parichowk.com

news.parichowk.com : Greater Noida – Yamuna Expressway Special News, Features , Silver Jubilee Celebrations

17 नवंबर को जनपद के मतदान केंद्रों पर चलाया जाएगा दिव्यांग व महिलाओं के लिए वोटर आईडी बनवाने के लिए विशेष अभियान

जिलाधिकारी बीएन सिंह ने समस्त जनपद वासियों का आह्वान करते हुए उन्हें जानकारी दी है कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के अनुपालन में 17 नवंबर को जनपद के समस्त मतदान केंद्रों पर महिला मतदाता एवं दिव्यांग जनों के नाम मतदाता सूची में दर्ज कराने के लिए विशेष अभियान संचालित किया जा रहा है।

आयोजित कार्यक्रम के अंतर्गत जिन महिला एवं दिव्यांगजन की आयु आगामी 1 जनवरी को 18 वर्ष पूर्ण हो रही है और उनका नाम अभी तक मतदाता सूची में दर्ज नहीं हुआ है वह अपने मतदान केंद्र पर उपस्थित होकर अपना फार्म 6 भरते हुए अपने बीएलओ को उपलब्ध करा सकते हैं। संचालित अभियान के दौरान कोई भी महिला मतदाता एवं दिव्यांगजन मतदाता अपने नाम एवं पते में किसी प्रकार की गलती तथा अपने स्थान परिवर्तन के संबंध में भी निर्धारित फार्म भरते हैं अपने बीएलओ को उपलब्ध करा सकते हैं ताकि उनके नाम में शुद्धिकरण किया जा सके। जिलाधिकारी ने भारत निर्वाचन आयोग के इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम का अधिक से अधिक लाभ उठाने के लिए जनपद के समस्त महिलाओं एवं दिव्यांग जनों का आह्वान किया है।

गोली मारकर महिला की हत्या से मचा हड़कंप, पुलिस जाँच में जुटी

ग्रेटर नोएडा -: घर में घुसकर महिला की गोली मारकर हत्या से इलाके में फैली सनसनी, घर के कमरे में मिला महिला का खून से लथपथ शव, बताया जा रहा है कि पति से महिला का चल रहा था विवाद। पति से अलग दो बच्चों के साथ रहती थी मृतक महिला, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा, मामले की जांच में जुटी पुलिस, दादरी थाना क्षेत्र के रामवाटिक कॉलोनी की घटना।

झगडे में महिला पर व्यक्ति ने बट्टी से से किया वार, मौत

दनकौर के कनारसा की रहने वाली महिला जो वर्तमान में बीटा 2 थाना कासना क्षेत्र में रह रही थी उसकी वही रहने वाले एक व्यक्ति जिसका नाम धर्मपाल है के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ। झगड़े में धर्मपाल द्वारा महिला पर बट्टी से वार किया गया। महिला को शारदा हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां पर उसे मृत घोषित कर दिया गया है। पुलिस अस्पताल पहुँच कर मामले की जांच में जुट गई है। हॉस्पिटल प्रबंधन ने बताया कि महिला को जब हॉस्पिटल लेकर आया गया तब वो मर चुकी थी जिसकी सूचना कासना थाना पुलिस को दी है।

