Daily Archive: February 16, 2017

Third Global Exhibition on Services 2017 at India Expo Mart Greater Noida

GREATER NOIDA : : Confederation of Indian Industry (CII) organized the second Global Exhibition on Services at India Expo Centre and Mart, Greater Noida, India in April 2016 and is scheduling the third edition of GES from 17 – 20 April 2017 at India Expo Centre and Mart, Greater Noida, India.

The primary objectives of the Global Exhibition on Services is to:

1. Position India as a leader in the services sector

2. Tap potential for exports in the services sector

3. Draw investments into India in the services sector

Date and Venue
Start Date: Apr 17, 2017, End Date: Apr 20, 2017
Venue: India Exposition Mart Limited, India Expo Centre & Mart, India Expo Centre & Mart, Greater Noida, UP, Inida, Greater Noida, U P, India

IIIMT STUDENTS CREATE GOLDEN BOOK OF WORLD RECORDS

Gr Noida : आईआईएमटी के छात्रों ने रचा इतिहास
-विश्वक की सर्वाधिक मोटी हस्ततलिखित इंजीनियरिंग पांडुलिपि (पुस्त क) की तैयार -महज एक घंटे में लिखने के बाद बाईडिंग कर तैयार करने का विश्वि का पहला रिकॉर्ड
ग्रेटर नोएडा। आईआईएमटी कॉलेज समूह के छात्र और छात्राओं ने विश्वं में सर्वाधिक मोटी हस्तटलिखित इंजीनियरिंग पांडुलिपि (पुस्ताक) तैयार करने का विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। इस पुस्तंक को लिखने का कार्य 2904 विद्यार्थियों ने एक साथ शुरु किया और 11616 हजार पृष्ठों की किताब महज 35 मिनट में लिख दी और कुल 60 मिनट में कंपाइल होकर तैयार हो गई। इतने कम समय में सर्वाधिक मोटी हस्तटलिखित पुस्तकक तैयार करने का यह पहला विश्वई रिकॉर्ड है।
गोल्डेिन बुक ऑफ वर्ल्डस रिकॉर्ड के प्रतिनिधियों ने इस घटना को लाइव रिकॉर्ड किया। इसी दौरान उन्हों ने आईआईएमटी को विश्वि रिकॉर्ड बनाने का प्रमाण पत्र भी भेंट किया। रिकॉर्ड मेकिंग का हिस्साह बनकर विद्यार्थियों के चेहरे पर जबर्दस्तण रोमांच और उत्साॉह था। इस ऐतिहासिक कार्यक्रम का आयोजन ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क तीन स्थित आईआईएमटी कॉलेज परिसर में किया गया। 2904 विद्यार्थियों ने सुबह 11 बजे लेखन कार्य शुरु किया और एक घंटे के अंदर 11616 पृष्ठों की इंजीनियरिंग पांडुलिपि तैयार कर दी। आईआईएमटी समूह के चेयरमैन योगेश मोहनजी गुप्ता6 ने मौके पर पहुंचकर विद्यार्थियों का उत्सािहवर्धन किया। उन्होंरने कहा कि यह विश्व का अद्भुत और अनोखा रिकॉर्ड है। छात्र और छात्राओं ने अपने अदम्यं उत्साहह से यह साबि‍त कर दिया कि इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है।
आईआईएमटी कॉलेज समूह के प्रबंध निदेशक मयंक अग्रवाल ने कहा, कि इस अद्भुत रिकॉर्ड को बनाने के पीछे मुख्यि मकसद बच्चोंक को कुछ नया करने के लिए प्रेरित और प्रोत्साेहित करना था। इस कार्यक्रम के टीम लीडर डॉ. राहुल गोयल ने बताया कि इस उपलब्धि का श्रेय विद्यार्थियों की मेहनत और परिश्रम के साथ कॉलेज के शिक्षकों और प्रबंधकों को जाता है, जिन्हों्ने विद्यार्थियों को असाध्यक कार्य को साध्यक बनाने के लिए प्रशिक्षित और प्रेरित किया।

गौरतलब है कि 15 फरवरी को आईआईएमटी विश्व्विद्यालय मेरठ के 3105 छात्र और शिक्षकों ने महज 80 मिनट में भगवद्गीता के श्लोषकों का उच्चा रण कर विश्व1 रिकॉर्ड बनाया था। पहले यह रिकॉर्ड जर्मनी के नाम दर्ज था। इस रिकॉर्ड को बनाने के लिए विद्यार्थी कुछ समय पहले से ही तैयारी कर रहे थे। कॉलेज के शिक्षकों और प्रबंधकों ने अपने विद्यार्थियों को इस कार्य को करने के लिए जागृत, प्रेरित और उत्साोहित किया।

