Daily Archive: August 26, 2017

राहत इन्दोरी ने मंच पर आते ही जमाया रंग, “आँ ग के पास कभी मोम को लाकर देखूं, इजाजत हो तो तुझे हाथ लग कर देखूं’

इंडिया एक्सपो मार्ट में आयोजित कवि सम्मलेन अपने अंतिम दौर पर पहुंच रहा है और राहत इन्दोरी साहब ने मंच संभाल लिया है ।

तालियों की गड़गड़ाहट के बीच मशहूर शायर ने अपना शेर पेश किया, "मेरी साँसों में समाया भी बहोत लगता है, वही सख्स पराया भी बहोत लगता है। उससे मिलने की तम्मन्ना भी बोट है, आने जाने में किराया भी बहोत लगता है ।"

उन्होंने आगे बोला ,"आँग के पास कभी मोम को लाकर देखूं,
इजाजत हो तो तुझे हाथ लग कर देखूं’,

मेरे दिल मैं वीराना बहोत है,
तेरी तस्वीर दिल में लगा कर देखूं "

नवाज देवबंदी का पलायन पर तंज, “शहरों में कि राए का घर ढूंढ रहे हो, ये गांवों में घर छोड़ के आ ने की सजा है”!

तेजी से हो रहे पलायन पर कवी नवाब देवबंदी ने बोला, ‘रोने की सजा है ना रुलाने की सजा है,
ये दर्द मुहब्बत को निभाने की सजा है,

शहरों में किराए का मैं ढूंढ रहे हो,
ये गांवों में घर छोड़ के आने की सजा है ।"

उन्होंने आगे बोलते हुए कहा

‘जलते घर को देखने वालों घर फूंस का आप का है,
आग के पीछे हवा तेज है अगला मुकद्दर आप का है"

भरा हुआ पूरा सदन तालियों से गूंज पड़ा।

“और वही विदा गई गया जिसे चिंता थी कन्या दान की’, किसान आत्महत्या पर कवि का मार्मिक गीत

किसानों की व्यथा पर आज इंडिया एक्सपो मार्ट में वरिष्ठ कवि ने जब इस मार्मिक कविता का पाठ किया तो पूरा सदन तालियों से गूंज उठा । कवि की कविता का मूल था, "और वही विदा गई गया जिसे चिंता थी कन्या दान की, माला जैसे बिखरीं किस्मत थी वो किसान की",

“सारे मोदी के विरोधियोँ में मेल हो गया, उसके बाद भी मम्मी का पप्पू फेल हो गया” हर राजनीति पर कवि कस रहे तंज

कवि सम्मेलन और राजनीति का चोली दामन का साथ रहा है । जब जब राजनीति अपने उद्देश्य से भटकती है तो कविता है उसे दो टूक शब्दों में वापिस बुलाती है ।
आज इंडिया एक्सपो मार्ट में आयोजित कवि सम्मेलन में भी कवियों ने राजनेताओं पर तंज कसने में कोई कसर नही छोड़ा। युवा कवि ने बोला, "सारे मोदी के विरोधियोँ में मेल हो गया, उसके बाद भी मम्मी का पप्पू फेल हो गया ".

“कभी भी कोख में अपनी बेटियां मार मत देना…” प ढ़ें क्या बोल कवि ने भ्रुण हत्या पर

ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में आयोजित हो रहे कवि सम्मेलन में कवि ने भ्रूण हत्या पर गहरी चोट करते हुए बोला, "वो अपने कैमरे से जिंदगी के सीन लेता है,
वो खुशियां बांटने वालों के आंसू बीन लेता है,

कभी भी कोख में अपनी बेटियां मार मत देना,
वो बेटियाँ मार देने वालों से बेटा छीन लेता है !"

डॉ राहत इन्दोरी की शायरी से गूंजेगा इंडिया एक्सपो मार्ट, कवी सम्मेलन शुरू

भारत के सुप्रसिद्ध कवियों की दैनिक जागरण द्वारा इंडिया एक्सपो मार्ट में सजी महफ़िल सजने लगी है।

डॉ राहत इन्दोरी समेत अनेक बड़े शायर इस महफ़िल में मौजूद हैं ।

ग्रेटर नोएडा में गणराज महाराष्ट्र मित्र म ंडल की तरफ से गणेश महोत्सव में छोटे बच्चो ने ग ीतों की सुरों से बांधा समा

ग्रेटर नोएडा के सिटी पार्क में गणराज महाराष्ट्र मित्र मंडल की तरफ से चल रहे गणेश उत्सव के दूसरे दिन छोटे बच्चो से लेकर बड़ो बच्चो ने एक से बढ़कर एक अपनी मधुर आवाज से उत्सव में आये दर्शको को मदहोश कर दिया ।