लॉयड लॉ कॉलेज में “दो दिवसीय आल इंडिया लॉ ज ॉब फेस्ट” का समापन कार्यक्रम हुआ.

आज लॉयड लॉ कॉलेज में "दो दिवसीय आल इंडिया लॉ जॉब फेस्ट" का समापन कार्यक्रम हुआ .कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सिद्धार्थ लूथरा (वरिष्ठ अधिवक्ता ,सर्वोच्च न्यायलय ) एवं ललित भसीन (प्रेजिडेंट ,सोसाइटी ऑफ़ इंडियन लॉ फर्म्स ) थे . जॉब फेस्ट में ८० कंपनी आई थी और विभिन्न राज्यों से १००० विद्यार्थियों ने भाग लिया .

प्रमुख मल्टीनेशनल कम्पनी जैसे भारत हैवी इलेक्ट्रॉनिक्स लिमटेड . (BHEL); एच डी ऍफ़ सी बैंक ,आई सी आई बैंक ,कोटक महिंद्रा बैंक ,इस बी आई लाइफ , सिंघानिया एंड पार्टनर्स सॉलिसिटर एंड एडवोकेट्स ; पेटेंटविरे कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमटेड . | पेटेंट & टेक्नोलॉजी कंसल्टेंट्स ; जिंदल स्टील एंड पावर लिमटेड .; लिटिगेशन एसोसिएट , फॉक्स एंड मंडल . आदि भी आईं .

मुख्य अतिथि सिद्धार्थ लूथरा ने कहा की आज के समय लॉ की पढाई में सारी सुविधाएं उपलब्ध हैं .विविध प्रकार की तकनीकी उपलब्ध हैं.लॉ के क्षेत्र में भी विभिन्न प्रकार के उप क्षेत्र हैं .आज लॉ क्षेत्र में लॉ फर्म्स ,एल पी ओ ,लीगल सर्विसेज कम्पनी ,लॉ प्रैक्टिस ,बैंक ,सरकारी जॉब ,न्यायिक सेवाएं ,ऐन जी ओ ,आदि क्षेत्र हैं .आज अगर आप सही से मेहनत करते हैं तो आसानी से धन कमा सकते हैं .पुराने समय में न तो इतनी सुविधाएं थी और न ही धन कमाना इतना आसान था .आज के समय में अन्य क्षेत्रों के साथ लॉ क्षेत्र में भी रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं . लॉ कॉलेजों के इस तरह के प्रयास सराहनीय हैं .सरकार को महाविद्यालयों और प्राइवेट कंपनियों के साथ मिलकर रोजगार का सृजन करना चाहिए .हर कॉलेज को रोजगार दिलाने के प्रण के साथ ही विद्यार्थी का प्रवेश लेना चाहिए .रोजगार मेला एक स्वयंवर की तरह होता है जिसमे कंपनियां आकर योग्य छात्र का चयन करता है .सपने जरूर देखने चाहिए और उन्हें पूरा करने के लिए पूरी मेहनत करनी चाहिए .

ललित भसीन (प्रेजिडेंट ,सोसाइटी ऑफ़ इंडियन लॉ फर्म्स ) ने कहा की वो प्रत्येक वर्ष होने वाले इस लॉ जॉब फेस्ट में देश भर की लॉ फर्म को आमंत्रित करेंगे .उन्होंने कहा की सरकार जॉब बढ़ाने पर और काम करे जिससे देश की सामाजिक व आर्थिक दशा में सुधर हो .भारत प्रतिभाओं का देश है .प्रतिभा होते हुए भी छात्रों को रोजगार नहीं मिलता .सरकार को व्यापार में वृद्धि करनी चाहिए जिससे और अधिक रोजगार की वृद्धि हो सके .आज विस्व में भारत बहुत तेजी से प्रगति कर रहा है जिसका कारन उसकी युवा शक्ति है.युवा शक्ति को अधिक सहेजने की और उसका उचित प्रयोग करने की जरूरत है .

कॉलेज के चैयरमेन मनोहर थीरानी ने कहा की लॉ का क्षेत्र काफी उन्नत और विकास शील हो रहा है. लॉ क्षेत्र में भविष्य में जॉब की असीम संभावनाएं हैं .लॉ संस्थानों में शोध केंद्र भी होने चाहिए जो यह पता लगाएं की विधिक व्यवस्था में कहाँ कमी रह गई और पता लगाकर उनके निदान का सुझाव दे .सरकार को रोजगार के लिए भौगोलिक क्षेत्र के आधार पर विभाजन कर देना चाहिए.हर एक क्षेत्र से कुछ संख्या कंपनियों को रखना अनिवार्य हो .सरकार को रोजगार के निर्माण के लिए महाविद्यालयों ,कंपनियों का सहयोग लेना चाहिए .