Daily Archive: July 5, 2018

बेसिक शिक्षा विभाग की बड़ी कार्यवाही अमान ्यता प्राप्त संचालित विद्यालयों की विरुद्ध च लाया गया विशेष अभियान

बेसिक शिक्षा विभाग की बड़ी कार्यवाही अमान्यता प्राप्त संचालित विद्यालयों की विरुद्ध चलाया गया विशेष अभियान

जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर बीएन सिंह के निर्देश पर जनपद में संचालित हो रहे अमान्यता प्राप्त विद्यालयों के विरुद्ध आज बड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की गई है। इस संबंध में आज दिनांक 5 जुलाई 2018 को विकासखंड जेवर क्षेत्र में गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों के संचालन बंद कराने के लिए जगह जगह पर छापेमारी की गई इसमें सर्वप्रथम दयानंद पब्लिक स्कूल नीमका को बंद कराया गया जिस विद्यालय में बच्चों के लिए मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं थी विद्यालय में कक्षा 8 और 9 के बच्चों का भी को भी पढ़ाया जा रहा था उस विद्यालय को तत्काल बंद कराया गया ,उसके उपरांत एम डी पब्लिक स्कूल चोरौली वहां पर कक्षा 10 तक के बच्चों को पढ़ाया जा रहा था उसके उपरांत अमन प्रकाश पब्लिक स्कूल चौरोली के संचालक जब तक वहां पर छापेमारी की गई उससे पहले ही बंद करके भाग खड़े हुए फिर अमन पब्लिक स्कूल चोरौली के संचालक भी विद्यालय को बंद करके चले गए फिर KPS पब्लिक स्कूल के संचालक उदयवीर भी विद्यालय को बंद कर के वहां चले गये। सभी को नोटिस प्राप्त करा दिया गया है। भविष्य में अगर विद्यालय चलते हुए पाए गए तो उन पर जुर्माना लगाया जाएगा, जो कि मानक के अनुसार ₹100000 उसके उपरांत अगर प्रतिदिन स्कूल खुलता है तो ₹10000 प्रतिदिन से लगाया जाएगा।इस प्रकार विकासखंड जेवर में कुल 33 विद्यालय गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय चल रहे थे जिनमें से पूर्व में 15 विद्यालय गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय बंद कराए गए। चार आज बंद कराए गए। इस तरह से कुल 19 विद्यालय बंद हो गए। लेकिन साथ ही संज्ञान में आया है कि पूर्व में बंद कराए गए विद्यालय जीनियस पब्लिक स्कूल थोरा, सरस्वती बाल विद्यालय मंदिर थोरा, बोध मिशन विद्यालय थोरा कि पुणे संचालन की सूचना प्राप्त हुई है। उन पर तत्काल कार्यवाही करते हुए जुर्माना लगाते हुए कार्यवाही की जा रही है। यह जानकारी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बालमुकुंद प्रसाद के द्वारा दी गई

वन महोत्सव अभियान के दौरान आकांक्षा समिति ने किया वृक्षारोपण

वन विभाग के तत्वाधान में वन महोत्सव अभियान 1 से 7 जुलाई के दौरान आज 5 जुलाई को दनकौर ब्लॉक के इनायतपुर ग्राम में आकांक्षा समिति ने वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया। आकांक्षा समिति की पदेन अध्यक्ष जिलाधिकारी की पत्नी श्रीमती मीनल सिंह एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों की धर्म पत्नियों ने वृक्षारोपण में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। इस अभियान को सफल बनाने के लिए विधायक जेवर, श्धरेंद्र सिंह भी अपना आशीर्वाद देने मौके पर पहुंचे और उन्होंने अपने नाम का एक वृक्ष भी लगाया । कार्यक्रम में जिलाधिकारी बीएन सिंह एवं मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह अपर जिलाधिकारी कुमार विनीत उप जिलाधिकारी राजपाल सिंह एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारी सपत्नीक सम्मिलित हुए और अपने नाम का वृक्षारोपण किया। कार्यक्रम में सरस्वती ज्ञान मंदिर खेरली हाफिजपुर के लगभग सौ बच्चों और सीआरपीएफ के जवानों ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और वृक्षारोपण किया। इस अवसर पर माननीय विधायक जी ने समस्त अधिकारियों एवं जनपद वासियों का आह्वान किया कि प्रदूषण जानलेवा स्तर पर पहुंच गया है और इसे बचाने के लिए हम सबको वृक्षों और जंगलों को बचाना होगा और जहां भी रिक्त स्थान मिले वहां पर वृक्ष लगाना होगा।
कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी ने जनपद वासियों से आह्वान किया कि वह कम से कम एक वृक्ष अपने नाम का जरूर लगाएं और उसे जीवित भी रखें। आकांक्षा समिति की अध्यक्ष एवं जिलाधिकारी की धर्मपत्नी श्रीमती मीनल सिंह ने वृक्षों के महत्व को बताते हुए विद्यालय के बच्चों को उनके जन्मदिवस पर अपने नाम का एक वृक्ष लगाने का वादा कराया। कार्यक्रम का आयोजन प्रभागीय वनाधिकारी एच वी गिरीश के निर्देशन और विभागीय अधिकारियों की देखरेख में किया गया

नैक ने दिया आईआईएमटी, ग्रेटर नॉएडा को B++ ग्र ेड

ग्रेटर नोएड़ा के नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग को राष्ट्री़य मूल्यांरकन एवं प्रत्याकयन परिषद नैक द्वारा राष्ट्रीइय स्तार पर हुए मूल्यांाकन में सफल घोषित करते हुए B++ की उत्साकहवर्धक श्रेणी प्रदान किया गया। यह जानकारी आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने दी।

