Daily Archive: December 26, 2018

नोएडा में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, बावरिया गैंग के तीन बदमाश घायल

ब्रेकिंग न्यूज़:-नोएडा के थाना सेक्टर 20 क्षेत्र के सेक्टर 14A में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ तीन बदमाशों को लगी गोली सभी बदमाश बावरिया ग्रुप सक्रिय सदस्य बताए जा रहे हैं। मौके से पुलिस ने अवैध हथियार सहित कुछ कारतूस किये बरामद। घायलों को जिला अस्पताल में कराया भर्ती, और आपराधिक इतिहास खंगलाने में जुटी पुलिस।

एनपीसीएल ने मल्टी पॉइंट कनेक्शन को लेकर 17 ग्रुप हाउसिंग सोसाइटियों का किया सर्वे

एनपीसीएल ने मुलती पॉइंट कनेक्शन को लेकर 17 ग्रुप हाउसिंग सोसाइटियों का किया सर्वे

नोएडा पावर कंपनी (एनपीसीएल) ने मल्टी प्वाइंट कनेक्शन को लेकर 17 ग्रुप हाउसिंग सोसायटियों के सर्वे का काम पूरा कर लिया है। सर्वे करने के बाद एनपीसीएल ने परिवर्तन पर आने वाले खर्च का ब्योरा मांगा है। उसके बाद एनपीसीएल का आंकलन कर खर्च को मान्य करेगा, तभी बिल्डर स्थानीय निवासियों से मल्टी प्वाइंट कनेक्शन का खर्च मांग सकेगा।

विद्युत नियामक आयोग के आदेश पर एनपीसीएल ने ग्रेटर नोएडा और ग्रेनो वेस्ट की 138 ग्रुप हाउसिंग सोसायटियों को पत्र भेजकर जरूरी जानकारी मांगी थी, लेकिन 100 से अधिक सोसायटियों की तरफ से कोई जवाब नहीं आया। कुछ ने जवाब दिया, लेकिन जानकारी नहीं दी। करीब 20 सोसायटियों ने मल्टी प्वाइंट कनेक्शन में रुचि ली। इनमें से एनपीसीएल ने 17 सोसायटियों के सर्वे का काम पूरा कर लिया है।
दो में परिवर्तन का काम पूरा हो गया है और दो में काम चल रहा है। बाकी 13 में बिल्डरों से जवाब मांगा है। एनपीसीएल के जीएम सारनाथ गांगुली ने बताया कि ग्रेनो वेस्ट में पंचशील बिल्डटेक बिल्डर की तीन सोसायटी हैं। वहां का सर्वे पूरा हो गया है। अलग-अलग कनेक्शन देने का काम शुरू करने से पहले बिल्डर से पूछा गया है कि इस पर कितना खर्च आएगा।

उत्तराखंड समिति ने मजदूरों एवं गरीब बच्चों को कम्बल एवं गर्म कपड़े बांटकर मनाया क्रिसमस डे

उत्तराखंड समिति ने मजदूरों एवं गरीब बच्चों को कम्बल एवं गर्म कपड़े बांटकर मनाया क्रिसमस डे

शहर की सामाजिक संस्था उत्तराखंड सांस्कृतिक समिति के सदस्यों ने 25 दिसम्बर को ग्रेटर नोएडा में निर्माणाधीन ईमारतों में काम कर रहे मजदूरों एवं उनके बच्चों के साथ क्रिसमस डे मनाया. इस मौके पर संस्था को ओर से झुग्गियों में जाकर गरीब मजदूरों एवं उनके बच्चों को कम्बल, गर्म कपड़े एवं बिस्कुट्स वितरित किये गए. बता दें कि ग्रेटर नोएडा की सामाजिक संस्था “उत्तराखंड सांस्कृतिक समिति” पिछले 7-8 वर्षों से लगातार निर्माणाधीन ईमारतों में काम कर रहे मजदूरों एवं निर्धन वर्ग के बच्चों को कम्बल, गर्म कपड़े तथा स्टेशनरी आदि वितिरित करती आ रही है. इसी क्रम में मंगलवार को सुबह 10.30 बजे समिति के सदस्यों ने ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की निर्माणाधीन ईमारत में मनीषा प्रोजेक्ट के अंडर काम कर रहे मजदूरों को 100 कम्बल, तथा पास की झुग्गियों में रह रहे उनके बच्चों एवं महिलाओं को शौल, स्वेटर, जाकेट व् अन्य गर्म कपड़े तथा बिस्कुट वितरित किये।

फुटपाथ पर सो रहे बेसहारा लोगों में बांटे गर्म कम्बल

इसके अलावा देर शाम डेल्टा-1, पेट्रोल पंप के पास बनी झुगियों में रह रहे गरीब परिवारों में भी संस्था के सदस्यों ने कम्बल, गर्म कपड़े एवं बिस्कुट वितरित किये। इसके बाद कुछ सदस्यों ने रात करीब 10 बजे जगत फार्म मार्किट के आसपास फुटपाथ पर सो रहे बेसहारा लोगों को कम्बल वितरित किये।

इस सामाजिक अभियान में उत्तराखंड सांस्कृतिक समिति के अध्यक्ष जेपीएस रावत, आर सी शर्मा, जनेंद्रपाल रावत, ओपी ध्यानी, हेम पाण्डेय, एन.ए.स पुंडीर, के.एन. लखेड़ा, डी.एस. नेगी, सुबोध नेगी, के.के. पंत, अशोक उपाध्याय, सुशील डबराल, के.एन कांडपाल, जयप्रकाश रावत, सत्येन्द्र नेगी, आजाद मोहन, बच्ची राम रतूड़ी, संतोष शाह, हेम भट्ट, दिलीप नेगी, सतीश गैरोला, एन.एस. नेगी, योगेश जोशी, सुभाष मुन्डेपी आदि मौजूद थे।

उत्तराखंड समिति ने मजदूरों एवं गरीब बच्चो ं को कम्बल एवं गर्म कपड़े बांटकर मनाया क्रिसमस डे.

