Daily Archive: February 23, 2017

DELHI WOOD 2017 AT INDIA EXPO MART GREATER NOIDA

Technology Up-gradation, Capacity Expansion and Skill Development
at DELHI WOOD 2017

The fifth edition of the woodworking industry’s eagerly anticipated biennial event, DelhiWood 2017, will be held from 1-4 March 2017, at the India Expo Centre & Mart in Greater Noida, India.

DelhiWood has established beyond doubt that it is Asia’s largest trade show for Furniture Production Technologies, Woodworking Machinery, Tools, Fittings, Accessories, Raw Materials and Products and has emerged as the most important sourcing platform for furniture & kitchen manufacturers, wood based handicraft manufacturers, saw millers, craftsmen, woodworking professionals, architects, builders and interior designers. Over 450 exhibitors from 30 countries will exhibit in a whopping 30,000 square metre of space.
HIGHLIGHTS AT DELHIWOOD 2017

More than 450 exhibitors from 30 countries
30,000 woodworking professionals
500 working machines and production lines spread over 30,000 sqm.
Sourcing Forums for visiting furniture manufacturers
International Timber Forum
Skill Development Program by Furniture & Fittings Skill Council (FFSC) & Workshops
Country Pavilions and Group Participations from Canada, China, France, Germany, Italy, Malaysia, Russia, Taiwan, Turkey and USA

Exhibition Timings
1 March 2017 1035 hrs. – 1830 hrs.
2-3 March 2017 1030 hrs. – 1830 hrs.
4 March 2017 1030 hrs. – 1800 hrs.

To Pre-Register, please click http://www.delhi-wood.com/visi-reg1.php

For travel & accommodation, kindly contact our official partner whose contact details are given below.
http://www.delhi-wood.com/accommodation.html

Look forward to meeting you at DelhiWood 2017.
Best Wishes,

Team Delhiwood 2017
Preethi S
PH: 91-080-42505070

सुत्याना गांव में पत्नी ने शराब पीने से रो का तो पति ने पत्नी की कर दी हत्या

ग्रेटर नोएडा के थाना ईकोटेक तृतीय क्षेत्र के सुत्याना गांव में महिला को उसके पति ने अपने दो मासूम बच्चों के सामने पीट-पीटकर मार डाला। आज तड़के चार बजे वह पत्नी के शव को घर में छोड़कर फरार हो गया। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।सीओ तृतीय राकेश कुमार ने बताया कि थाना ईकोटेक तृतीय क्षेत्र के सुत्याना गांव न में राजू नामक व्यक्ति ने अपनी पत्नी संजू व बेटी अंजली व बेटे के साथ रहता है। राजू मूलरूप से झारखंड के बोकारों जनपद का रहने वाला है। सीओ राकेश कुमार ने बताया कि राजू शराब पीने का आदी है। बीती रात को वह शराब पीकर घर आया। शराब पीने को लेकर पति-पत्नी में विवाद हो गया। राजू ने अपनी पत्नी को जमकर पीटा तथा तीन बजे के करीब उसने उसका गला दबाकर हत्या कर दी। सुबह 4 बजे वह अपनी पत्नी को मृत अवस्था में छोड़ घर से भाग गया। सीओ ने बताया कि इस पूरी घटना को राजू की 12 वर्षीय बेटी अंजली व उसके 8 वर्षीय बेटे ने अपनी आंखों से देखा। डरे सहमे दोनों बच्चों ने सारा वाक्या रो-रोकर सुबह को पड़ोस में रहने वाले लोगों को बताया। घटना की सूचना पड़ोसियों ने पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस हत्यारोपी की तलाश में जुटी

शहीद विजय सिंह पथिक स्पोर्ट्स कॉम्प्लैक् स में 3 मार्च से पुलेला गोेपीचंद की बैडमिंटन अ कैडमी का ट्रायल शुरू

