Monthly Archive: March 2017

एन.आई.ई.टी. कॉलेज में एक्सपर्ट लेक्चर का हुआ आयोजन

आज एन.आई.ई.टी. ग्रेटर नॉएडा में कनाडा की यूनिवर्सिटी ऑफ़ ओंटारियो के इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में वाहन, यांत्रिकी एवं उत्पादन विभाग में प्रोफेसर डॉ. बाले वी.रेड्डी का ऊष्मप्रवैगिकी के द्वितीय नियम का उष्मा और ऊर्जा प्रणालियों की निरंतरता में योगदान विषय पर विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित किया गया I जिसमें मैकेनिकल और केमिकल विभाग के छात्र छात्राओं ने भाग लिया I डॉ रेड्डी कनाडा में प्राकृतिक गैस, कोयला और बायोमास आधारित ऊर्जा प्रणालियों पर अपने काम के लिए जाने जाते हैं I डॉ रेड्डी ने छात्रों को ऊर्जा की बढ़ती मांग के साथ उन्नत और निरंतरता वाली ऊर्जा प्रणालियों की भूमिका से अवगत कराया I उन्होंने ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन को काम करने की विधियां छात्रों को समझाईं कैसे पिछले 20 वर्षों में ऊर्जा की खपत बढ़ी है I अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में विश्व स्तर पर किये प्रयासों से भी उन्होंने छात्रों को अवगत कराया I उनके व्याख्यान का मूल उद्देश्य उनके अनुसंधानों से छात्रों और अध्यापकों को अवगत करना था, जिससे वे मिलकर अनुशंधान के काम कर सकें I डॉ रेड्डी ने एन.आई.ई.टी. ग्रेटर नॉएडा संस्थान का अपने संस्थान के साथ समझौता ज्ञापन करने का प्रस्ताव भी रखा जिसे निकट भविष्य में पूरा लिया जायेगा I

संस्थान के निदेशक डॉ अजय कुमार ने पुष्पगुच्छ देकर डॉ रेड्डी का सम्मान किया और डॉ पी पचौरी ने स्मृति चिन्ह देकर आभार प्रकट किया I इस अवसर पर डॉ राजेश मैथिवन, डॉ चन्दन कुमार, डॉ अरविन्द तिवारी, डॉ श्यामलाल वर्मा, डॉ सचिन तेजयान तथा काफी संख्या में अध्यापक भी उपस्थित रहे I संस्थान के प्रबंध-निदेशक डॉ ओ.पी. अग्रवाल ने डॉ रेड्डी का आभार व्यक्त किया और रिसर्च के क्षेत्र में सहभागिता पर जोर दिया I उन्होंने अध्यापकों को मिलकर रिसर्च करने के लिए भी प्रेरित किया I अति. प्रबंध निदेशिका डॉ नीमा अग्रवाल और कार्यकारी उपाध्यक्ष श्री रमन बत्रा ने यूनिवर्सिटी ऑफ़ ओंटारियो के इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी के साथ सहयोग के क्षेत्रों पर डॉ रेड्डी से चर्चा की और निकट भविष्य में इसे मूर्तरूप देने का प्रारूप तैयार किया I

जनहित मोर्चा ने की गृहमंत्री से की निष्पक् ष जांच की मांग

ग्रेटर नोएडा के नायजीरियन्स प्रकरण को लेकर जनहित मोर्चा ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। पूर्व मंत्री नवाब सिंह नागर ने बताया कि आज गृहमंत्री आवास पर मोर्चा का एक प्रतिनिधिमंडल राजनाथ सिंह से मिला। मुलाकात के दौरान मोर्चा ने ग्रेटर नोएडा के नाईजीरियन घटना की निष्पक्ष जांच की मांग की गई है। उन्हें अवगत करवाया गया है कि हमारे जनपद में रहने वाले विदेशीयों की सुरक्षा प्राथमिकता पर हो। अच्छे भले लोगों का पूरा सम्मान हो लेकिन नाइजीरियन मूल के कुछ लोग अवैध ड्रग्स के धन्धों में लिप्त हैं जिससे हमारे देश के ग्रेटर नोएडा में पढ़ाई कर रहे लाखों युवकों का भविष्य अन्धकारमय हो रहा है और इसी कारण मनीष खारी जैसे छात्रों का जीवन समाप्त हो रहा है। इस पर भी जांच कर उचित कार्यवाही की जानी चाहिये। इसी के साथ अंसल मॉल में हुई मारपीट की घटना में परीचौक पर मौजूद सामाजिक लोगों को जोडा जा रहा है। घटना की वीडियो रिकॉडिं्र के आधार पर जो घटना में शामिल नहीं है उन्हें परेशान किया जा रहा है। आपसी सदभाव बनाने के लिये शहर की प्रमुख सामाजिक संस्थाओं के लोगों के साथ नायजीरियन्स को बैठाकर एक दूसरे के साथ विश्वास को बढ़ाने और अविश्वास को दूर करने का कार्य किया जाना चाहिये। मुलाकात करने वाले प्रतिनिधिमंडल में नवाब सिंह नागर, प्रधान वेदप्रकाश, प्रधान सुखवरी सिंह भाटी, राजे कसान, सुनील भाटी आदि मौजूद थे।

