Daily Archive: September 20, 2018

Two absconding accused in many cases arrested by Phase II police

Today Greater Noida police had arrested two accused who bereft of under different case registered against them under different police station of region. Phase II police arrested both the accused during a routine checking drive. Police had recovered one knife from each one of them along with a Vivo mobile.

Both the accused were identified as Ashok a resident Bulandshar while his accomplice Sarvesh a resident of Gautam Budh Nagar. Both the accused are had a long criminal in past also. Now they are being sent to jail.

हेमवती नन्दन बहुगुणा की स्मृति में गलगोट िया कॉलेज में वाद-विवाद प्रतियोगिता का हुआ आ योजन

19 सितंबर को गलगोटिया कॉलेज ऑफ़ इन्जीनियरिंग एण्ड टैक्नलॉजी के परिसर में सोशल मीडिया जीवन का एक तरीक़ा बन गया है। “सोशल मीडिया वरदान है या अभिशाप” इस विषय पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व हेमवती नन्दन बहुगुणा जी के जन्म शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में अखिल भारतीय हेमवती नन्दन बहुगुणा स्मृति समिति के तत्वाधान में एक बहुत ही सफल वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि के रूप में पहुँची कैबिनेट मंत्री उ० प्र० सरकार में मंत्री रीता बहुगुणा ने चांसलर सुनील गलगोटिया वाइस-चॉन्सलर प्रो रेनु लूथरा और सीईओ ध्रुव गलगोटिया के साथ मिलकर अपने हाथों से दीप-प्रज्ज्वलित करके किया।

वाइस-चॉन्सलर ऑफ़ गलगोटियास यूनिवर्सिटी प्रो रेनु लूथरा ने अपने अभिभाषण में मुख्य अतिथि जी का स्वागत करते हुए कहा कि हम आपका ह्रदय से आभार व्यक्त करते हैं कि आप हमारे यहाँ पर मुख्य अतिथि के रूप में पधारी हैं।

कार्यक्रम के आगे की श्रृंखला में गलगोटियास विश्वविद्यालय के 20 विद्यार्थियों ने प्रतिभागी के रूप में हिस्सा लेते हुए अपने-अपने पक्ष को बहुत ही ज़ोरदार तरीक़े से प्रस्तुत किया। दर्शक-दीर्घा में बैठे लगभग 500 विद्यार्थियों से खचाखच भरे हुए ऑडिटोरियम में बार-बार तालियों की गडागडाहट होती रही। हर कोई प्रतिभागी अपनी-अपनी बात को बहुत ही सटीक प्रमाणों और पूरे आत्मविश्वास के साथ बोल रहे थे जिसका परिणाम ये था कि पूरा परिसर तालियाँ के साथ-साथ बार-बार ठहाकों से भी गूँजता रहा।

रीता बहुगुणा ने गलगोटियास विश्वविद्यालय का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सभी छात्रों का प्रेजेंटेशन इतना ज़बर्दस्त था कि हमें उनकी प्रतिभा पर नाज है ये बच्चे कल के भारत के उज्जवल भविष्य के निर्माण में अपनी एक महत्वपूर्ण भूमिका अवश्य निभायेंगे। सोशल मीडिया के विषय में उन्होंने कहा कि ये हम सबके अपने ऊपर है हम चाहें जैसे भी उसका प्रयोग कर सकते हैं। अच्छे के लिये भी और बुरे के लिये बुरा भी है ।

सीईओ ध्रुव गलगोटिया ने कार्यक्रम की कोरडीनेटर प्रो डा आदर्श गर्ग, अमन तिवारी और स्टूडेंट्स वोलैंटीयर के अथक प्रयासों की बहुत ही सराहना की।
कार्यक्रम केअंतिम पड़ाव में प्रतियोगिता के न्यायाधीश प्रो एमटीएम खान, प्रो वंदना पाण्डेय, प्रो शुचि यादव की खण्डपीठ ने कहा कि युवाओं को प्रौद्योगिकी के साथ-साथ मिश्रित संस्कार वाला दृष्टिकोण होना चाहिये।

प्रो एमटीएम खान ने प्रतियोगिता का परिणाम घोषित करते हुए विपक्ष में विश्वरत्न शुक्ला और शुभांगी श्रीवास्तव और पक्ष में मिहिका गुप्ता और आदर्श श्रीवास्तव की विजयी होने की घोषणा के साथ-साथ उनको शुभकामनाएँ दी अब ये सभी विजयी विद्यार्थी अगली प्रतियोगिता के लिये 22 सितम्बर 2018 को लखनऊ विश्वविद्यालय में हिस्सा लेंगे।

Dibrugarh University NSS Units launch Pledge for Life Campaign

Dibrugarh, 20 September, Pledge for Life Campaign, which aims at saving children from tobacco, was launched in Dibrugarh University, all its colleges and communities. The Pledge for Life campaign aims at preventing children from initiating the use of tobacco. The National Service Scheme (NSS) in Assam has more than 2 lakh volunteers. Under this programme, several activities like sensitization, debates, poster competitions, rallies etc will be conducted to create awareness among college students. Additionally, one day during the 7 day camps will be devoted exclusively to tobacco control. Two nodal students will be appointed in each NSS unit who will be responsible for monitoring the activities.

The workshop was organised, jointly by NSS Dibrugarh, Assam Cancer Care Foundation (ACCF) (an initiative of Tata Trusts and the Government of Assam), Cachar Cancer Hospital, and Sambandh Health Foundation(SHF). The NSS programme coordinator and 15 programme officers from Dibrugarh University attended this workshop.

A very fruitful interaction with the college students and NSS volunteers of Dibrugarh University also took place. The team from Sambandh apprised the students of the epidemic of tobacco in Assam and India. Students were shocked to learn that tobacco harms every organ of the body and leaves families devastated with the suffering. Students came forward during the discussion and gave ideas to prevent themselves, their peers and communities around them from this deadly product.