ग्रेटर नॉएडा के शहीद विजय सिंह पथिक स्पोर्ट्स कॉम्प्लैक्स में 3 मार्च से पुलेला गोेपीचंद की बैडमिंटन अकैडमी शुरू हो रही है। इसके लिए 22- 23 फरवरी को ट्रायल का आयोजन किया गया।इस स्पोर्ट्स कॉम्प्लैक्स के इंजार्च व अथॉरिटी के जीएम प्रोजेक्ट राजीव त्यागी ने बताया कि दो दिनों तक चले ट्रायल में 359 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। जिन बच्चों को कोचिंग के लिए सलेक्ट किया जाएगा, उनके पैरंट्स को ई-मेल और मेसेज के जरिए एक सप्ताह में इसकी सूचना दे दी जाएगी। उन्होंने बताया ट्रायल के लिए पहले से रजिस्ट्रेशन खोला गया था, लेकिन पैरंट्स के अनुरोध पर ऑॅन द स्पॉट भी खिलाड़ियों को ट्रायल में शामिल होने का मौका दिया गया। उन्होंने बताया कि इंडियन और मलेशियन कोच ने ट्रायल लिया है। दोनों खिलाड़ियों के परफॉर्मेंस से बेहद उत्साहित हैं।

अंसल मॉल में ओप्पो मोबाईल स्टोर से लाखो की चोरी

आज ग्रेटर नॉएडा के अंसल मॉल में ओप्पो मोबाईल स्टोर में ग्लास तोड़कर चोरो ने की लाखो की चोरी ।ग्रेटर नॉएडा में सुरक्षित कहे जाने वाले अंसल मॉल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा हो गया है।मिली जानकारी के अनुसार दीपक ने बताया कि हररोज की तरह वो रात 9 बजे दूकान बन्द कर घर चले गये थे। रात में मॉल की सिक्योरिटी ने फोन पर घटना की सूचना दी । साथ ही दीपक ने बताया की चोरों ने दुकान से लगभग 8 से 10 महंगे मोबाइल और 46 हज़ार रूपये नकद निकाल कर ले गये। उन्हें 2 लाख से अधिक का नुकसान हुआ है। और फिलहाल मॉल की सेक्युरिटी सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है।साथ ही दीपक ने बताया की हमारी शॉप के ऊपर सीसीटीव कैमरा भी लगा हुआ है।मगर काम नहीं कर रहा है।

एक्सप्रेसवे पर तेज रफ़्तार कार असन्तुलित ह ोकर पलटी बीटेक के छात्र की मौत

आज नॉएडा ग्रेटर नॉएडा एक्सप्रेसवे पर करीब 3:30 बजे थाना सूरजपुर क्षेत्र के सेक्टर 144 के पास तेज रफ़्तार कार असन्तुलित होकर पलटी बीटेक के छात्र की मौत ,मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली सूरजपुर प्रभारी अनुज चौधरी ने बताया कि दिल्ली से आरही स्विफ्ट डिजायर कार खुद को बचने के चक्कर में डिवाइडर से जा टकराई।सड़क हादसे में इको सवार शारदा यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट पारस आहलुबालिया&प्रदीप कुमार आहलुबालिया की मौत हो गयी जबकि 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। घायलों में चार लोग केरल के रहने वाले हैं जो ताजमहल देखने के लिए दिल्ली से आगरा जा रहे थे।शारदा यूनिवर्सिटी के छात्र पारस अहलूवालिया(20 वर्ष) पुत्र प्रदीप कुमार निवासी पठानकोट व उसके दोस्त लवनीत तोमर, अमान, ध्रुव, हिमांशु और प्रिंस नोएडा से परीचौक के लिए आ रहे थे। पुलिस के मुताबिक इको तेज रफ़्तार में थी जिसके कारण असंतुलित होकर पलट गयी। इधर पीछे से आ रही एक स्विफ्ट डिजायर कार खुद को बचाने के चक्कर में सईड लिया और डिवाइडर से जा टकरा गयी। इस घटना में इको में सवार बीटेक के छात्र पारस आहुलवालिया की मौत हो गयी जबकि दोस्तों को मामूली चोट आयी है। इधर स्विफ्ट में सवार पति-पत्नी साजु (53 ) ,अनीता (51 ) व उनके दो बेटे अज्जु व अक्कू और चालक मोहम्मद यासीन घायल हो गए। इन्हें नोएडा के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने शव का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया ।

NatureHealz, India’s leading health and wellness brand awarded “Best Naturopathic Treatment Centre of the Ye ar” by ASSOCHAM

NatureHealz Private Limited has been adjudged the "Best Naturopathic Treatment Centre of the Year" by The Associated Chambers of Commerce and Industry of India (ASSOCHAM) under the MediTravel Excellence Awards 2017. Smita Sundararaman, Founder & Managing Director of NatureHealz, collected the award at the event held at The Royal Plaza, Delhi on Feb 21, 2017 from Gen V. K. Singh, Minister of State for External Affairs, Govt of India.The Award ceremony was organized by ASSOCHAMand attended by distinguished personalities who came together to acknowledge the best Nationwide.

