नोएडा प्रधिकरण और भाकियू के बीच वार्ता हु ई विफ़ल, भाकियू ने वार्ता का किया बहिष्कार

भाकियू के प्रदेश अध्यक्ष राजबीर सिह जादौन दुवारा आज किसानों के मुदो को लेकर

सीईओ आलोक टंडन से वार्ता हुई।

वार्ता में 64.7 बडा हुआ मुआवज़ा 10% किसानो को मिलने वाला प्लाट आबादी, शिफ़्टिंग की नीति,रोज़गार की नीति, आबादी निसतारण, लीज़ बैक पर चाहे किसान कोट गया हे या नही जिसे मुदो पे

वार्ता हुई | पर आपसी सहमति ना बान पाने के कारण

भाकियू ने वार्ता का बहिष्कार कर दिया और वार्ता विफल रही |

सीईओ आलोक टंडन ने 10% मिलने वाला किसानो को प्लाट सहित उक्त मुददों पर ठोस कार्यवाही कर साशन को पत्र भेजा जायेगा जल्द ही किसानो के सभी मुद्दों को हल किया जायेगा किसानो को दिया अशवासन सभा के प्रवक्ता पवन खटाना ने कहा कि भाकियू उक्त मुद्दों पर इसलिए आंदोलनरत है क्योंकि इनका समाधान प्राधिकरण व सरकार ने जानबूझकर वर्षों से नहीं किया है | यह प्रस्ताव पिछले कई वर्षों से लम्बित है इस मुद्दे पर भाकियू 25 दिन से आंदोलन कर जिला मुखयालय पर धरने पर हैं किसान इससे कम पर कभी समझौता नहीं करेंगे किसानों के लिए आबादी शिफ़्टिंग नीति का शासन से पास होना, शासन से 10% आबादी का प्रस्ताव,रोज़गार की नीति के बिना समझौता करने का कोई औचित्य नहीं हैं |

प्रदेश अध्यक्ष राजबीर सिह जादौन जी ने कहा कि जो मांगे उठाई गई है इसके हल होने तक कोई समझौता नहीं किया जायेगा। सुभाष चौधरी ने कहा कि पूरा क्षेत्र उक्त विषयों पर गम्भीर है और सीईओ महोदय जब तक 10% अतिरिक्त भूमि व शिफ़्टिंग नीति व रोज़गार नीति शासन से पास नहीं करा देते भाकियू का धरना जारी रहेगा | प्राधिकरण पर आरोप लगाया कि प्राधिकरण किसानों की समस्या को हल करे बिना आंदोलन को समाप्त करना चाहता है |भाकियू ने वार्ता का बहिष्कार कर दिया | वार्ता विफल रही |

Leave a Reply