प्रधानमंत्री – मुख्यमंत्री के आगमन के दिन भी जिले में विद्युत आपूर्ति को लेकर हाहाकार, क्या बिना ऊर्जा बनेगी औद्योगिक राजधानी ?

आशीष केडिया

(09/07/2018)

आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ गौतम बुद्ध नगर जिले में आ रहे हैं। ऐसे में पलक-पांवड़े बिछाए बैठे प्रशाशन से नागरिकों को उम्मीद थी की कम से कम आज के दिन तो हर रोज होने वाली परेशानियों से निजात मिलेगी। पर सब मंसूबों पर पानी फेर बिजली विभाग ने अपनी मनमानी आज भी जारी रखी । ग्रेटर नोएडा के कई सेक्टरों में घंटों से लगातार विद्युत आपूर्ति बाधित है। इतनी गर्मी में ग्रेटर नोएडा वासी बिजली ना होने से हलकान बैठे हैं। एनपीसीएल के ख़िलाफ़ आंदोलन की भी रणनीति बनाई जा रही है।

ग्रेटर नोएडा के वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता मनोज गर्ग ने अघोषित बिजली कटौती पर भारी रोष प्रकट किया। पी 3 निवासी अधिवक्ता आदित्य भाटी ने भी लगातार होती कटौती के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई। सामाजिक कार्यकर्ता हरिंदर भाटी ने बताया कि हालात ग्रेटर नोएडा के गांवों में और भी बुरे हैं।

प्रधानमंत्री – मुख्यमंत्री के दौरे के दिन भी ऐसी अघोषित कटौती विभाग पर सवालिया निशान पैदा करती है। जहां एक तरफ सूबे के मुखिया जिले को औद्योगिक राजधानी बनाने का सपना देख रहे हैं वहीं दूसरी ओर बिजली आपूर्ति के लिए जिम्मेदार विभाग नागरिकों को उनकी जरूरत भर की भी ऊर्जा उपलब्ध नहीं करा पा रहा। ऐसे में सवाल उठना लाजमी है कि क्या बिना ऊर्जा के चलेंगी नोएडा ग्रेटर नोएडा की कंपनियां या वहां आपूर्ति देने का खामियाजा यहां के निवासियों को तपती गर्मी में बिना बिजली के गुज़र बसर कर उठाना पड़ेगा?

Leave a Reply