Daily Archive: September 4, 2018

करप्शन फ्री इंडिया संगठनब ने विकास भवन में गंदगियों के अंबार पर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा

मंगलवार को करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने जिला अधिकारी कार्यालय सूरजपुर पर प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट गुंजा सिंह को सौंपा। ज्ञापन में जिला विकास भवन के शौचालय में गंदगी व अधिकारियों द्वारा स्वच्छता अभियान को पलीता लगाने के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। यह प्रदर्शन संगठन के जिला महासचिव मनीष भाटी बीडीसी के नेतृत्व में किया गया।
करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि आज संगठन के कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर सीडीओ ऑफिस में गंदगी व शौचालय की साफ-सफाई न होने पर जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की । उन्होंने कहा की करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कुछ पदाधिकारी समस्याओं को लेकर विकास भवन पहुंचे तो देखा कि विकास भवन में बने शौचालय गंदगी से अटे हुए थे।चौधरी प्रवीण भारतीय ने कहां की ज्ञापन के माध्यम से मांग की है कि उचित जांच हो और अधिकारियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई व इनके तबादले किए जाएं।
संगठन के जिला अध्यक्ष मा. दिनेश नागर ने कहा की जिस भवन से जिले के विकास की योजनाएं एवं केंद्र व राज्य सरकार की स्वच्छ भारत योजना की शुरुआत होती है उसी भवन में शौचालयों की यह स्थिति है तो कैसे जनपद गौतम बुद्ध नगर में  स्वच्छ भारत का मिशन पूरा होगा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों की इस लापरवाही से तो यह लगता है कि सरकार के द्वारा लाखों करोड़ों रुपए विज्ञापन के रूप में खर्च करना बेकार साबित होगा। उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही शौचालयों की साफ-सफाई नही की गयी तो संगठन धरना-प्रदर्शन करने को मजबूर होगा।
   इस दौरान जिलाध्यक्ष मा.दिनेश नागर, आलोक नागर ,गौरव तोमर, एडवोकेट परविंद्र तवर ,मनीष भाटी ,गौरव सत्यार्थी ,कुलबीर भाटी ,कपिल कुमार ,राहुल शर्मा, कुंजीलाल ,शिवम थानगढ़,विशाल तोगड़, अभिषेक भाटी ,एडवोकेट दिनेश भाटी आदि लोग उपस्थित रहे।

समाधान दिवस के अवसर पर डीएम और एसएसपी ने कैंप लगाकर शिकायतों का किया निराकरण

जनता की समस्याओं के निराकरण हेतु आज समाधान दिवस के अवसर पर डीएम बी एन सिंह एसएसपी अजय पाल शर्मा  द्वारा दादरी तहसील के सभागार में कैंप लगाकर जनता की शिकायतें सुनी। साथ उन्हें तत्काल निवरण का आश्वाशन भी दिलाया।