जीबीयू में यूनिवर्सिटी राउंड टेबल मीट का हुआ भव्य आयोजन

जीबीयू में यूनिवर्सिटी राउंड टेबल मीट का हुआ भव्य आयोजन
ग्रेटर नोएडा स्थित गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में एक यूनिवर्सिटी राउंड टेबल मीट आयोजित किया गया। जिसका नेतृत्व जीबीयू के कुलपति प्रोफेसर बी.पी. शर्मा द्वारा किया गया। डीन एकेडेमिक्स प्रोफेसर शेवता आनंद और डीन आईसीटी डॉ. इंदु अपरटी के साथ शामिल इंडसट्री के सभी प्रमुख लोग मनोज वाजपेयी, मुकुल वर्मा, राज कुमार, अरुण सक्सेस,  पी.डी. उपाध्याय, जयंत पांडेय, ऋषभ गौतम, ब्रजेश मिश्रा, हेमंत कुमार वर्मा मौजूद रहे।
सम्मेलन के दौरान अगली पीढ़ी परिवहन प्रणाली के बारे में था। इसी उद्देश्य के लिए विश्वविद्यालय में कई अल्पकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम और अन्य पाठ्यक्रम शुरू किए जाने का इरादा किया गया था। यह एमबीए / एम टेक छात्रों समेत सभी पाठ्यक्रमों के छात्रों को अत्यधिक लाभ पहुंचाएगा और उन्हें उद्योग रेल के लिए तैयार करने और आवश्यक कौशल हासिल करने में मदद करेगा।
विश्वविद्यालय की ताकत और यहां उपलब्ध अवसरों और संसाधनों की तरह सम्मेलन के दौरान कुछ बेहद उपयोगी चर्चाएं सुनी गईं। चूंकि डीएमआरसी और एनएमआरसी तेजी से नोएडा और एनसीआर में विस्तार कर रहा है, आने वाली पीढ़ी के लिए कई नौकरी और अनुसंधान के अवसर होंगे। विश्वविद्यालय के विभिन्न वर्तमान और चल रहे पाठ्यक्रमों पर कार्यक्रम के समन्वयकों द्वारा उत्कृष्ट प्रस्तुतियां दी गईं। सम्मेलन में भाग लेने वाले सदस्यों को जीबीयू में मौजूद संसाधनों और भविष्य के विकास के दायरे को देखकर बहुत प्रभावित हुए। सम्मेलन एक महान सफलता और सभी सदस्यों के लिए एक सीखने का अनुभव होगा।
इस बैठक में विश्वविद्यालय में कई अनुसंधान केंद्रों और प्रयोगशालाओं को शुरू करने के उद्देश्य से एक उच्च नोट पर निष्कर्ष निकाला गया है जो इस उद्योग के उज्ज्वल भविष्य को ध्यान में रखता है। समन्वयक डॉ. राजेश मिश्रा और डॉ. विदुषी शर्मा के नेतृत्व में की गयी बैठक हाई स्पीड रेल /मेट्रो रेल विकास की दिशा मई एक महत्वपूर्ण कदम है।

पटाखों की अवैध रूप से बिक्री करने वाले लोगों पर की जाएगी कार्रवाई

पटाखों की अवैध रूप से बिक्री करने वाले लोगों पर की जाएगी कार्रवाई
सुप्रीम कोर्ट एवं केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड दिल्ली के निर्देशों के तहत जनपद में पटाखों की बिक्री एवं चलाने को लेकर जिला प्रशासन सक्रियता के साथ दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है।
इसी को लेकर अब जिला प्रशासन की ओर से दीपावली के अवसर पर जिन लाइसेंस धारकों के द्वारा पटाखों की बिक्री में न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन किया गया है, उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की तैयारी जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है। जिला अधिकारी ने इस संबंध में नगर मजिस्ट्रेट एवं उप जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।
वहीं दूसरी ओर जिलाधिकारी ने समस्त जनपद वासियों का आह्वान करते हुए कहा है कि इस समय पूरे जनपद में पटाखों की बिक्री करने के लिए कोई भी लाइसेंस धारक अधिकृत नहीं है। यदि कोई व्यक्ति पटाखे बेचता हुआ पाया जाएगा या कोई खरीदते हुए पाया जाएगा तो माननीय न्यायालय के आदेशों के अनुक्रम उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी जाएगी।

दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन करने को लेकर प्रशासन सख्त, नोएडा में 38 और लोगों के खिलाफ की कार्रवाई

दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन करने को लेकर प्रशासन सख्त, नोएडा में 38 और लोगों के खिलाफ की कार्रवाई
दिवाली पर आतिशबाजी को लेकर न्यायालय के आदेशों का पालन सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से अधिकारियों द्वारा अपने अपने स्तर पर कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है। नोएडा क्षेत्र में आतिशबाजी करने के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करने, प्रदूषण फैलाने एवं शांति भंग करने के संबंध में जिला प्रशासन की ओर से निरंतर रूप से कार्रवाई की जा रही है।
इसी को लेकर नगर मजिस्ट्रेट नोएडा शैलेंद्र कुमार मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि आतिशबाजी करने में माननीय न्यायालय की अवहेलना करने को लेकर 38 और लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।
उन्होंने बताया कि थाना-20 के अंतर्गत 20 लोगों के खिलाफ, थाना फेस 3 में 6, थाना 39 में 7 एवं थाना 24 में पांच व्यक्तियों के विरुद्ध न्यायालय के आदेशों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की गई है। सभी के द्वारा माननीय न्यायालय के आदेशों की अवहेलना करते हुए आतिशबाजी की जा रही थी और शांति भंग करने तथा प्रदूषण फैलाने में संबंधित व्यक्तियों के खिलाफ प्रशासन एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों द्वारा कार्रवाई की गई है।
नगर मजिस्ट्रेट ने समस्त जनपद वासियों का आह्वान किया है कि माननीय न्यायालय के आदेशों के अनुक्रम में आतिशबाजी करने का समय समाप्त हो चुका है और इस संदर्भ में बार बार जनता को जागरूक किया जा रहा है। अतः कोई भी व्यक्ति अब पटाखे न छोड़ें, यदि कहीं पर माननीय न्यायालय के आदेशों की अवहेलना होते हुए पाई जाएगी तो पटाखे छोड़ने वालों के विरूद्ध इसी प्रकार कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी।
वहीं नगर मजिस्ट्रेट ग्रेटर नोएडा गुंजा सिंह ने भी जानकारी दी है कि ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के थाना सूरजपुर के द्वारा 5 लोगों के खिलाफ तथा थाना कासना में 2 लोगों के खिलाफ नियमों का उल्लंघन करने पर पटाखे छोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