Mr. Himadri Barman, Assistant Programme Coordinator NSS Cell Dibrugarh University said, “This is a noble cause and we from NSS want to be part of the solution against the menace of tobacco. NSS units will be working in our region on Pledge For Life campaign. ACCF is organizing a cancer screening camp in the next couple of months and we at NSS will support that as well.”

Dr Gayatri Gogoi of Voice of Tobacco Victims explained in detail the harmful effects of tobacco. She said “Oral cancer is very preventable. We applaud the NSS initiative in this regard.”

Two Programme Officers who attended the prior workshop shared their experiences with the audience. Between them, they had sensitized over 1,900 students in their own colleges and also nearby colleges. Dr Rimjim Borah, Assistant Professor Gargaon College said, “our students were very excited about this activity and believe that it is a meaningful use of their time.”

As per Global Adult Tobacco Survey 2017, Assam has 1.05 crore tobacco users which is 48.2%. More than 34,000 deaths per annum are occurring in the state of Assam only due to tobacco consumption and the biggest concern is that 140 children everyday start using tobacco in some form in the state.

Applauding efforts of NSS, Pradeep Mathur, Trustee, Sambandh Health Foundation(SHF), said, “With 2 lakh volunteers in NSS, great social reform can be brought in order to save our future generation from tobacco.”

बाबा रामदेव होंगे ‘भारतात्मा अशोक सिंघल व ैदिक पुरस्कार’ के मुख्य अतिथि

विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक सिंघल की याद में संपूर्ण भारत में वैदिक शिक्षा के प्रचार ,प्रसार और प्रोत्साहन के लिए सिंघल फाउंडेशन द्वारा 25 सितम्बर को चिन्मया मिशन के सभा घर में देश के सभी वैदिक स्कूलों से आई प्रविष्टियों में तीन श्रेणियों में “भारतात्मा अशोकजी सिंघल वैदिक पुरस्कार” प्रदान किया जाएगा। यह पुरस्कार वैदिक शिक्षा देने वाले सर्वश्रेष्ठ विद्यालय, वेदज्ञान में सर्वश्रेष्ठ विद्यार्थी और वेद पढ़ाने वाले सर्वश्रेष्ठ शिक्षक को दिया जाएगा।

वैदिक पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्या अतिथि श्री स्वामी रामदेव होंगे और श्री राजनाथ सिंह (गृह मंत्री, भारत सरकार ) इसकी अध्यक्षता करेंगे । प्रथम पुरस्कार पाने वाले छात्र को तीन लाख रुपये, शिक्षक को पांच लाख रुपये और विद्यालय को सात लाख रुपये की पुरस्कार राशि प्रदान की जाएगी।

सिंघल फाउंडेशन के ट्रस्टी सलिल सिंघल ने कहा, “श्रद्वेय अशोकजी सिंघल हिंदुत्व के अग्रणीय अधिवक्ता थे, पर साथ-साथ वेदों के भी ज्ञाता थे। उन्हें वेद के पठन-पाठन में विशेष रुचि थी। उनके प्रयास से देश में कई वैदिक विद्यालय की स्थापना भी की गई थी। वेदों के प्रति उनके लगाव को देखते हुए हमने उनकी याद में वैदिक पुरस्कार देने का निर्णय लिया है”। इसके लिए सभी वैदिक विद्यालयों से प्रविष्टि मंगाई गई।

सलिल सिंघल के अनुसार विद्यालयों से तीनों श्रेणियों में अपनी-अपनी प्रविष्टि भेजने को कहा गया। 10 जुलाई तक आने वाली प्रविष्टियों पर विचार करने के लिए तीन समितियों का गठन किया गया। इन समितियों ने प्रविष्टि भेजने वाले सभी स्कूलों का दौरा किया। छात्रों और शिक्षकों का साक्षात्कार लिया। फिर अपनी ओर से तीनों श्रेणियों में सर्वश्रेष्ठ तीन-तीन विजेताओं के नाम की सिफारिश की। इन सिफारिशों पर विचार करने का काम पांच देश के जाने मने वैदिक विशेषज्ञों कीज्यूरीने किया और अंतत: एक-एक विजेताओं का चयन किया गया।

उन्होंने कहा कि यह पुरस्कार हर साल दिया जाएगा ताकि देश में वैदिक शिक्षा को प्रोत्साहन मिल सके। आपको बता दे की पिछले साल भी वैदिक पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन सफलता पूर्वक किया गया था.

पिछले साल पुरस्कार पाने वालो में सर्वश्रेष्ठ विद्यालय श्री समर्थ वेद्विध्यालय, सर्वश्रेष्ठ शिक्षक श्रीमान वी. राजगोपाल घनपाठी तथा सर्वश्रेष्ठ विद्यार्थी श्री सागर शर्मा थे

सर्वश्रेष्ठ शिक्षक का पुरस्कार पाने वाले तमिलनाडु निवासी श्री वी राजगोपाल घन्पाठी ने बताया की “सर्वश्रेष्ठ शिक्षक का पुरस्कार पाना मेरे लिए बेहद गर्व की बात है इससे बाद मै वेदक्षेत्र में कार्य करने और बेहतर योगदान देने के लिए और भी उत्साहित हु.”

youth stabbed by robbers as he tried to nab them

In an incident under Dankur police station two robbers while attempting a robbery in house injured a youth when he tied to nab them. Two thieves entered a house situated in Jhajar road for attempting a robbery. Meanwhile a youth watched them tried to nab them, as he overpowered one of the thief his other accomplice stabbed the youth with a knife leading grievous injuries to him. After that both the thieves flee from the spot.