Daily Archive: December 4, 2017

शिक्षा अधिकार आन्दोलन संस्था ने निजी स्क ूलों द्वारा मनमानी फीस वसूलने पर मुख्यमंत्री के नाम पर सिटी मजिस्ट्रेट को सौपा ज्ञापन

ग्रेटर नोएडा में आज शिक्षा अधिकार आन्दोलन संस्था ने अपनी मांगो को लेकर को सिटी मजिस्ट्रेट को मुख्यमंत्री के नाम पर एक ज्ञापन सौपा | आपको बता दे की शिक्षा अधिकार आन्दोलन संस्था ने प्रदेश के निजी स्कूल संचालको की मनमानी फीस वसूलने पर रोक लगाने हेतु फीस नियतन कानून को अतिशीघ्र लागू कराने, स्कूल संचालन के लिए सरकार द्वारा बनाए गए नियम कानून को स्कूल के सार्वजनिक स्थान पर डिस्प्ले करने, आरटीआई के दाखिले को सुनिश्चित करने पर कार्यवाही के सम्बन्ध में सिटी मजिस्ट्रेट राजेश वर्मा को ज्ञापन सौपा |

शिक्षा अधिकार आन्दोलन संस्था के लोगों का कहना है की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग की है कि प्रदेश के निजी स्कूल संचालको की मनमानी फीस वसूलने पर रोक लगाने हेतु फीस नियतन कानून को अतिशीघ्र लागू कराने, स्कूल सञ्चालन के लिए सरकार द्वारा बनाये गए नियम कानून को स्कूल के सार्वजनिक स्थान पर डिस्प्ले करने की मांग की है |

निजी स्कूलों के मनमानी फीस वसूलने पर रोक लगाने हेतु सरकार से फीस नियतन कानून बनाने व इसे अतिशीघ्र इन स्कूलों पर लागू कराने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री महोदय को जिलाधिकारी के मार्फत पूर्व में छ: ज्ञापन सौंप चुका है | लेकिन आधा सत्र बीत जाने के बाद भी सरकार अभी तक फीस नियतन कानून इन स्कूलों पर नहीं ला सकी | अभिभावकों ने उपमुख्यमंत्री जी से मिलकर प्राइवेट स्कूलों की स्थिति को अवगत कराते हुए इन स्कूलों के फीस के नियतन के लिए रेगुलेटरी बिल लाने का अनुरोध पत्र भी दिया था जिस पर अब तक सिर्फ आश्वासन ही मिला | पहले विधान सभा के मानसून सत्र में बिल लाने का वायदा किया गया परन्तु कानून नहीं बना अब तो शीत कालीन सत्र भी आ गया फिर भी कोई बिल नहीं लाया गया | ऐसा लगता है कि आने वाला शीतकालीन सत्र भी आश्वासनों में बीतेगा | आन्दोलनकरी अभिभावक कई महीनो से लगातार स्कूलों के लूट से बचाने की गुहार सरकार से करते आ रहे है परन्तु इस सम्बन्ध में सरकार ने हमारी फ़रियाद को नहीं सुना जिससे अभिभावकों सहित जनता में भारी आक्रोश है | इस ज्ञापन के माध्यम से हम पुनः अनुरोध करते है कि फीस नियतन कानून को अतिशीघ्र निजी स्कूल पर लागू कराये जिससे इनके संचालको द्वारा अभिभावकों से की जा रही लूट से मुक्ति मिले |

इस अवसर पर डा ए के सिंह, ऐड अजय चौधरी, डॉ रुपेशा वर्मा, अनीता पांडे, राहुल सेठ, सलमू सैफी, सुमित प्रधान, अनिल कुमार, महरूफ अली, प्रशांत सिंह, ऐड विनोद सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे |

शिक्षा अधिकार आन्दोलन संस्था ने निजी स्क ूलों द्वारा मनमानी फीस वसूलने पर रोक लगाने हे तु मुख्यमंत्री के नाम पर सिटी मजिस्ट्रेट को सौपा ज्ञापन

