Monthly Archive: March 2018

Greater Noida Model United Nation – Mun 2018

Greater Noida Mun 2018

With an aim to develop important social skills such as public speaking, critical thinking and conflict resolution in students, we are planning to organise a MUN (Model United Nation) in Greater Noida. The conference dates are 19th and 20th May 2018.

MUN is an educational simulation or an academic activity in which student can learn about diplomacy, international relations, global issues, and the United Nations. Students participate as delegate of a particular country/state and discuss about major global issues representing their particular country.

We are welcoming about 200-300 delegates, experienced as well as beginners, from Greater Noida, Noida, Delhi, Jaipur, Ghaziabad and other nearby cities.

There are four committees in this MUN.The committee and their agendas are as follows-

1. INTERNATIONAL COURT OF JUSTICE
AGENDA- CASE REPORTS

2. THE MOUNT BATTEN FORUM
AGENDA- THE GREAT DIVIDE: INDIA (partition)

3. UNITED NATIONS GENERAL ASSEMBLY (Disarmament and international Security)
AGENDA- PROLIFERATION OF SMALL ARMS AND LIGHT WEAPONRY IN CONFLICTED AREAS.

4. UNITED NATIONS HUMAN RIGHTS COUNCIL
AGENDA- RIGHT TO PRIVACY: A fundamental right in the digital age.

We organise MUN to develop students’ personality and self-confidence. We are looking for an apt venue to organise this two-day conference. We would be extremely thankful if you could provide us your school as venue for this conference. We assure you to teach everything about MUN to your school students and give a fruitful experience to the students.

We look forward for the participation from Schools , Colleges and individual participation as well.

Contact Details-
Phone Number – 9756104058
Fb Page – Greater Noida Mun 2018
Email – greaternoidamun2018
Thankyou

Regards
Secretariat
(Greater Noida Mun 2018)

आरटीआई की संभावनाएं एवं चुनौतियां विषय पर विचार गोष्ठी का आयोजन, डॉ योगेंद्र नारायण ने गोपनीयता कानून को आरटीआई में बताया सबसे बड़ा रोड़ा!

(27/03/2018)
ग्रेटर नोएडा : अंग्रेजों के जमाने के गोपनीयता कानून को समाप्त कर देना चाहिए। आरटीआई कार्यकर्ता जिनकी हत्याा हो रही है, उस पर गंभीरता से विचारकर उनको सुरक्षा मुहैया करानी चाहिए ताकि लोग निर्भय होकर आरटीआई के तहत सूचना प्राप्त कर सकें। ये बातें राज्य सभा के पूर्व महासचिव डॉ योगेन्द्रह नारायण ने नॉलेज पार्क 3 स्थित आईआईएमटी कॉलेज में ‘’सूचना का अधिकार-संभावनाए एवं चुनौतियां’’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी में कही। आगे उन्होंंने कहा कि आरटीआई अभी सिर्फ शहरों तक सीमित होकर रह गया है, इसलिये ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को जागरुक करने के लिए सार्थक पहल करने की आवश्यीकता है। इसके पहले आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने अतिथियों का स्वागत किया।

पदमश्री एवं वरिष्ठि संपादक डॉ अलोक मेहता ने कहा कि आरटीआई जानकारी प्राप्तव करने का बहुत अच्छा औजार है। लेकिन इसका दुरूपयोग नहीं होना चाहिए। आरटीआई के तहत अगर कोइ गलत जानकारी मिल रही है तो पत्रकार की जिम्मेादारी है कि खबर प्रकाशित करने से पहले उसकी सत्यलता की जांच कर ले। उन्होंदने कहा कि आरटीआई के माध्य म से सत्ताज हासिल कर दिल्ली् के मुख्यममंत्री बनने वाले अरिवंद केजरीवाल की ही सरकार मे पारर्दशिता नहीं है।
पूर्वमंत्री एवं भाजपा के प्रदेश उपाध्यिक्ष नवाब सिंह नागर ने कार्यक्रम की अध्यवक्षता की। उन्होंाने कहा कि आरटीआई आमजन के हित में बहुत सशक्त और उपयोगी कानून है, वक्ताीओं ने जो सवाल उठायें है वो बहुत जायज हैं। मैं उनकी मांग को सरकार तक प्रेषित करने और उसका समाधान कराने की कोशिश करूंगा ।

आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा कि आरटीआई ने आम लोगों को मजबूत और जागरूक बनाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई। आरटीआई जनता को सरकार से जुड़े सभी बातों को जानने का अधिकार देता है। उन्होंलने आये हुए अतिथियों का छात्रों के मार्गदर्शन करने के लिये धन्यवाद किया ।
आईआईएमटी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट के निदेशक डॉ राहुल गोयल ने आये हुए सभी अतिथियों का आभार व्यकक्तत किया एवं सभी छात्र-छात्राओं कों आरटीआई का सकारात्म क दिशा में उपयोग करने की सलाह दी।
पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के डीन प्रो अनिल निगम ने आरटीआई की चुनौतियों के बारे में विस्तानर से बताया और विषय प्रवर्तन करते हुए अतिथियों के समक्ष सवाल रखे।

