कल से माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश की कक्षा 10 एवं 12 की बोर्ड परीक्षा 6 फ़रवरी से जनपद में आरंभ हो रही हैं।
प्रदेश सरकार नक़ल विहीन परीक्षा कराने के लिये पूरी तरह कटिबद्ध है। इस संबंध में जिला प्रशासन की ओर से शासन के निर्देशानुसार नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए जिला प्रशासन के द्वारा संपूर्ण तैयारियां कर ली गई हैं। सभी परीक्षा कक्षा में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। जिसके माध्यम से सभी परीक्षार्थी कैमरों की नजर में रहेंगे।

इस संबन्ध में छात्रों को अवगत करना है कि उ०प्र० सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों का निवारण) अधिनियम 1998 के अध्याय 2 में धारा तीन के अन्तर्गत यदि कोई नक़ल करते हुए पकड़ा जाता है तो उसको तीन माह का कारावास या दो हज़ार रुपये का जुर्माना या दोनों से दण्डित किया जा सकता है।
डीएम ने सम्बन्धित छात्र/छात्राओं का आह्वान किया है कि वह नक़ल की प्रवृत्ति से दूर रहकर मेहनत पूर्वक पूर्ण परीक्षा देने का आह्वान किया है।