ग्रेटर नोएडा में आज शिक्षा अधिकार आन्दोलन संस्था ने अपनी मांगो को लेकर को सिटी मजिस्ट्रेट को मुख्यमंत्री के नाम पर एक ज्ञापन सौपा | आपको बता दे की शिक्षा अधिकार आन्दोलन संस्था ने प्रदेश के निजी स्कूल संचालको की मनमानी फीस वसूलने पर रोक लगाने हेतु फीस नियतन कानून को अतिशीघ्र लागू कराने, स्कूल संचालन के लिए सरकार द्वारा बनाए गए नियम कानून को स्कूल के सार्वजनिक स्थान पर डिस्प्ले करने, आरटीआई के दाखिले को सुनिश्चित करने पर कार्यवाही के सम्बन्ध में सिटी मजिस्ट्रेट राजेश वर्मा को ज्ञापन सौपा |

शिक्षा अधिकार आन्दोलन संस्था के लोगों का कहना है की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग की है कि प्रदेश के निजी स्कूल संचालको की मनमानी फीस वसूलने पर रोक लगाने हेतु फीस नियतन कानून को अतिशीघ्र लागू कराने, स्कूल सञ्चालन के लिए सरकार द्वारा बनाये गए नियम कानून को स्कूल के सार्वजनिक स्थान पर डिस्प्ले करने की मांग की है |

निजी स्कूलों के मनमानी फीस वसूलने पर रोक लगाने हेतु सरकार से फीस नियतन कानून बनाने व इसे अतिशीघ्र इन स्कूलों पर लागू कराने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री महोदय को जिलाधिकारी के मार्फत पूर्व में छ: ज्ञापन सौंप चुका है | लेकिन आधा सत्र बीत जाने के बाद भी सरकार अभी तक फीस नियतन कानून इन स्कूलों पर नहीं ला सकी | अभिभावकों ने उपमुख्यमंत्री जी से मिलकर प्राइवेट स्कूलों की स्थिति को अवगत कराते हुए इन स्कूलों के फीस के नियतन के लिए रेगुलेटरी बिल लाने का अनुरोध पत्र भी दिया था जिस पर अब तक सिर्फ आश्वासन ही मिला | पहले विधान सभा के मानसून सत्र में बिल लाने का वायदा किया गया परन्तु कानून नहीं बना अब तो शीत कालीन सत्र भी आ गया फिर भी कोई बिल नहीं लाया गया | ऐसा लगता है कि आने वाला शीतकालीन सत्र भी आश्वासनों में बीतेगा | आन्दोलनकरी अभिभावक कई महीनो से लगातार स्कूलों के लूट से बचाने की गुहार सरकार से करते आ रहे है परन्तु इस सम्बन्ध में सरकार ने हमारी फ़रियाद को नहीं सुना जिससे अभिभावकों सहित जनता में भारी आक्रोश है | इस ज्ञापन के माध्यम से हम पुनः अनुरोध करते है कि फीस नियतन कानून को अतिशीघ्र निजी स्कूल पर लागू कराये जिससे इनके संचालको द्वारा अभिभावकों से की जा रही लूट से मुक्ति मिले |

इस अवसर पर डा ए के सिंह, ऐड अजय चौधरी, डॉ रुपेशा वर्मा, अनीता पांडे, राहुल सेठ, सलमू सैफी, सुमित प्रधान, अनिल कुमार, महरूफ अली, प्रशांत सिंह, ऐड विनोद सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे |

In two different road mishap in Greater Noida, two died

In two different road mishap took place under Surajpur and Kasna police station in which two people lost their life. After the postmortem police handover the body to their family members.

In first incident guy is not wearing the helmet and got serious head injuries during treatment he died. Latter he is identified as Ansuman singh 30 a resident of OM nagar colony, Badarpur, Delhi. He used to work in a factory in Greater Noida. On Saturday night he came to meet his friends living in Nimbas society. Around 9pm he left for Delhi. Near chotpur village he was on service road when he lost his control over his bullet and collided with a wall. During the incident speed of bike is around 100km/hr. In this massive collision Anshuman got severally injured he was taken to hospital but died during treatment. Doctors said he has serious head injuries because of not wearing helmet at the time of incident.