ग्रेनो: अफ्रीकी छात्रों की सुरक्षा करने में नाकाम पुलिस, नॉलेज पार्क थाना क्षेत्र में नाइजीरियन लड़की को ऑटो से उतारकर की मारपीट। घायल लड़की को कैलाश अस्पताल में कराया गया भर्ती, मौके से उपद्रवी हुए फरार।

ग्रेनो: अफ्रीकी छात्रों की सुरक्षा करने में नाकाम पुलिस, नॉलेज पार्क थाना क्षेत्र में नाइजीरियन लड़की को ऑटो से उतारकर की मारपीट। घायल लड़की को कैलाश अस्पताल में कराया गया भर्ती, मौके से उपद्रवी हुए फरार।

सड़क निर्माण घोटाले में नप सकते है अधिकारी , ठेकेदार

उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद सपा सरकार में हुए सड़क घोटाले की जाँच पूरी हो चुकी है । आपको बता दे की ग्रेटर नोएडा के दनकौर जहाँगीरपुर , रजपुरा मार्ग की सड़क का करोड़ो रूपये की लागत से निर्माण हुआ था । लेकिन ये सड़के कुछ ही महीनो में ख़राब हो गयी । वही अब यूपी में बीजेपी सरकार बनने के बाद अब यह सड़क जाँच के दायरे में है । सत्ता बदलने के बाद यह विभाग उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के पास है। सड़कों की जांच के निर्देश से अधिकारियों व ठेकेदारों में खलबली मच गई है। शासन की मंशा सड़क निर्माण में घोटाला करने वालों पर सख्त कार्रवाई की है। इसलिए जांच रिपोर्ट को पूरे तथ्यों के साथ भेजने को कहा गया है ताकि घोटाले के लिए जिम्मेदारों की पहचान स्पष्ट हो और उन्हें बच निकलने का मौका न मिल सके। जिला प्रशासन की रिपोर्ट के बाद घोटाले में शामिल लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई तय है।

DM N P SINGH HELD MEETING WITH NIGERIAN DELEGATION

नाईजीरियन प्रकरण में कलेक्टेªट के सभागार में स्थानीय गणमान्य व्यक्तियों एवं नाइजीरियन एसोसियेशन के पदाधिकारियों के साथ डीएम ने की बैठक