उन्होंंने इस शानदार उपलब्धिी के लिए कॉलेज समूह के शिक्षकों और विद्यार्थियों को बधाई दी है। उन्होंीने बताया कि कॉलेज की गुणवत्ता की जांच हेतु नैक की तीन सदस्यी य कमेटी ने कॉलेज का दो दिवसीय दौरा किया था । कमेटी ने कॉलेज के पिछले तीन साल का रिजल्ट्, प्लेदसमेंट, शोध कार्य, मूलभूत सुविधाओं, छात्रों द्वारा दिये गये फीडबैक और कई दौर की गहन जांच-परख के बाद आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग को इस मूल्यांीकन में सफल घोषित किया गया। आईआईएमटी में भारत सरकार द्वारा प्रदत्तज अनेक प्रोजेक्टय पर छात्र कार्य कर रहे हैं। इन सबका भी इस मूल्यांरकन में समायोजन किया गया।

अग्रवाल ने बताया कि आईआईएमटी कॉलेज समूह अपने अत्याधुनिक परिसर, सामयिक शिक्षा और उत्कृिष्ठॉ और उन्नत सुविधाओं के लिये जाना जाता है।
आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के निदेशक प्रोफेसर के रामाकृष्णा ने कहा कि आईआईएमटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में तकनीकी पाठ्यक्रम और कॉर्पोरेट जगत की मांग के बीच के अंतर को देखते हुए व्याबवहारिक शिक्षा दी जाती है । उन्होटने कहा कि इंजीनिरिंग के पाठ्यक्रम कई बार पुराने हो जाते हैं, जिस गति से बाजार में बदलाव होते हैं उस गति से पाठ्यक्रमों में बदलाव नहीं हो पाता। इसी मांग को देखते हुए परिसर में माइक्रोसॉफ्ट इमेजिन अकादमी का शुभारंभ किया गया। इस अकादमी में माइक्रोसॉफ्ट की विभिन्नस सॉफ्टवेयर का व्यांवहारिक प्रशिक्षण दिया जाएगा।

अकादमी को शुरु करने का उद्देश्यॉ इंजीनियरिंग के छात्र और छात्राओं को बाजार की मांग के अनुरूप तैयार करना है। प्रशिक्षण के बाद वे कार्पोरेट जगत में बढ़ रही प्रतिस्पकर्द्धा में खुद को साबित कर सकेंगे। इसके साथ ही संस्थान ने ओरेकल,आई.ई.ई.ई., टेक्सास इंस्ट्रूमेंट एंव सिसको आदि लैब भी परिसर में स्थासपित किया है। संस्थान का मकसद तकनीकि ज्ञान को व्यवहारिक ज्ञान से जोड़ना है ।

सर्वोच्च न्यायलय ने भी उच्च न्यायालय अला हाबाद के आदेश को माना सही

4 जुलाई को माननीय सर्वोच्च न्यायलय में, भारत के मुख्य न्यायाधीश, जस्टिस दीपक मिश्रा, माननीय जस्टिस ए.एम खानविलकर तथा माननीय जस्टिस डॉ डी वाय चंद्रचूड़ की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने श्री पंकज जैन के मुकद्दमे को ख़ारिज कर माननीय उच्च न्यायालय अलाहाबाद के आदेश को सही माना।

आर०डब्ल्यू०ए पूर्वांचल सिल्वर सिटी २ की लोकतान्त्रिक कार्यकरिणी के विरुद्ध कुछ चुनिंदा गैरज़िम्मेदार निवासी तरह तरह के आरोप लगाकर सोसाइटी के अमन चैन तथा गतिशीलता को रोकने की प्रयास करते रहे हैं। ज्ञात रहे कि पूर्वांचल सिल्वर सिटी २ में प्रथम बार कार्यकरिणी के चुनाव 28 फरवरी 2016 भी माननीय उच्च न्यायालय अलाहाबाद के आदेश पर, मुख्य कार्यपालक अधिकारी की देखरेख में हुए थे। माननीय उच्च न्यायालय अलाहाबाद के आदेश के बाद भी श्री पंकज जैन , श्री अमित राणा, श्रीमती जैविल राणा, श्री के.के. अग्रवाल, इत्यादि समय समय पर कार्यकारिणी के सदस्यों पर तरह तरह की झूठे तथा बेबुनियाद आरोप लगाते हुए उच्च-अधिकारीयों तथा विभिन्न सरकारी महकमों में शिकायत करते रहे हैं । दिसंबर २०१७ में डिप्टी रजिस्ट्रार मेरठ से एक-तरफ़ा आदेश लाकर एक तदर्थ समिति गठित की गयी थी। श्री अजय तोंगड़ की अध्यक्षता वाली तदर्थ समिति ने भी अपने कुछ दिन के कार्यकाल में निवासियों का कई लाख रूपए का धन इधर उधर कर लिया था। इस तदर्थ समिति का पुरज़ोर विरोध करते सभी निवासि पुनः माननीय उच्च न्यायालय अलाहाबाद की शरण में पहुंचे तथा माननीय उच्च न्यायालय अलाहाबाद ने 23 मार्च 2018 के आपने आदेश से लोकतान्त्रिक आर०डब्ल्यू०ए कार्यकारिणी को बहाल किया था ।

इसी श्रंखला में हाल ही में श्री पंकज जैन, माननीय उच्च न्यायालय अलाहाबाद के आदेश को लेकर सर्वोच्च न्यायालय पहुंचे। माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों से पूर्वांचल सिल्वर सिटी 2, ग्रेटर नॉएडा सोसाइटी के निवासियों में ख़ुशी का माहौल दो गुना हो गया। आशा है यह माहौल यूँ ही खुशहाल बना रहे।