On the occasion, Ms.Smita Sundararaman, Founder & Managing Director of NatureHealz said, “This award is testimony to the passion we bring to what we do and the difference we make to the lives we touch. We are grateful to everyone who believed in us. We are where we are because of you.” She further added that the relentless effort of her team has culminated in bringing the award of repute to NatureHealz.

With this highest acclaimed award by ASSOCHAM, NatureHealz has established itself as the leader in providing Naturopathy treatments and consultations. The brand is a pioneerin conceptualizing, formulating and operating long distance Naturopathy consultation model, bringing Naturopathy right to the doorstep. With the vision to equip individuals with the knowledge to manage and sustain good health by using time-tested Naturopathy principles, NatureHealz is transforming people’s approach to ‘Being Healthy The Natural Way’.Their “Do-It-Yourself” approach encourages individuals to adopt a responsible lifestyle by following customized recommendations, regular guidance and coaching from experienced Naturopath Physicians. Through weekly progress reviews, they ensure constant engagement and course corrections required for changing the mindset, behavior and lifestyle, thereby ensuring long term sustainable benefits as opposed to just immediate short term/symptomatic relief that people get from residential treatment programmes.

NatureHealz has provided natural ways to improve overall health and cure problems like Obesity, Diabetes, PCOD, Hypercholesterolemia, Fatty Liver, Hyperacidity, Gastritis, Indigestion, Migraine, Sinusitis, Diarrhea, Asthma, Constipation, Piles, Gout, Hypertension, Hypothyroidism, Insomnia, Depression, Psoriasis, Acne, Common Cold and many more without using medicines of any kind. Further, following their wellness consultations as a preventive measure has led to improved immunity and body vitality for their patrons.

Over the last 3 years, more than 2000 people across India and 18 other countries have regained their health through their treatment consultations. This company is driven by passion by individuals who practice Naturopathy as a way of life and have given up their long-standing corporate careers to help propagate its benefits to the ones who need it most.

रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेटर नोएडा द्वारा हरला ल इंस्टीटयूट में रक्तदान शिविर में 102 यूनिट रक ्त हुआ एकत्रित

आज ग्रेटर नॉएडा के हरलाल कॉलेज में रोटरी क्लब ग्रीन ग्रेटर नोएडा द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया । शिविर का उद्घाटन HIMT कॉलिज के चैयरमेन श्री हेमसिंह जी ने फीता काटकर किया ।रक्त दान शिविर में 102 यूनिट रक्त एकत्रित हुआ । क्लब के अध्यक्ष कपिल गुप्ता व डिस्ट्रिक रक्तदान कमेटी के चैयरमेन सौरव बंसल ने बताया शिविर में 132 छात्र ,छात्राओं , कॉलिज स्टाप ने व रोटेरियन ने रजिटेशन कराया जिनमे 30 सदस्य हीमोग्लोबिन , वजन कम या BP सही न हो पाने के कारण रक्त दान नही कर पाये।क्लब महासचिव विनोद कसाना ने रक्त दान करने के फायदे स्कूल के छात्रों को बताये रक्त दान करने वाले व्यक्ति को ह्रदय रोग,कैन्सर,मोटापा जैसे खतरनाक रोगों से बचा जा सकता है और आपकी एक यूनिट रक्त से 3 लोगो की जान बचाई जा सकती है । विनोद कसाना जी ने भी रक्त दान किया कसाना जी पिछले 20 वर्षो से रक्त दान कर रहे है अब तक लगभग 30 बार रक्त दान कर चुके है । रोटरी क्लब रक्त दान करने के लिऐ जागरूकता अभियान चलता रहता है ।आज के शिविर में कॉलिज के सेकेट्री अमित बंसल, डा अग्निवेश गुप्ता हितेंद्र नागर अर्चना दुबे जी व रोटरी क्लब से क्लब अध्यक्ष कपिल गुप्ता महासचिव विनोद कसाना कोषाध्यक्ष मुकुल गोयल पूर्व अध्यक्ष सौरभ बंसल, के के शर्मा , शिवकुमार आर्य,अमित राठी , ऍम एल गुप्ता ऍम पी सिंह दीपक तिरखा आदि रोटेरियन्स ने सहयोग किया।

TENNEWS NEWS LINK

Dear Most Valued tennews.in Visitor,

Thank you so much indeed for your e mail.