ग्रेटर नोएडा: शहर की सामाजिक संस्था उत्तराखंड सांस्कृतिक समिति के सदस्यों ने 25 दिसम्बर को ग्रेटर नोएडा में निर्माणाधीन ईमारतों में काम कर रहे मजदूरों एवं उनके बच्चों के साथ क्रिसमस डे मनाया. इस मौके पर संस्था को ओर से झुग्गियों में जाकर गरीब मजदूरों एवं उनके बच्चों को कम्बल, गर्म कपड़े एवं बिस्कुट्स वितरित किये गए. बता दें कि ग्रेटर नोएडा की सामाजिक संस्था “उत्तराखंड सांस्कृतिक समिति” पिछले 7-8 वर्षों से लगातार निर्माणाधीन ईमारतों में काम कर रहे मजदूरों एवं निर्धन वर्ग के बच्चों को कम्बल, गर्म कपड़े तथा स्टेशनरी आदि वितिरित करती आ रही है. इसी क्रम में मंगलवार को सुबह 10.30 बजे समिति के सदस्यों ने ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की निर्माणाधीन ईमारत में मनीषा प्रोजेक्ट के अंडर काम कर रहे मजदूरों को 100 कम्बल, तथा पास की झुग्गियों में रह रहे उनके बच्चों एवं महिलाओं को शौल, स्वेटर, जाकेट व् अन्य गर्म कपड़े तथा बिस्कुट वितरित किये।

फुटपाथ पर सो रहे बेसहारा लोगों में बांटे गर्म कम्बल

इसके अलावा देर शाम डेल्टा-1, पेट्रोल पंप के पास बनी झुगियों में रह रहे गरीब परिवारों में भी संस्था के सदस्यों ने कम्बल, गर्म कपड़े एवं बिस्कुट वितरित किये। इसके बाद कुछ सदस्यों ने रात करीब 10 बजे जगत फार्म मार्किट के आसपास फुटपाथ पर सो रहे बेसहारा लोगों को कम्बल वितरित किये।

इस सामाजिक अभियान में उत्तराखंड सांस्कृतिक समिति के अध्यक्ष जेपीएस रावत, आर सी शर्मा, जनेंद्रपाल रावत, ओपी ध्यानी, हेम पाण्डेय, एन.ए.स पुंडीर, के.एन. लखेड़ा, डी.एस. नेगी, सुबोध नेगी, के.के. पंत, अशोक उपाध्याय, सुशील डबराल, के.एन कांडपाल, जयप्रकाश रावत, सत्येन्द्र नेगी, आजाद मोहन, बच्ची राम रतूड़ी, संतोष शाह, हेम भट्ट, दिलीप नेगी, सतीश गैरोला, एन.एस. नेगी, योगेश जोशी, सुभाष मुन्डेपी आदि मौजूद थे।

किसानों ने किया जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव, उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

ग्रेटर नोएडा - किसान यूनियन ने किया ज़िला अधिकारी कार्यालय का घेराव , किसानों द्वारा बढ़ते हुए मुआवज़े की माँग को लेकर ज़िला अधिकारी कार्यालय के अंदर धरना जारी किसानों द्वारा 30 मिनट का दिया गया अल्टिमेट, अधिकारी आकर करे बात वरना होगा बड़ा उग्र आंदोलन , मौक़े पर पुलिस बल तैनात
ग्रेटर नोएडा – किसान यूनियन  ने किया  ज़िला अधिकारी कार्यालय का घेराव , किसानों द्वारा बढ़ते हुए मुआवज़े की माँग को लेकर ज़िला अधिकारी कार्यालय के अंदर धरना जारी
किसानों द्वारा 30 मिनट का दिया गया अल्टिमेट, अधिकारी आकर करे बात वरना होगा बड़ा उग्र आंदोलन , मौक़े पर पुलिस बल तैनात

सेक्टर-37 में बिना अनुमति की जा रही थी भगवत कथा, प्राधिकरण ने उखाड़ा टेंट

ग्रेटर नोएडा के 37 सेक्टर में प्राधिकरण की जमीन पर बिना अनुमति भागवत कथा करने के लिए लगाए गए टेंट को अथॉरिटी के दस्ते ने हटाया, जानकारी के अनुसार कथा की आड़ में की जानी थी मूर्ति की स्थापना, जिसकी शिकायत आरडब्ल्यूए ने प्राधिकरण के अधिकारियों से की थी

ग्रेटर नोएडा के 37 सेक्टर में प्राधिकरण की जमीन पर बिना अनुमति भागवत कथा करने के लिए लगाए गए टेंट को अथॉरिटी के दस्ते ने हटाया, जानकारी के अनुसार कथा की आड़ में की जानी थी मूर्ति की स्थापना, जिसकी शिकायत आरडब्ल्यूए ने प्राधिकरण के अधिकारियों से की थी