Daily Archive: March 7, 2018

Miss fire during a weeding ceremony leads women dead.

An incident of miss fire leading death of a woman came in light. During a wedding ceremony ritual in Badalpur area of Greater Noida. A dispute raised over a song played by DJ during the ceremony and in feet of rage a man opened fire leading death of a woman on the spot.

After hearing the gun shot a situation of panic and a sense of fear commenced among the peoples.

Here a question is raised over police that even after strict order from the administration over the use of DJ. How this incident took place. Police had started the investigation and body had been sent for postmortem.


Indian Medical Association is the only representative, national voluntary organiszation of Doctors of Modern Scientific System of Medicine, which look after the interest of doctors as well as the well-being of the community at large. It has its Headquarters in Delhi and State/Terr. branches in 30 States and Union Territories. It has over 2,60,000 doctors as its members through more than 1765 active local branches spread across the country.

Even by conservative estimates 1 in 10 people is said to suffer from kidney disease in general population worldwide. Diabetes and Hypertension account for over 2/3rd of the cases of Chronic Kidney Disease (CKD). As per recent Indian Council of Medical Research data, prevalence of both diabetes and hypertension in urban Indian adult population has risen to as high as 20%. With rising prevalence of various life style diseases in India, prevalence of kidney disease has also almost doubled in the last decade and is expected to rise further. Besides the large and ever growing burden of non communicable diseases (Diabetes and hypertension), various people are affected by kidney diseases due toOver-The-Counter (OTC) drugs and traditional medicines containing heavy metals which harm the kidneys.

Oxford University Press releases ‘Living in Harmony’

Oxford University Press, the world’s largest university press, has just released the revised edition of the ‘Living in Harmony’ series, its well-known course on Values Education and Life Skills for schools. The updated edition has expanded its range to now include books for classes 9 and 10 from the earlier programme of books for Classes 1 to 8, including lesson plans and free teacher’s manuals in the revised course.

The ‘Living in Harmony’ series addresses the need for value education expressed in the National Curriculum Framework. It aims to help the young learners recognize their responsibilities towards their environment and to instill in them the values that are vital to a meaningful and socially productive life. Our team of six authors have also developed lessons on Gender Sensitivity from classes 1-10 and emphasized Safety for young children.

In the higher classes, the series includes sensitive topics, such as sexuality, tensions between social groups, poverty, the two sides of technology, social inequality etc. Each book has a list of 84 values incorporated through stories from history, folk tales, fables, real-life events and world literature. Laying the foundation for a peaceful world is one of the greatest needs as well as a challenge of our times – this series is therefore extremely relevant in that context.

महिलाओं को देवी या डायन न बनाकर उन्‍हे बरा बरी का दर्जा दें – ए एस पी डॅा अनिल कुमार

महिलाओं को या तो हम देवी का दर्जा दे देते है या उन्‍हे डायन बना देते है उन्‍हे बराबरी का दर्जा नही देते ।महिलाओं की स्थिति में असल परिवर्तन लाना है तो लोगों की सोच में परिवर्तन लाना होगा । आम महिलाओं के जीवन में परिवर्तन, उनकी स्थिति में, उनकी सोच में परिवर्तन ही असल मे महिला सशक्तिकरण है।देश, समाज और परिवार के उज्जवल भविष्य के लिये महिला सशक्तिकरण बेहद जरुरी है।ये बाते ने आईआईएमटी कॉलेज समूह मे महिला सशक्तिकरण जागरुकता पर आयोजित कार्यक्रम में ए एस पी (आई पी एस) डॅा अनिल कुमार ने कही ।उन्‍होंने कहा कि कुछ चुनिंदा घटनाओं एवं कुछ चुनिंदा लोगों की वजह से कई सारी अन्य महिलाओं एवं लड़कियों के बाहर निकलने के दरवाजे बंद हो जाते हैं। जरुरत है बंद दरवाज़ों को खोलने की।

ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज समूह मे महिला सशक्तिकरण जागरुकता पर कार्यक्रम आयोजित किया गया।

आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा कि कहा कि ज़रूरी नहीं कि हर कमाने वाली लड़की डॉक्टर या शिक्षिका हो। वे ये सब करती है। पर सिर्फ घर में। जरुरत है उनके इसी हुनर को घर से बाहर लाने की।

जन्संख्या समाधान पदयात्रा को लैकर वेदार् णा फॉउंडेशन ने किया बैठक का आयोजन

देश मे दो बच्चों का कानून बनाये जाने को लैकर आगामी 9 मार्च से 11 मार्च तक जन्संख्या समाधान फॉउंडेशन द्धारा निकली जाने वाली जन्संख्या समाधान पदयात्रा को सफल बनाने के लिये वेदार्णा फॉउंडेशन द्धारा एक बैठक का आयोजन किया गया जिसमे लोगो ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

बैठक मे मुख्य आथिति के रूप मे जन्संख्या समाधान फॉउंडेशन के अध्यक्ष अनिल चौधरी ने लोगो को जन्संख्या समाधान पदयात्रा के विषय मे जानकारी दी और लोगो को इसे सफल बनाने की अपील की। अनिल चौधरी के अनुसार पदयात्रा 9 मार्च से एन सी आर के विभिन्न स्थानों से शुरू होकर 11 मार्च को संसद पहुचेगी।