गौतमबुद्धनगर 28 मार्च,2017
विगत दिवस परीचौक पर नाइजीरियन बच्चों के साथ हुयी मारपीट की घटना के सम्बन्ध में जिलाधिकारी एन पी सिंह के द्वारा गम्भीरता के साथ लिया गया और इस प्रकरण में उन्होंनें कलेक्टेªट के सभागार में नाइजीरियन एसोसियेशन, आरडब्लूए के पदाधिकारियों, बार एसोसियेशन तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों, कालेज एवं यूनिवर्सटी के पदाधिकरियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की गयी।
डीएम ने कहा कि भारत एवं अफ्रिका देशों के बहुत पुराने सम्बन्ध है अतः सभी स्थानीय जन सामान्य को इस महत्व को समझना चाहिये और जो विगत दिवस घटना घटी है यह देश के लिये बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। नाइजीरिया देश या अन्य देशों के जो बच्चे यहॉ अध्ययनरत है वे सभी हमारे महमान है और भारत देश की संस्कृति भी अतिथि देवों भवः है। उन्होनंे कहा हमें सभी देशों के नागरिकों का अपने देश में सम्मान करना चाहिये। डीएम ने कहा कि सभी देशों की संस्कृति एवं भेषबूशा, भाषा अलग अलग होती है।
जिलाधिकारी ने कहा कि भविष्य में ऐसी घटनायें घटित न होने पाये इसके लिये समाज के लोगों को आगे आना होगा और एक दूसरे के संस्कृति एवं भाषा का सम्मान करते हुये उनका सम्मान करना होगा। श्री सिंह ने कहा कि जहॉ पर नाईजीरियॉ के लोग प्रवास कर रहे है उनका चिन्हिकरण करते हुये स्थानीय गणमान्य लोगों को उनके साथ सामजस्य स्थापित कर ऐसे कार्यक्रम आयोजि किये जाये जिससे हम एवं वे लोग एक दूसरे की संस्कृति, भाषा, बेशभूषा, एवं कानून को जान सकें इसके आपस में एक सौहार्द का वातावरण तैयार होगा और देश की संस्कृति का सम्मान भी बना रहेगा।
उन्होनें कहा कि जनसामान्य किसी अपवाह पर विश्वास न करें यदि उन्हें कही पर उनके किसी व्यक्ति के गलत कार्य की कोई सूचना प्राप्त हो तो उसकी सूचना प्रशासन को दी जाये ताकि उनके प्रतिनधियों से मिलकर उसमें अग्रिम कार्यवाही की जा सकें। जिलाधिकारी ने सभी शिक्षण संस्थाओं के प्रतिनिधियों का भी आहवान किया कि जिनकी संस्थाओं में विदेशों के बच्चें अध्ययन कर रहे है उनके यहॉ अधिकाधिक कार्यक्रम इस प्रकार के आयोजित किये जाये कि विदेशी बच्चें यहॉ की संस्कृति कानून एवं सामाजिक व्यवस्था के समझ सकें और यहॉ के बच्चें उनकी कल्चर को जान सकें इसके आपसी सद्भाव बढेगा और ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगेगा।
जिलाधिकारी ने अपने देश का नाम रोशन करने के लिये इस कार्य के लिये सभी संगठनों को आगे आकर ऐसे कार्यक्रम भी आयोजित किये जाये ताकि एक अच्छा वातावरण तैयार हो सकें। आयोजित बैठक में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सुजाता सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुमार विनीत, उप जिलाधिकारी सदर राजेश कुमार सिंह, नगर मजिस्टेªट अंजनी कुमार अन्य अधिकारी गण एवं नाइजीरियन एसोसियेशन के पदाधिकारियों, स्थानीय संगठनों के प्रतिनिधियों के द्वारा भाग लिया गया।-राकेश चौहान सूचनाधिकारी।

GREATER NOIDA SSP DIRECTS POLICE ACTION ON COMPLAINT NIGERIAN WELFARE ASSOCIATION

Gautam Budh Nagar Senior Superintendent of Police (SSP) has ordered Kasana Police officials to register case against 1000-1200 unknown people. The cops have taken action on the basis of the complaints filed by Nigerian Residential Welfare Association and booked ten people regarding it and started their investigation.

Whereas heavy police force has been deployed outside NSG society to keep people calm and maintain law and order.

The SSP Dharmender Singh Yadav has held a meeting with Nigerian Residential Welfare Association. After which on their complain SSP has directed Kasana Police to take appropriate action.

GREATER NOIDA POLICE REGISTERS FIR AGAINST 10 PERSONS – DRUG DEATH PROTEST

नाइजीरियन रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन की कंप्लेंट पर १० लोग नामजद व 1000 से 1200 अज्ञात लोगो के खिलाफ भाo दo संo के धारा 147, 148, 323, 307, 364 में कासना पुलिस द्वारा मुक़दमा दर्ज किया गया ।
नामज़द लोग:
१. सुरेंद्र भाटी
२. देवेंद्र टाइगर
३. अजीत दौला
४. अमित लड़पुरा
५. अमित भाटी
६. हरेंद्र भाटी
७. विभूति सिंह
८. जोगिन्दर
९. बब्बल भाटी
१०. जतन भाटी

ये जिन लोगों को नामजद किया गया है ये व लोग हैं जो लोकल स्तर पर कई तरह के सामाजिक कार्यों से जुड़े रहते हैं। कहने का मतलब ये है कि क्या पुलिस ने इतनी बड़ी भीड़ से उन लोगों को नामजद कर दिया जो कैंडिल मार्च में शामिल थे और जिनके पुलिस पहचानती थी ?? भले ही नाईजीरियन से उन्होने मारपीट ना की हो।