Daily Archive: May 24, 2017

भारतीय किसान यूनियन भानु ने की महापंचायत राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान कासना

भारतीय किसान यूनियन भानु की महापंचायत राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान कासना में हुईं जिसमें पिछले तीन दिन से राष्ट्रीय प्रवक्ता मास्टर शयौराज सिंह आमरण अनशन पर बैठ थे आज महापंचायत कर निम्न समस्याओं को लेकर हुईं जिसमें 2016 मे संस्थान द्वारा फर्जी के नाम पर आवेदन शुल्क के रूप मे करोड़ों रूपये अवैध रूप से वसूले गये जिसकी तुरन्त जांच करायी जाए क्षेत्रिय बच्चों की पूरी तरह अनदेखी की जाती उनको तुरंत नौकरी दी जाए एंटी रैबीज इंजैक्शन सम्पूर्ण जनपद में नहीं है संस्थान में 12 टयूवैल दिन रात 24 घंटे चलते है तुरंत बंद कराने तथा पेयजल के रूप में इस्तेमाल की व्यवस्था जाये सैकड़ों की संख्या में लगी सोलर प्लेट खराब पडी है गारंटी होने बाद भी उन्हें नहीं बदला गया उनके तुरंत बदला जाए संस्थान में इमरजेन्सी व आई सी यू की व्यवस्था तथा अल्ट्रा साउंड एम आर आई सीटी स्कैन व्यवस्था एवं कैंसर के इलाज की तुरन्त प्रभाव से व्यवस्था करादी जाए आदि विभिन्न समस्याओं को लेकर 9 सूत्रीय माँगो का ज्ञापन मुख्य मंत्री के नाम एस डी एम राजेश कुमार तहसीलदार सदर संजय सिंह कोतवाली कासना सुरेन्द्र सिंह भाटी को सौपा इस मौके पर संगठन के चौ कुंवर पाल सिंह बेगराज गुर्जर राजीव मलिक अजब सिंह रमेश कसाना विश्वास गुर्जर सोरन कसाना स॓जय शर्मा अशोक नागर बाली सिंह राजमल सिंह रामानंद कसाना देशराज नागर जयबीर नागर अखिलेश प्रधान हरेन्द्र कसाना बी सी प्रधान सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे

सड़को को 15 जून तक करे गढ्ढा मुक्तः डीएम बीए न सिंह

जिलाधिकारी बीएन सिंह ने सड़को से सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुये कहा कि जिनके द्वारा अपनी अपनी सड़को को सरकार की मंशा के अनुरूप आगामी 15 जून तक गढ्ढा मुक्त बनाया जाये और इस कार्य में किसी भी स्तर शिथिलता क्षम्य नही होगी।

जिलाधिकारी अपने कैम्प ऑफिस नोएडा के सभागार में सडको से सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं की समीक्षा करतेे हुये अधिकारियांे को आवश्यक दिशा निर्देश दे रहे थें।
उन्होंने समीक्षा के दौरान पाया कि लोक निर्माण विभाग के द्वारा 236 किलोमीटर लक्ष्य के सापेक्ष वर्तमान तक 101 किलोमीटर सड़को को गढ्ढा मुक्त किया गया है। इसी प्रकार यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण 54 कि0मी0 के सापेक्ष 14 कि0मी0, ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण द्वारा 29 कि0मी0 के सापेक्ष 5.11 कि0मी0, नोएडा विकास प्राधिकरण के द्वारा 67 कि0मी0 के सापेक्ष 30 कि0मी0 प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में 76 कि0मी0 के सापेक्ष 45.4 कि0मी0 और मंडी के द्वारा 6.4 कि0मी0 लक्ष्य के प्रति शून्य लक्ष्य प्राप्त किये गये है।
समीक्षा के दौरान यह भी पाया गया कि सिंचाई विभाग के द्वारा 111 कि0मी0 का लक्ष्य गढ््ढा मुक्त बनाने का रखा गया था। सिंचाई विभाग के अधिकारियों के द्वारा बैठक में अवगत कराया गया कि उनके द्वारा चयनित सड़को को शासन के दिशा निर्देशानुसार लोक निर्माण विभाग के द्वारा सम्बन्धित सडकों को गढ्ढा मुक्त बनाने के निर्देश प्राप्त हुये है। इसी प्रकार जनपद में ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के द्वारा जो निर्माणाधीन सडके है उनको गढ्ढा मुक्त बनाने के लिए जिला पंचायत के माध्यम से शासन के निर्देशानुसार कार्यवाही अपेक्षित है।
जिलाधिकारी ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश देते हुये कहा कि 15 जून तक सडकों को गढ्ढा मुक्त बनाये जाना प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का ड्रीम प्रोजेक्ट है। अतः सभी कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी मा0 मुख्यमंत्री के मन्तव्य को बहुत ही गम्भीरता से लेते हुये अपनी सडको को 15 जून तक गढ्ढा मुक्त बनाये जाने की दृढ़ता के साथ कार्यवाही करेगें। इस सम्बन्ध में श्री सिंह ने जनपद की नगरपालिका एवं पंचायतांे के अधिशासी अधिकारियों तथा जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी को भी निर्देश दिये है कि उनके द्वारा भी अपनी सभी सडको को आगामी 15 जून तक गढ्ढा मुक्त बनाये जाने की कार्यवाही की जायेगी।
जिलाधिकारी ने कहा कि 15 जून के उपरान्त यदि किसी कार्यदायी संस्था की सडको में गढ्ढा पाया जाता है तो सम्बन्धित विभागीय अधिकारी इसके लिए स्वयं जिम्मेदार होंगे। अत सभी अधिकारी इस कार्यक्रम की महत्वता को देखते हुये अपनी सडकों को गढ्ढा मुक्त बनाने में निर्धारित समय के अन्तर्गत उन्हंे सफलता प्राप्त हो सकें। डीएम ने सभी अधिकारियांे का यह भी आहवान किया कि उनके द्वारा जनपद सडकों को गढ्ढा मुक्त कराने के लिए जो सकारात्मक कार्यवाही की जा रही है उसकी जानकारी स्थानीय मा0 विधायक/सांसद गणों को नियमित रूप से उपलब्ध करायी जाये और किये जाने वाले कार्य में पूर्ण पारदर्शिता बरततें हुये कार्य को निर्धारित मानकों के अनुसार पुर्ण किया जाये।
इस अवसर पर अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग/ इस कार्यक्रम के नोडल अधिकारी पी0के0 मिश्रा, सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता एस0के0 शुक्ला, पीएमजीएसवाई के आर0एन0 दास सभी प्राधिकरण के चीफ इंजीनियर, नगर पालिका/ पंचायतों के अधिशासी अधिकारी एवं अन्य अधिकारी के द्वारा भाग लिया गया।