शहरी आजीविका मिशन के तहत शहरी बेघरों को मि ल सकेगा आशियाना

अपर जिलाधिकारी प्रशासन परियोजना निदेशक जिला नगरीय विकास अभिकरण गौतमबुद्धनगर कुमार विनीत ने जानकारी देते हुये अवगत कराया है कि दीन दयाल अन्त्योंदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत शहरी बेघरो का शनिवार से लगभग 10 दिन तक सर्वे कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि उक्त योजना के तहत सर्वे कराने के लिए शासन के द्वारा लखनउ की संस्था गिरी इंस्टीट्यूट आॅफ डबलेपमेंट का चयन किया गया है।

उन्होंने यह भी बताया कि एजेंसी की 10 सदस्यों की टीम के द्वारा गुरूवार से नगर क्षेत्र दादरी जेवर, जहाॅगीरपुर, बिलासपुर, दनकौर तथा रबूपुरा में सर्वे प्रारम्भ किया गया। टीम प्रभारी गौरव श्रीवास्तव के नेतृत्व में सदस्यों के द्वारा अलग-अलग क्षेत्रांे में रात 9 बजे से 3 बजे एवं सुबह 10 बजे से 4 बजे तक रेलवे स्टेशन, बस अड्डे, लेवर चैक आदि स्थानों का सर्वे कर ऐसे बेघरो का चिन्हिकरण किया जायेगा, जिनके पास रहने के लिए कोई आशियाना नही हैै। उन्होंने बताया कि सर्वे कार्य पूर्ण होने के बाद ऐसे बेघरांे के लिए आश्रय गृह अथवा अन्य संसाधन की व्यवस्था की जायेगी, ताकि ऐसे बेघरो को आशियाना प्राप्त हो सकें।

गलगोटिया विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ लॉ ने क िया समकालीन कानूनी मुद्दों पर गोष्ठी का आयोज न!

गलगोटिया विश्वविद्यालय के स्कूल आॅफ लाॅ के द्वारा समकालीन कानूनी मुद्दों पर एक दिवसीय अंतराष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय लोक सभा सदस्य माननीया हीना गविट और गैस्ट आॅफ आॅनर सुमंत बत्रा शामिल हुए।

कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में भारत मे जामबिया की राजदूत मिस0 जूडिथ कंगोमा कपिजिमपंागा शामिल हुई। संगोष्ठी में देश भर से 55 स्कूल और विश्वविद्यालयों से 250 छात्रों और शिक्षाविद्दों ने भाग लिया। सेमीनार में कानूनी मुद्दो पर प्रकाश डाला। और मिस0 हिना गविट ने दर्शकों को ध्यान में रखते हुए समाजिक विकास में एक बडा योगदान राजनेताओं, समाज सेवकों,और सबसे अधिक योगदान भारत की कानूनी संस्थाओं का बताया।

इसी दोरान जामबियाई राजदूत ने भारत और जामबिया के राजनैतिक और व्यवाहरिक सम्बंधों के बारे में बताते हुए महात्मा गाॅधी के कथन का उद्याहरण देते हुए कहा कि जो भी भारतीयों से मिलता है। वो भारतीय संस्कृति और समाजिक स्थिति से भी परिचित होता है। इंसोल्ववेंसि के निदेशक सुमंत बत्रा ने यंग लीगल आॅफ प्रोफेसनल इन अटैंडैंसी पर चर्चा की। स्कूल आॅफ लाॅ की डीन डाॅ0 किरण गार्डनर ने कार्यक्रम की रूप रेखा के बारे में बताया।

संगोष्ठी का धन्यवाद ज्ञापन प्रो0 उत्कर्ष यादव ने किया। कार्यक्रम में समकालीन कानूनी मुद्दों पर लिखित विश्वविद्यालय की बुक का विमोचन किया गया। इस दोरान चांचलर सुनील गलगोटिया, सीईओ ध्रुव गलगोटिया, प्रो0 उत्कर्ष यादव, प्रो0 निजाम खाँ, आदि लोग मोजूद रहे।

BIMTECH’s CSR branch lays down foundation stone for Women-Children Exclusive Library at Gautam Buddh Nagar Jail

On 23rd March CSR branch of BIMTECH foundation and Rangnath society for social welfare and library development had laid down the foundation stone for the construction of library for women prisoners and children’s in the district jail of Gautam Budh Nagar.

