Monthly Archive: March 2017

ग्रेटर नोएडा के Its डेंटल कॉलेज में सिंगर कन िका कपूर ने मचाई धूम छात्र छात्राओं ने किया ड ांस

ग्रेटर नोएडा के Its डेंटल कॉलेज में सिंगर कनिका कपूर ने मचाई धूम छात्र छात्राओं ने किया डांस

विधायक जेवर ने उठाया जेवर में एयरपोर्ट बन ाये जाने का मुददा

एनसीआर के त्वरित औद्योगिक विकास और नौजवानों के रोजगार सृजन के लिए जनपद गौतमबुद्धनगर के जेवर में एयरपोर्ट की स्थापना को देखते हुए कल दिनांक 30 मार्च 2017 को लखनऊ के लोकभवन में आयोजित विधानमंडल दल की बैठक में जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने जेवर में एयरपोर्ट बनाये जाने का मुददा जोरदार तरीके से उठाया। धीरेन्द्र सिंह, विधायक जेवर ने कहा कि ’’भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र में आने वाले 05 वर्षों में 70 लाख नये रोजगारों का सृजन होना है, इसी क्रम में अगर जेवर के नजदीक एयरपोर्ट की स्थापना हो जाती है, तो अनेकों मल्टीनेशनल कंपनियां एयरपोर्ट के इर्द गिर्द अपने औद्योगिक इकाईयों की स्थापना करेंगी, जिससे पूरे उत्तर भारत में नौजवानों को नये -नये रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकते हैं।’’

राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप में फादर एग्न ल स्कूल के छात्रों ने हासिल किये चार स्वर्ण व दो रजत पदक

ग्रेटर नोएडा के विद्यार्थियों ने जीते राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप में चार स्वर्ण व दो रजत पदक ।यह प्रतियोगिता कुशाल नगर कर्नाटक में 14 जनवरी 2017 को आयोजित हुई थी। काटा &कुमिते कोफूकन इंटर स्टेट कराटे चैंपियनशिप समारोह में नवीं कक्षा के शिवम् ए आठवीं कक्षा के अर्जुन और पाँचवीं कक्षा के मैथ्यू ने शानदार प्रदर्शन किया। शिवम् ने दो स्वर्णएअर्जुन ने एक स्वर्ण और एक रजत तथा मैथ्यू ने भी एक स्वर्ण और एक रजत पदक हासिल किया। सबसे अधिक पदक हासिल कर फादर एग्नेल स्कूल ग्रेटर नोएडा राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप. 2017 का विजेता बना । प्रधानाचार्या सिस्टर शमिता ने बच्चों को बधाई दी और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

मंगलमय कॉलेज के छात्रों ने अन्न को बरबाद क रने से रोकने के लिए निकाली जागरूकता रैली

ग्रैटर नोएडा नालेज पार्क-2 स्थित मंगलमय संस्थान के छात्रों ने थाली मे अन्न छोडने की गलत आदत को छोडने के लिए लोगो को जागरूक करने हेतु नालेज पार्क में रैली निकाली।

आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा मन की बात कार्यक्रम में कहा गया था कि हमें अपनी थाली में अन्न नही छोडना चाहिये, हमें उतना ही खाना थाली में लेना चाहिये जितना हमें खाना है। इससे अन्न की बरबादी रूकेगी और किसी गरीब का पेट भरा जा सकेगा। इसी बात से प्रेरित होकर मंगलमय संस्थान के प्रबन्धन विभाग के छात्रों नें इस हेतु लोगों को और छात्रों को जागरूक करने के उदेश्य से एक रैली निकाली।इस रैली में छात्रों ने विभिन्न प्रकार के पोस्टर बनाकर प्रदर्शित किये जिनमें खाना बचानें से सम्बंधित स्लोगन, चित्र, पिक्चर आदि बनाकर प्रदर्शित किया गया। यह रैली नॉलेज पार्क में मंगलमय संस्थान से शुरू होकर ळछप्व्ज्ए स्स्व्ल्।क्ए प्प्स्डए ।ब्ब्न्त्।ज्म्ए छप्म्ज् कालेज से होते हुये वापस मंगलमय संस्थान पहूंची छात्रों ने रास्ते मे नारे लगाये, रास्ते में मिलने वाले लोगों को समझाया।मंगलमय संस्थान के चैयरमैन श्री अतुल मंगल, वाइस चैयरमैन श्री अनुज मंगल नें छात्रों को बधाई देते हुये रैली को मंगलमयं संस्थान से रवाना किया इस दोरान सभी शिक्षकगण रैली के साथ-2 चलते रहे और उन्होने भी लोगों को समझाया।

गलगोटिया कॉलिज में माइक्रोवेव रिमोट सेंस िंग टैक्नोलॉजीज (मिसेंतरा) पर दो दिवसीय राष्ट ्रीय संगोष्ठी का आयोजन