Your news is now online at www.tennews.in

News category / post link is as under :

http://tennews.in/jp-hospital-noida-news-3/

About tennews.in

Please note tennews.in news posts are simultaneously shared in our social media channels at Facebook, YouTube, Twitter , Google + , LinkedIn etc.

We are glad to share that, tennews.in ranking is higher in the search engines.

Warm regards,

Lokesh Goswami,

Reporter

Mob : 9289668747

जेपी हॉस्पिटल में मरीज ने कराया दूसरी बार लिवर प्रत्यारोपण, बची जान

GREATER NOIDA TENNEWS REPORTER LOKESH GOSWAMI

एन.सी.आर. में अग्रणी एवं उत्तर भारत में प्रमुख स्थान रखने वाले, नोएडा सेक्टर 128 स्थित मल्टी सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सा संस्थान जेपी हॉस्पिटल के लिवर ट्रांसप्लांट विभाग के चिकित्सकों की टीम ने एक बार फिर बहुत ही जटिल लिवर प्रत्यारोपण सर्जरी द्वारा एक मरीज की जान बचाने में सफलता पाई। 47 वर्षीय रोगी धीनेंद्र सिंह धाम, बिजनौर का रहने वाला है जिसे दूसरी बार लिवर फैल्योर के कारण लिवर प्रत्यारोपण कराना पड़ा। शराब पीने के कारण पहली बार इसका साल 2008 में लिवर खराब हुआ और तब छोटे भाई वीरेंद्र सिंह (38 वर्ष) ने लिवर दान किया था और अब 8 साल बाद बड़ी बहन कुसुम (54 वर्ष) ने लिवर दान कर भाई की जान बचाई। यह सफलता जेपी हॉस्पिटल के लिवर प्रत्यारोपण विभाग के वरिष्ठ सर्जन डॉ. अभिदीप चौधरी एवं उनकी टीम को मिली।मरीज की बीमारी के बारे में विस्तार से बताते हुए लिवर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. अभिदीप चौधरी ने कहा, “शराब पीने के कारण साल 2008 में मरीज का लिवर खराब हो गया था और उस समय इसने अपना लिवर प्रत्यारोपण करवाया था। सर्जरी के बाद शराब छोड़ने के कारण मरीज का जीवन सामान्य हो गया था, लेकिन साल 2012 में रोगी ने दोबारा शराब का सेवन करना शुरू कर दिया, जिस कारण फिर से उसका लिवर खराब हो गया, साथ ही उसे पीलिया भी हो गया। रोगी के पेट में चारों तरफ पानी भर गया। इस बीमारी के कारण मरीज “लिवर कोमा एवं किडनी फैल्योर” की स्थिति की ओर जा रहा था।”डॉ. अभिदीप चौधरी ने आगे बताया, “एक ही मरीज का दो बार लिवर प्रत्यारोपण सर्जरी करना बहुत ही जटिल प्रोसीजर होता है क्योंकि मरीज ने पहले भी एक बार सर्जरी कराई होती है। ऐसी स्थिति में दोबारा की जाने वाली सर्जरी को सफल बनाना बहुत बड़ी चुनौती होती है। सर्जरी में रक्त के प्रवाह को सुचारू रूप से बनाए रखने के लिए रक्त वाहिकाओं को सही तरीके से जोड़ना बहुत कठिन काम होता है। दोबारा लिवर प्रत्यारोपण सर्जरी में सबसे अधिक परेशानी यह होती है कि पूर्व में जिन रक्त वाहिकाओं का इस्तेमाल किया गया है उनमें से कुछ को बदलकर कृत्रिम रक्त वाहिकाओं को लगाना पड़ता है। इसके साथ ही दूसरी बार की सर्जरी में अधिक रक्तस्राव का जोखिम भी बढ़ जाता है। मरीज शारीरिक एवं मानसिक रूप से भी कमजोर होता है।”
