लॉयड लॉ कॉलेज में दो दिवसीय आल इंडिया जॉब फ ेस्ट का उद्घाटन

लॉयड लॉ कॉलेज में ऑलइंडिया जॉब फेस्ट का आरम्भ हुआ .कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि , पी .ऐस . नरसिम्हा( एडिशनल सॉलिसिटर जनरल , सुप्रीम कोर्ट ऑफ़ इंडिया) ने किया .विशेष अतिथि के एन शर्मा (जॉइंट सेक्रेटरी ) .जॉब फेस्ट दो दिन चलेगा .फेस्ट में 80 कम्पनी आयी .पूरे भारत से 5०० विद्यार्थियों ने जॉब फेस्ट में भाग लिया . प्रमुख मल्टीनेशनल कम्पनी जैसे भारत हैवी इलेक्ट्रॉनिक्स लिमटेड . (BHEL); एच डी ऍफ़ सी बैंक ,आई सी आई बैंक ,कोटक महिंद्रा बैंक ,इस बी आई लाइफ , सिंघानिया एंड पार्टनर्स सॉलिसिटर एंड एडवोकेट्स ; पेटेंटविरे कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमटेड . | पेटेंट & टेक्नोलॉजी कंसल्टेंट्स ; जिंदल स्टील एंड पावर लिमटेड .; लिटिगेशन एसोसिएट , फॉक्स एंड मंडल . आदि भी आईं .

मुख्य अतिथि ने कॉलेज को बधाई देते हुए कहा की उनका सपना है की हर एक लॉ के विद्यार्थी को जॉब मिल जाए वो यहाँ पूरा होता हुआ दिख रहा है .उन्होंने वहां उपस्तिथ कंपनियों से अनुरोध किया की ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों को चयन करें .उन्होंने कहा की कंपनियों और कॉलेज के सहयोग से भारत के लॉ के छात्रों को जॉब के लिए प्रशिक्षित किया जा सकता है .उन्होंने कहा की लॉ कॉलेज और कंपनियों का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों को जॉब प्रदान करवाना हो .कॉलेज केवल किताबी ज्ञान ही न प्रदान करे बल्कि छात्रों को व्यवहारिक एवं रोजगारपरक ज्ञान भी प्रदान करे .केवल डिग्री से कोई फायदा नहीं .डिग्री के साथ रोजगार परमावश्यक है .शिक्षा को रोजगारोन्मख बनाना ही उचित है .सरकार भी रोजगार पर कई योजनाए बना रही है .सरकार द्वारा कौशल विकास पर इसीलिए जोर दिया जा रहा है की व्यक्ति जितना भी पढ़ा है उस पर भी रोजगार प्राप्त कर सके . उन्होंने कहा की हमारा कर्त्तव्य यह है की अपने रोजगार के साथ समाज में जरुरतमंद को मुफ्त विधिक सहायता की सुविधाएं भी आसानी से पहुचाएं .उन्होंने कहा युवाओं के पास बहोत ऊर्जा होती है वो इसे सही दिशा में लगाएं.

कॉलेज के चैयरमेन मनोहर थीरानी ने कहा की लॉ का क्षेत्र काफी उन्नत और विकास शील हो रहा है. लॉ क्षेत्र में भविष्य में जॉब की असीम संभावनाएं हैं .लॉ संस्थानों में शोध केंद्र भी होने चाहिए जो यह पता लगाएं की विधिक व्यवस्था में कहाँ कमी रह गई और पता लगाकर उनके निदान का सुझाव दे .सरकार को रोजगार के लिए भौगोलिक क्षेत्र के आधार पर विभाजन कर देना चाहिए.हर एक क्षेत्र से कुछ संख्या कंपनियों को रखना अनिवार्य हो .सरकार को रोजगार के निर्माण के लिए महाविद्यालयों ,कंपनियों का सहयोग लेना चाहिए .

यह कार्यक्रम दो दिन चलेगा .दुसरे दिन के मुख्य अतिथि राम जेठ मालाणी और सिद्धार्थ लूथरा होंगे .

Leave a Reply