गलगोटिया कॉलिज ऑफ इंजिनियरिंग एण्ड टैक्नोलॉजी में इलैक्ट्रोनिक्स क्मयूनिकेशन विभाग द्वारा भारत सरकार के सहयोग से ग्रामीण अनुप्रयोगों के लिए उभरते हुए माइक्रोवेव रिमोट सेंसिंग टैक्नोलॉजीज (मिसेंतरा) 2017 पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में दिल्ली एनसीआर के विभिन्न महाविद्यालयों के प्रोफेसरों और छात्रों ने भाग लिया। संगोष्ठी में मुख्य अथिति आलोक प्रसाद मित्तल मेम्बर सेकेट्री आईसीटीई आमंत्रित थे। वक्ता के रूप में पंजाब विश्वविद्यालय के प्रोफेसर मंदीप सिंह ने छात्रों से माइक्रोवेव रिमोट सेसिंग टैक्नोलॉजी पर विस्तृत चर्चा की। आलोक प्रसाद मित्तल ने छात्रों को बताया कि माइक्रोवेव रिमोट सेसिंग टैक्नोलोजी हमे उभरती हुई माइक्रोवेव प्रौदयोगिकियों के बारे में सबसे गहरे तरीके से बताती है। इन प्रौदोगिकियों का मुख्य उपयोग रिमोट सेसिंग के माध्यम से होता है। जिसमें विभिन्न उपग्रहों के साथ अलग-अलग क्षेत्रों के बारें में सूचना प्राप्त करने के लिए पृथ्वी को सैटेलाइट या उच्च उडान एयरक्राफ्ट द्वारा स्कैन किया जाता है। रडार इमेजेटिंग टैक्नोलॉजी का उपयोग विभिन्न कृषि उद्देश्यों, नाइट्रोजन प्रबन्धन, विभिन्न क्षेत्रों में जांच के लिए किया जाता है। संगोष्ठी में अथितियों का स्वागत डॉ0 वी0 के0 द्विवेदी निदेशक गलगोटिया कॉलिज और डॉ0 एस लक्षमणन प्रमुख ईसीई विभाग जीसीईटी ने किया। कार्यक्रम में आदित्य विक्रम, मंयक तिवारी, श्रृष्टी शर्मा आदि उपस्थित रहे।

DO NOT WAIVE OFF LOAN , BUT INTEREST @arunjaitley

हरिश गुप्ता,पूर्व महासचिव वरिष्ठ नागरिक समाज, ग्रेटर नोएडा ।
हमारे देश मे आए दिन किसी न किसी संस्था या सरकारों के निर्वाचन चलते रहते हैं इसीलिए चुनावी आचार सहिंता की तलवार भी लटकी रहती है।भला हो शेषन जी का उनके कार्यकाल में निर्वाचन आयोग को वास्तविक ताकत मिली अन्यथा निर्वाचन आयोग रूलिंग पार्टी का ही पक्ष लेता था।शेषन जी के बाद से निर्वाचन आयोग को अपने करतवय एवं अधिकारों का बोध अच्छी तरह से हो गयाहै।यह बात दूसरी है कि वह निर्णय न ले।
निर्वाचन दोरान घोष- णाओ की बाढ आती है। सरकारें 5 वर्ष तक ऐसे निर्णय कयो नहीं लेती जिनहे उनहे निर्वाचन दोरान लेना पड़ता है। भाजपा दवारा उ प्र विधान सभा के चुनाव दोरान किसानो के कर्ज माफी का निर्णय लेना तर्क संगत नहीं है। जब उनके खेतों की सिंचाई हेतु आपको आधारभूत सुविधाएँ उपलब्ध करानी हैं ।आपदा के आने पर लिबरल फसल बीमा सुविधा कम प्रीमियम पर ही देनी है।बीज,उर्वरक एवं कीटनाशक ससती दर पर देना है।फसल का क्रय मूल्य बढ़ाकर महंगी दर पर उसकी उपज को क्रय करना भी है जिससे उसकी आय दोगुनी की जा सके। इस सबको करने के लिए धन चाहिए ।यह तभी संभव है जब अन्य सभी विकास योजनाओं जैसे शिक्षा, सवासथय, आने जाने के साधनों, पीने के पानी की योजनाओं को भुला दिया जाए और अच्छी कानून व्यवस्था करने हेतु भी संसाधनों के विकसित करने की ओर भी ध्यान न दिया जाए।यह कार्यक्रम भी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप में किसानों है भी जुड़े हैं । अतः इन्हें भी भगवान आसरे छोड़ना संभव नहीं है। भारत सरकार भी अकेले किसी प्रदेश को अन्य प्रदेशों की उपेक्षा कर आर्थिक मदद नहीं दे सकती है।
और लोन माफी का सिलसिला यदि चल जाता है तब हर आदमी यह सोचता है कि यदि सरकार को वोट लेना है तब लोन माफ करेगी । सरकार इस समय खेती के लोन के अलावा विद्यार्थी लोन, मुद्रा लोन , उद्योग लोन , कार, बस, भवन ,आदि अनेक प्रकार के लोन दे रही है। लोन भुगतान की समस्या हर जगह आ सकती है।
हमारा यही सुझाव है कि मूलधन लोन माफ नही होना चाहिए।एक फसल या कुछ फसलों के ब्याज को ही माफ करना चाहिए।