In a another incident a man on cycle was hit by a unidentified vehicle and got injured after that he was taken to hospital where he died during treatment. Latter he is identified as Premchandr a resident of Surajpur. He use to work in a factory during rushing back to his home from his duty in night incident got happen. Police had registered a case against unidentified driver.

ग्रेटर नॉएडा : बीटा 1 में प्राधिकरण के अधिका रिओ ने दौरा कर सभी समस्याओ को जल्द जल्द से निप टाने का दिया भरोशा

ग्रेटर नॉएडा के बीटा 1 में काफी समय से समस्याओ का अम्बार लगा हुआ है। जिसके कारण सेक्टरवासी बदहाली की जिंदगी जीने को मजबूर है। वही आज इस सेक्टर की समस्याओं को देखते हुए ग्रेटर नॉएडा प्राधिकरण के अधिकारीयों ने बीटा 1 का दौरा किया | साथ ही सेक्टर के लोगो से आम समस्याओ को सुना भी गया | आपको बता दे की ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के तमाम अधिकारी इस दौरे में शामिल थे | वही
इस मौके पर सेक्टरवासी व् एक्टिव सिटिज़न के हरिंद्र भाटी ने बताया कि बीटा 1 सेक्टरवासी काफी समय से इन समस्याओं से जूझ रहे थे। साथ ही प्राधिकरण के अधिकारियो को इन समस्याओ से पहले काफी बार अवगत करा चुके थे लेकिन दौरा करने कोई नहीं आया | वही अचानक से प्राधिकरण के कई अधिकारियो ने सेक्टर का दौरा भी किया है इनको सभी समस्याओं से रूबरू भी हुए । वही इस सेक्टर में जो प्रमुख समस्या थी जैसे सेक्टर के चारो तरफ से फेंसिंग टूटी हुई , सेक्टर में पार्क की हालत काफी ख़राब हो चुकी और सभी पार्को की लाइट बंद पड़ी हुई , सेक्टर के अंदर पीजी का काम काफी धड़ल्ले से चला रहा है जिसके कारण असामाजिक तत्व के लोगो का रातो को आना जाना लगा रहता है | साथ ही इन्होने प्राधिकरण से माँग की है की इस सेक्टर में पीजी पर भी अंकुश लगाने की जर सेक्टर रुरत है। साथ ही सेक्टर के अंदर खाली ग्राउंड पड़ा है उसे बच्चो के लिए खेल का मैदान बनांया जाए ,ताकि बच्चे यहाँ पर खेलकूद का अभ्यास कर सके आदि जैसी काफी समस्याऔ से अवगत कराया गया और इन सभी समस्याओं को देखकर अधिकारियो ने जल्द से जल्द सही कराने का भरोसा भी दिया।

दादरी : राजपूत उत्थान सभा ने फिल्म पद्मावत ी को लेकर किया विरोध प्रदर्शन

दादरी : देश भर में फिल्म पद्मावती का विरोध की आग खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। आये दिन हिन्दू संगठन व् किसी ना किसी शहर में विरोध प्रदर्शन कर रहे है प्रदर्शनकारी हर सिनेमा हॉल में जाकर फिल्म को प्रदर्शित ना चेतावनी भी रहे है। फिल्म पद्मावती के विरोध में रविवार को राजपूत उत्थान सभा ने दादरी में प्रदर्शन किया। संगठन के जिलाध्यक्ष धीरज सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ता शहर के सिनेमा हॉल में पहुंचे और प्रबंधक को ज्ञापन देकर फिल्म का प्रदर्शन न करने की चेतावनी दी। कार्यकर्ताओं ने कहा कि जब तक सरकार फिल्म पर प्रतिबंध नही लगाएगी, उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। इस फिल्म के खिलाफ संगठन पिछले कई महीनों से प्रदर्शन व सभाएं कर रहा है। इस मौके पर सैकड़ो कार्येकर्ताओ शामिल थे।

युवती के खुदखुशी के मामले में आय नया मोड़,पर िजनों ने पड़ोसियों पर लगाया हत्या का आरोप