NOIDA BUILDERS CHEATING IN THE NAME OF CO-DEVELOPERS : NEFOMA PRESIDENT ANNU KHAN

नेफोमा ने जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन कहा बिल्डर कर रहे है को-डवलपर के नाम पर फ्लेट बॉयर्स के साथ धोखा
कोडेवलपर्स को लेकर नेफोमा का रुख शुरू से ही काफी सख्त रहा है । और इसका जोरदार तरीके से विरोध किया गया है । प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने भी माना है कि बिल्डर गलत कर रहा है, हम प्राधिकरण के सीईओ से जल्द मुलाकात करेंगे, नेफोमा इन बिल्डरों की हरकतों और प्राधिकरण के अधिकारियों के द्वारा लिए जा रहे निर्णय पर माइक्रो ऑब्जरवेशन रखे हुए है ।नेफोमा कि जवाबदारी अपने संगठन से जुड़े हजारों बायर एवं दिल्ली एनसीआर में रह रहे सभी फ्लैट बायर्स के प्रति है । बायर को एकजुट होकर रहना है ।बिल्डर से घबरा कर, अफवाह में आकर किसी भी दस्तावेज पर साइन नहीं करने हैं । क्योंकि इससे आपके कानूनी हाथ बन जाते हैं । नेफोमा कानूनी सलाह ले रही है और जल्दी इस पर अमल किया जाएगा । टीम इस चीज इस बात को सुनिश्चित करने की कोशिश कर रही है कि कोई भी दिवालिया बिल्डर देश से बाहर ना जाने पाए ।किसी भी बायर के साथ अगर बिल्डर गुंडागर्दी कर रहा है ।डरा-धमकाकर किसी दस्तावेज में सहमती मांग रहा है तो उसके खिलाफ नेफोमा टीम आवाज उठाएगी ।वायर के हित में नेफोमा शुरू से ही आवाज उठाते आई है और उठा रही है और आगे भी उठाते रहेगी । सभी बायर से अनुरोध है की वह एकजुट होकर रहे नेफोमा से जुड़ें और संगठन को शक्ति प्रदान करें ।

आज नेफोमा ने जिलाधिकारी को अपना एक ज्ञापन सौपा जिसमे नेफोमा ने मांग की है कि आम्रपाली बिल्डर के मालिक श्री अनिल शर्मा अपने प्रोजेक्ट को पूरा करने में असक्षम है और यह थर्ड पार्टी (को डेवलपर) लाने जा रहे हैं ।इस थर्ड पार्टी के आने से इन की जिम्मेदारी हट जाएगी । यह थर्ड पार्टी यानी को डेवलप पर इन्हीं का पुराना कर्मचारी है । जिस की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है और रियल स्टेट क्षेत्र में कोई तजुर्बा नहीं है । वायर को आशंका है कि आम्रपाली बिल्डर के सीएमडी ,चुकी प्रोजेक्ट पूरा करने में असक्षम साबित हो रहे हैं ।इसलिए आशंका है कि वह देश छोड़ दें । इसलिए हम नेफोमा के मार्फत से आपसे अनुरोध करना चाहते हैं कि वह आप इनका वीजा और पासपोर्ट जप्त करें और सुनिश्चित करें कि प्रोजेक्ट कैसे पूरा किया जाए । इसके लिए आपसे निवेदन है कि आप प्राधिकरण के सीईओ, क्रेडाई एवं फ्लैट बायर के साथ एक संयुक्त मीटिंग रखी जाए जिसमें सभी की संयुक्त रुप से कोई आम राय बनाई जाए एवं क्रेडाई और प्राधिकरण की जिम्मेदारी तय हो । इस तरह का कोई कार्यक्रम आप बनाएं
नेफोमा ने क्रय युक्त एफएआर के भवन नियमावली 2010 अध्याय 7 में संसोधन के संदर्भ और मास्टर प्लान 2031 के बारे में एक संयुक्त मीटप्राधिकरण के अधिकारियों एवं इसके अपीलार्थी के साथ रखने के लिए भी जिलाधिकारी से बात की उन्होंने आश्वाशन दिया की कानून के दायरे में जो उचित होगा वह जरूर कार्यवाही करेगे