज में तकनीकी संस्थान में उद्यमिता की आवश्यकता और महत्व पर विशेष व्याख्यान का अयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभआरंभ मुख्य अतिथि प्रो एस.बी. सारेन, प्रमुख एस.एम.ई. और व्यापार विकास सेवाए, ई.डी.आई.आई. अहमदाबाद का स्वागत संस्थान के अधिशासी निदेशक, डाॅ0 विकास सिंह एवं आई.टी.एस. द. एजूकेशन ग्रुप के सलहाकार ग्रुप डाॅ0 एस.पी. मिश्रा ने किया।
प्रो0 सारेन ने इस बात पर प्रकाश डाला कि भारत प्रौद्योगिकी संचालित और ज्ञान आधारित उद्यम का उछाल देख रहा है। चाहे वह परंपरागत व्यवसाय या किसी अन्य आधुनिक व्यापार का क्षेत्र हो चाहे नए उद्यमों या स्टार्ट-अप की संख्या में अचानक बढ़ोतरी ने देश को आश्चर्यचकित कर लिया हो। उन्होंने यह भी समझाया कि इस व्यवसाय प्रक्रिया में प्रौद्योगिकी और नवाचार एक प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं। इसके बाद छात्रों के साथ एक संक्षिप्त प्रश्न उत्तर सत्र आयोजित किया गया ताकि उद्यमिता के बारे में उनके विचार और धारणा के बारे में पता चल सके। बातचीत के बाद प्रोफेसर सारेन ने नए जनरल आईडीईसी के लिए प्रस्तावित साइट का दौरा किया और इसके लिए उनके उपयोगी सुझाव दिए।
डॉ एस पी मिश्रा ने उद्यमिता की आवश्यकता को समझाया और हाल के दिनों में उद्यमशीलता प्रणाली कैसे विकसित की है। उन्होंने स्नातक स्तर के बाद विभिन्न कैरियर विकल्पों के बारे में बात की और छात्रों को उद्यमिता में शामिल होने से बढ़ते देश का अधिकतम लाभ लेने के लिए प्रेरित किया। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि एक उद्यमिता के पैसे के साथ बहुत कम करना है। यह एक दृष्टिकोण है सोचने का एक तरीका है।

Leave a Reply