ग्रेटर नॉएडा : युवती के खुदखुशी के मामले में नया मोड़ आ गया है लड़की के परिजन इसे खुदखुशी नहीं बल्कि पड़ोसियो पर हत्या करने का आरोप लगा रहे है। पुलिस पर भी मामला दर्ज करने का आरोप लग रहा है।
चिपियाना खुर्द तिगरी में शनिवार को युवती का शव पंखे से लटका मिला था। परिजनों ने इसे आत्महत्या मानने से इनकार करते हुए पड़ोसी युवक और एक महिला पर युवती की हत्या का आरोप लगाया है। परिजनों ने रविवार को बिसरख कोतवाली में शव रखकर हंगामा किया और आरोपी युवक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के लिए तहरीर दी है। बिसरख कोतवाली क्षेत्र के चिपियाना खुर्द तिगरी में राजेश कुमार शर्मा परिवार के साथ रहते हैं। शनिवार को उनकी बेटी (19) का शव घर के एक कमरे में पंखे से लटका मिला था। राजेश कुमार का कहना है कि उनकी बेटी ने आत्महत्या नहीं की है, उसकी हत्या की गई है। जिस कमरे में बेटी का शव था, उसमें टूटी चूड़ियां भी मिली हैं। बेटी का शव साड़ी के फंदे से लटका था।

उन्होंने आरोप लगाया है कि पड़ोस में रहने वाले एक युवक ने बेटी की हत्या कर शव पंखे से लटका दिया। 3 दिन पहले आरोपी युवक उनके घर आया था और उसने बेटी से शादी का प्रस्ताव रखा था। इसे उन्होंने ठुकरा दिया, तो युवक शिल्पी और उनके बेटे की हत्या करने की धमकी देकर चला गया। राजेश का कहना है कि वारदात के दौरान उनकी बेटी घर में अकेली थी। बेटा स्कूल गया था। आरोपी ने एक महिला की मदद से उनकी बेटी से दरवाजा खुलवाया और हत्या कर छत के सहारे फरार हो गया। राजेश कुमार का आरोप है कि पुलिस बेटी की मौत को आत्महत्या बताकर रिपोर्ट दर्ज नहीं कर रही है। वहीं, कोतवाली के एसओ अजय शर्मा ने बताया कि परिजनों से तहरीर लेकर आरोपों की जांच की जा रही है।
युवती के भाई ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के नाम ट्वीट कर मदद मांगी है। उसने कहा है कि पुलिस आरोपी के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है। साथ ही उसने मामले में रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की है।

दनकौर : चलती बाइक से गिरी महिला, अस्पताल मे ं महिला की हुई मौत

दनकौर : शनिवार को सड़क हादसे में घायल महिला की अस्पताल में मौत हो गयी थी जिसको लेकर महिला के परिजनों ने अस्पताल के खिलाफ लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा किया। पुलिस ने मौके पर आकर मामले को शांत कराया। कनारसी-भट्टा रोड पर धनोरी गांव के पास कल शाम को एक बाइक स्पीड ब्रेकर से फिसलकर रजवाहे में जा गिरी। इस हादसे में एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे ग्रेटर नोएडा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसने दम तोड़ दिया। परिजनों ने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल में हंगामा किया। दनकौर पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। दनकौर कोतवाली क्षेत्र के पारसौल गांव निवासी कमलेश (30) देवर के साथ गाजियाबाद में रिश्तेदार के यहां शादी समारोह में शामिल होने के लिए जा रही थीं। धनोरी गांव के पास स्पीड ब्रेकर पर उनकी बाइक फिसल गई। इसके बाद बाइक बेकाबू होकर पास में स्थित एक रजवाहे में जा गिरी। बाइक पर बैठी कमलेश के सिर में काफी चोट आई। राहगीरों की मदद से देवर ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। देर रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। दनकौर कोतवाल फरमूद अली पुंडीर के मुताबिक, अब तक पीड़ित परिजनों की तरफ से लिखित शिकायत नहीं आई है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।