During the inauguration ceremony mentor of BIMTECH foundation Shakti Doli wife of DIG Jail remained present at the event along with her children. She also shares similar concerns about the prisoners and also had a conversation with Dr. Harivansh Chaturvedi, Director of BIMTECH over the same topic fees days back.

Speaking at the event Dr Harivansh Chaturvedi detailed that in earlier phase these women and children’s library will be constructed only in those jails where library by BIMTECH foundation is all ready existing. Further detailing about the library he told that this library is one of its kind in the country which will be managed completely by women prisoners.

स्टाफ समीक्षा बैठक दौरान जिलाधिकारी ने तत ्परता से कार्य करने के दिए निर्देश

जिलाधिकारी ने समीक्षा करते हुये अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिस भी विभाग में डेटा एन्ट्री आपरेटर की आवश्यकता है, तत्काल उनके द्वारा आॅपरेटर की नियुक्ति की जाये, ताकि जनता की समस्याओं के निस्तारण मे किसी भी प्रकार की कोई देरी न हो, और तत्काल उनकी समस्याओं का निस्तारण संभव हो सके। डीएम ने कलैक्ट्रेट परिसर के कर्मचारियांे व बाहर से आने वाली जनता की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुये, टाॅयलेट, पीने के पानी, उनके बैठने की व्यवस्था के सम्बन्ध में निर्देश देते हुये कहा कि तत्काल इन सभी समस्याओं का निस्तारण कराया जाये, ताकि कर्मचारियांे व जनता को किसी प्रकार की समस्या न हो।

उन्होंने समीक्षा करते हुये सम्बन्धित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि कलैक्ट्रेट कर्मचारियों को जल्द से जल्द सरकारी आवासों का आबंटन किया जाये, ताकि कर्मचारी को बाहर किराये पर रहने की जरूरत न पडे़। कलैक्ट्रेट परिसर व तहसील स्तर पर जो भी कमरों की आवश्यकता है, उनका निर्माण तत्काल कराया जाये। डीएम ने आईजीआरएस से सम्बन्धित अधिकारी से फीडबैक के सम्बन्ध में समीक्षा करते हुये पाया कि 90 प्रतिशत लोग आईजीआरएस पर किये गये निस्तारण से संतुष्ट नही है।

डीएम ने सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिये कि जनता के असुतंष्ट होने के कारणांे का पता लगाते हुये जाॅच करायी जाये और सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। वही उन्होंने यह भी कहा कि सभी अधिकारियों के द्वारा जनता की शिकायतों के निस्तारण में गंभीरता बरती जाए और समस्त अधिकारियों को किसी भी माध्यम से जनता की शिकायत प्राप्त हो उसके निस्तारण में तत्परता से कार्रवाई करते हुए उसका निस्तारण कर संबंधित शिकायतकर्ता को भी अवगत कराया जाए । इस कार्य में किसी भी स्तर पर लापरवाही क्षम्य नहीं होगी।

एनकाउंटर में मारा गया एक लाख का इनामी श्रवण चौधरी

नोएडा एनकाउंटर स्पेशलिस्ट एसएसपी अजयपाल शर्मा के चार्ज संभालते ही जिले की पुलिस हरकत में आ गई है। सात दिनों में 6 मुठभेड़ हो चुकी हैं। इनमें 6 बदमाश दबोचे गए हैं, जबकि एक लाख का एक इनामी मारा गया है। रविवार सुबह एनकाउंटर में मारा गया श्रवण चौधरी भी 50 हजार से ज्यादा इनाम राशि वाले वॉन्टेड में शामिल था। दूसरी ओर सिग्मा सेक्टर में रविवार रात हुए एनकाउंटर में पुलिस की गोली से घायल दिनेश 25 हजार का इनामी था। इन दो बड़ी कामयाबियों के बाद अब पुलिस के निशाने पर जिले के 291 बदमाश हैं, जो अलग-अलग थानों में वॉन्टेड हैं। एसएसपी शर्मा ने बताया है कि सभी थानों को टारगेट दे दिया गया है।

रामनवमी के दिन नॉएडा पुलिस ने कराया गुंडो ं का ‘राम नाम सत’

आज दिनांक 25 /3 /2018 को थाना कासना क्षेत्र अंतर्गत सिग्मा 2 में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई ,मुठभेड़ में एक बदमाश दिनेश पुत्र हुकुम सिंह निवासी कस्बा जहांगीराबाद बुलंदशहर गोली लगने से घायल हो गया है तथा दूसरा बदमाश फरार हो गया है जिसकी तलाश हेतु कॉन्बिंग कराई जा रही है , गोली बदमाश के बाएं पैर में लगी है तथा एक कांस्टेबल कृष्णपाल घायल हो गया है, घायल बदमाश को जिला अस्पताल उपचार हेतु भेजा जा रहा है।