अनिल चौधरी ने बताया की आज देश की समस्त समस्याओं की जड़ 134 करोड़ आबादी है। इसका एक मात्र उपाय देश मे समान रूप से टू चाइल्ड पोलिसी को लागू करना है, जिसके लिये उनका संगठन पिछले तीन सालों से संघर्षरत है। जन्संख्या समाधन पदयात्रा भी इसी सघर्ष का एक हिस्सा है।

वेदार्णा फॉउंडेशन के निदेशक संदीप कुमार ने भी ज्यादा से ज्यादा संख्या मे लोगो को यात्रा मैं शामिल होने की अपील की और वेदार्णा फॉउंडेशन की तरफ से यात्रा को हर सम्भव मदद का आस्वाशन दिया।

बैठक मे जन्संख्या समाधान फॉउंडेशन की राष्टिय संयोजिका श्रीमिती ममता सहगल और सपा नेता राजकुमार भाटी ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर डॉ०श्री प्रकाश, डॉ० एस०के० मिश्रा, डॉ०संध्या तरार, डॉ०विकास चौधरी, प्रो०राजीव कुमार, प्रो०धिरेन्द्र त्यागी, प्रो०दीपक वर्मा, प्रो०अरविंद मलिक, प्रो०हरेंद्र मलिक, श्रीमती अलका गर्ग, यज्ञ दत्त शर्मा, ओम रायजादा आदि मौजूद रहे। बैठक का संचालन भूपेंद्र चौधरी ने किया और अंत मे डॉ०राजदेव तिवारी ने सभी का धन्यवाद किया।

विवाह बंधन में बंधे क्रिकेटर परविंदर अवान ा, परिवार – मित्रों के बीच सादगी से हुआ समारोह ।

क्रिकेटर परविंदर अवाना ने मंगलवार को जीवन की नई पारी की शुरआत की । घनिष्ठ मित्रों और परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में हुए एक सादे समारोह में परविंदर अवाना ने संगीता कसाना संग सात फेरे लिए।
संगीता दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं । शादी समारोह लोनी के भोपुरा गांव में संपन्न हुआ । बुधवार सुबह तड़के परविंदर अपनी दुल्हन को लेकर ग्रेटर नोएडा के चाई फाई स्थित अपने आवास पहुंचे। शादी की सूचना के बाद से ही सोशल मीडिया पर क्रिकेटर परविंदर अवाना को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है ।

आईआईए प्रतिनिधिमंडल ने यूपीएसाईडिसी आर ए म स्मिता सिंह से की मुलाकात, समस्याओं से अवगत कराया।

(08/03/17) ग्रेटर नोएडा

कल IIA के प्रतिनिधि मंडल ने UPSIDC की नव नियुक्त RM स्मिता सिह से औपचारिक मुलाकात की व उनका स्वागत किया .

UPSIDC दूारा विकसित औद्योगिक क्षेत्र साईट B,C 4&5 मे नालीयों कि मरम्मत सडको की मरम्मत साफ सफाई पार्कों का रखरखाव अतिक्रमण व औद्योगिक क्षेत्रों मे प्रवेश दूारो का सौंदर्यीकरण इन सभी विषयो पर विस्तृत चर्चा की व अनुरोध किया की कई जगह जलभराव के कारण फैक्ट्री मे घुसना मुश्किल है उन्हें अवगत कराया जिसमे नाली की सफाई व रिपेरिग को सबसे मुख्य प्राथमिकता मे रखा है ।

प्रतिंधिमंडल के सदस्यों ने बताया की एक प्रस्ताव DM सर व UPSIDC दूारा दिया गया है कि हम खुद विकास के कार्य कराए अपनी देखरेख मे एक कमेटी बनाकर पैसे UPSIDC देगी लेकिन पैसा सीमित होगा ।
साथ ही शिकायतों के लिए विभाग से एक मेल आई डी की मांग की जो बहुत जल्द ही जारी कर दी जाएगी औद्योगिक क्षेत्रों मे स्थापित मानचित्र के बोर्डों का पेंट व उनपर मानचित्र बनाने की मांग की गयी व हमने उनसे अनुरोध किया कि पहले आप एक बार सभी औद्योगिक क्षेत्रों का दौरा करे व वास्तविक स्थिति देखे उसके बाद प्राथमिकता बनाए

प्रतिंधीमंडल के सदस्यों ने सभी का आवाहन करते हुए कहा, ‘ मेरा आप सभी से विनम्र निवेदन है कि अपने पास की अव्यवस्था का फोटो पता फोन नं व अन्य डिटैल के साथ गुरूप पर पोस्ट करे जिससे कुछ जगह का अवलोकन हम उन्हे करा सके ।

हम पिछले महीने पाच बार UPSIDC RM से मिले अब कुछ उम्मीद जगी है कि शायद कुछ बेहतर होगा व कुछ राहत मिलेगी हम निरंतर प्रयासरत कि कुछ बेहतरीन करा सके आप सभी का सामूहिक सहयोग मिलेगा तभी यह सम्भव हो सकेगा "।

इस मीटिंग के दौरान जितेन्द्र पारिख, ए डी पांडे, सर्वेश गुप्ता, संजीव शर्मा, यू के शर्मा, प्रमोद गुप्ता, जेड रहमान, चेयरमैन एस पी शर्मा मौजूद रहे।