वरिष्ठ सर्जन डॉ. चौधरी ने बताया, “पुनः प्रत्यारोपण दो स्थिति में की जाती है। पहला जब हाल ही में किया गया प्रत्यारोपण सफल नहीं हुआ हो या प्रत्यारोपण के बाद कुछ जटिलताएं उत्पन्न हुई हों। दूसरी बार यह प्रोसीजर तब होता है जब कुछ सालों बाद खान-पान, दवाई का सही से सेवन नहीं करने या शराब पीने के कारण लिवर खराब हो गया हो। इस मरीज के साथ ऐसा ही हुआ है।”एक कोरियाई मेडिकल पत्रिका के अनुसार, “पुनः लिवर प्रत्यारोपण सर्जरी के दौरान चिकित्सकों को नसों के जुड़ाव, जटिल संरचनाओं एवं नव विकसित नसों के कारण बहुत तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। विश्व भर में ऐसे कुछ ही मामले सामने आए हैं जब एक लिवर प्राप्तकर्ता ने कई वर्षों के अंतराल पर दो बार अपना लिवर प्रत्यारोपण कराया हो और दोनों बार जीवित दाता द्वारा लिवर दान लिया गया हो।”सर्जरी के सफल होने के बाद धीनेंद्र सिंह धाम ने भी अपना अनुभव बताया, “पहली बार लिवर प्रत्यारोपण के बाद मैं सामान्य जीवन जी रहा था लेकिन शराब पीने की अपनी लत से मैं अधिक दिनों तक छुटकारा नहीं पा सका। इसका परिणाम यह हुआ कि मेरा लिवर दोबारा खराब हो गया। सच कहूं तो जब दूसरी बार मेरा लिवर खराब हुआ तो मैं बुरी तरह डर गया था कि अब और अधिक दिनों तक शायद जीवित नहीं रह पाउंगा, लेकिन जब मेरी मुलाकात जेपी हॉस्पिटल के डॉ. अभिदीप चौधरी से हुई तो उन्होंने भरोसा दिलाया कि दोबारा लिवर प्रत्यारोपण कराकर मैं फिर से सामान्य जीवन जी सकता हूं। इसके बाद भी मैं शुरुआत में बहुत चिंतित था, लेकिन सर्जरी कराने के अलावा मेरे पास दूसरा कोई विकल्प भी नहीं था। आखिरकार सर्जरी हुई और सफल हुई। मैं अब पूरी तरह स्वस्थ हूं।”जेपी हॉस्पिटल के बारे में-नोएडा स्थित जेपी हॉस्पिटल 18 एकड़ क्षेत्रफल में फैला हुआ है। हॉस्पिटल की योजना और डिज़ाइन 1200 बेड्स से युक्त टर्शरी केयर स्पेशलिटी सुविधा के रूप में तैयार की गई है। प्रथम चरण में 525 बेड्स के साथ इसका सफल संचालन किया जा रहा है।
जेपी हॉस्पिटल अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवाओं, नैदानिक सेवाओं एवं आधुनिक तकनीकों से युक्त सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल है, जो आम जनता की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए विशेषज्ञ सेवाएं प्रदान करता है। हॉस्पिटल की योजना, डिज़ाइन एवं निर्माण कार्य इसे भारत के कुछ ही गोल्ड लीड प्रमाणित हॉस्पिटल इमारतों में शामिल करते हैं।

GREATER NOIDA POLICE FAILS TO CATCH THIEVES

बीटा एक सेक्टर में आए दिन चोरी की घटनाएं सामने आ रही हैं बढ़ती चोरियों के खिलाफ पुलिस प्रशासन कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है जिसे देखते हुए सेक्टरवासियों में रोष व्याप्त है शिकायत करने के बाद चोरों के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है सी 134 मकान के सामने खड़ी बाइक को चोर चुरा ले गए सी 101 मकान में चोरों ने साठ हजार रुपए और करीब एक लाख का कीमती सामान चोरों ने चुरा लिया ए 426 मकान के सामने से चोर अपाचे बाइक चुरा ले गए चोरों के आतंक का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले 10 दिनों में 12 से अधिक मकानों में चोरी हो चुकी है इनमे नगदी ज्वेलरी समेत अन्य सामान चोरी हुआ है।

हरेन्द्र भाटी