राम को भेजा 14 वर्ष के लिए बनवास, भरत को सौंपा सिंहासन

ग्रेटर नॉएडा के सेक्टर पाई 1 स्थित श्री धार्मिक रामलीला कमेटी की ओर से श्री सुशील गोस्वामी महाराज के निर्देशन में रामलीला के मंचन के पांचवे दिन मुख्य अतिथि रहे बसपा से लोकसभा प्रत्यासी वीरेंद्र डाढ़ा, जेवर से पूर्व विधानसभा प्रत्यासी सतवीर नागर व बीजेपी के पूर्व राजस्व मंत्री व प्रदेश अध्यक्ष नवाब सिंह नागर द्वारा रामलीला का शुभारंभ किया गया। इस दौरान रामलीला कमेटी के सदस्यों ने मुख्य अतिथियों को पटका पहनाकर व स्मृति चिन्ह भेंट कर उनका स्वागत किया।

रामलीला की शुरुआत मंथरा कैकेयी संवाद के साथ शुरू हुई। रामलीला अध्यक्ष आनंद भाटी ने बताया कि मंथरा रानी कैकई को राम को बनवास और भरत को राजगद्दी के लिए कान भर देती है। मंथरा द्वारा रानी को बार- बार भरत को राज गद्दी के लिये तैयार करने के दृश्य को लोगों द्वारा खूब सराहा गया।
बाद में रानी कैकेयी कोप भवन में चली जाती है जहां राजा दशरथ रानी से नाराजगी की बात पूछते है, तो रानी राजा दशरथ द्वारा दिए गए दो वचनों को याद दिलाती है। तब राजा दो वचन मांगने को कहते है तो रानी कैकेयी राम को बनवास और भरत को राज गद्दी मांगती है। जिस पर राजा दशरथ की हालत बिगड़ जाती है, बाद में राम सीता व लक्ष्मण बनवास के लिए वन चले जाते हैं।वन जाने का दृश्य राम लीला मंचन देख रहे लोग कलाकारों का अभिनय देख कर मंत्र मुग्ध हो गए।

इस मौके पर सुशील गोस्वामी जी महाराज, राजकुमार नागर, शेर सिंह भाटी, अध्यक्ष आनंद भाटी, बालकिशन सफीपुर, धीरेंद्र भाटी, सुशील नागर, अजय नागर, ममता तिवारी, पी पी एस नागर, प्रदीप पंडित, महेश शर्मा, मीडिया प्रभारी चैनपाल प्रधान समेत मंचन देखने के लिए मैदान में भारी संख्या में भीड़ उमड़ी।

Leave a Reply