दिल्ली में भाजपा हार के डर से पूरी तरह बौखला हुई है : दिलीप पांडे

पत्रकारों से बातचीत करते हुए भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और उत्तरी पूर्वी दिल्ली के लोकसभा प्रभारी दिलीप पांडे ने कहा कि भाजपा दिल्ली में बुरी तरह से हार रही है और उसी हार की दर की बौखलाहट के कारण दिल्ली में उल्टी सीधी हरकतें कर रही है। जिसका प्रमाण यह है कि बीते दिनों भाजपा ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिलकर दिल्ली में 10 लाख लोगों के नाम मतदाता सूची से कटवा दिए। जबकि जांच करने पर पता चला कि उनमें से बहुत सारे लोग उसी पते पर रहते हैं जहां से उडने शिफ्टिड दिखाया गया है।
दिलीप पाण्डे ने कहा कि कल सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में भाजपा के उत्तरी पूर्वी दिल्ली से सांसद एवं दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष मनोज तिवारी और उनके साथियों ने जो निंदनीय हरकत की है उससे उनकी बौखलाहट साफ जाहिर होती है। पहले तो सांसद तिवारी जी ने कहा कि मुझे मेरे ही लोकसभा क्षेत्र में न्योता क्यों नहीं दिया गया। बाद में जब उन्हें मंच पर आने की सहमति भी मिल गई तो माननीय सांसद महोदय कहते हैं कि मेरा अच्छी तरह से स्वागत क्यों नहीं कर रहे हैं। हमने आपको अतिथि की तरह बुलाया और आप गुंडों की तरह प्रोग्राम में प्रवेश कर रहे हैं, उस पर फिर यह भी चाहते हैं कि आप की पूजा अर्चना की जाए, आओ भगत की जाए।
उन्होंने कहा कि मनोज तिवारी नैतिकता का पाठ पढ़ाने से पहले खुद नैतिकता सीखनी चाहिए। संघीय ढांचे को ताक पर रखकर आप ही की भाजपा ने दिल्ली में कई उद्घाटन के बड़े कार्यक्रमों में दिल्ली के मुख्यमंत्री तक को न्योता नहीं दिया। दिल्ली की मेट्रो लाइन का उद्घाटन हुआ और दिल्ली के मुख्यमंत्री को ही नहीं बुलाया गया। मुख्यमंत्री कार्यालय से महज़ आधा किलोमीटर की दूरी पर स्काई वॉक का उद्घाटन किया गया जिसको बनाने में दिल्ली सरकार का पूरा पूरा योगदान था, उस प्रोग्राम में भी भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को बुलाना उचित नहीं समझा। माननीय तिवारी जी यह रिवायत आप ही की पार्टी के द्वारा शुरु की गई है। हमने तो केवल मोदी जी द्वारा शुरु की गई इस परंपरा को आगे ले जाने का काम किया है।
प्रेस वार्ता में कुछ वीडियो क्लिप दिखाते हुए दिलीप पांडे ने कहा कि तिवारी जी और उनके गुंडे वहां पर हंगामा करने और उस कार्यक्रम को खराब करने के इरादे से ही आए थे। उस का सबूत यह वीडियो जो कि 3:00 बजे के आसपास लिया गया है। जबकि उस समय पर न तो वहां पर मुख्यमंत्री थे, और न हीं हमारी पार्टी का कोई भी नेता वहां पर मौजूद था, केवल और केवल जनता थी। सांसद महोदय और उनके गुंडे साथी वहां आए और कुर्सियां तोड़ना शुरु कर दिया। जोर जोर से मोदी मोदी के नारे लगाना शुरु कर दिए, जय श्रीराम के नारे लगाना शुरु कर दिए। मनोज तिवारी जी से पूछना चाहता हूं कि यह तो एक सरकार का कार्यक्रम था, इस कार्यक्रम में कुर्सियों की तोड़फोड़ करना क्या दर्शाता है।
कल की घटना एक और बड़ी बात को दर्शाता है कि भारतीय जनता पार्टी कानून और कानून का पालन करने वालों को अपनी जेब में रखती है। जहां एक तरफ इसी दिल्ली में थप्पड़ मारने की मात्र शिकायत पर मुख्यमंत्री समेत बार विधायको पर FIR दर्ज कर ली जाती है, मुख्यमंत्री आवास पर पुलिस छापा मारती है, जबकि उस घटना का एक भी साक्ष्य मौजूद नहीं है। वहीं  भाजपा के माननीय सांसद मनोज तिवारी एडिशनल DCP साहब को भरी सभा में हजारों लोगों के सामने थप्पड़ मारते हैं, उनका कॉलर पकड़ते हैं, और गंदी गंदी गालियां देते हैं, बावजूद उसके उन पर कोई FIR नहीं होती। उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की जाती।
भारतीय जनता पार्टी इलाके की पुलिस को एक राजनीति हथियार के रूप में इस्तेमाल कर रही है। पुलिस की मौजूदगी में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की जनता द्वारा चुने हुए मुख्यमंत्री पर भाजपा के सांसद मनोज तिवारी एवं उनके गुंडे पानी की बोतल सकते हैं और दिल्ली की पुलिस जो कि भाजपा के अधीन आती है उनको सुरक्षा देने में नाकाम सिद्ध होती है, यह दर्शाता है कि कल की घटना को एक षड़यंत्र के तहत अंजाम दिया गया।
प्रेस वार्ता में मौजूद पूर्वी दिल्ली से आप लोकसभा प्रभारी आतिशी ने कहा कि कल की जो घटना है वो दर्शाती है कि एक सोची समझी साजिश के तहत इस घटना को अंजाम दिया गया। जो पांच वीडियो हमने अभी आप सब को दिखाए उन वीडियो को देखने के बाद सवाल उठता है कि अगर मनोज तिवारी किसी गलत नीयत से नहीं आए थे तो 3:00 बजे जब वहां पर कोई भी मौजूद नहीं था, तो उनके लोगों ने कुर्सियां क्यों तोड़ी, वहां पर मौजूद जनता को गंदी गंदी गालियां दे ना क्यों शुरु कर दिया। यह सब हरकतें दर्शाती है कि वह लड़ाई और झगड़े के इरादे से ही वहां पर आए थे।

महिला शक्ति सामाजिक समिति की ओर से गरीबों को बांटे गए कपडे एवं खाने का सामान

महिला शक्ति सामाजिक समिति की ओर से गरीबों को बांटे गए कपडे एवं खाने का सामान
महिला शक्ति सामाजिक समिति द्वारा चलाए जा रहे स्कूल मिशन एजुकेशन में ग्रेटर नोएडा के सेक्टर-इटा 1 में कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गरीब बच्चों एवं उनके अभिभावकों को नए कपडे और खाने-पीने की सामग्री बाँटकर दिवाली की खुशियां नन्हे गरीब बच्चो व उनका माता-पिता के साथ मनाई।
महिला शक्ति सामाजिक समिति की अध्यक्ष साधना सिन्हा ने कहा कि सभी बच्चों और उनके उनके माता-पिता की तरफ से तहे दिल से शुक्रिया अदा करती हुं जिन्होंने उन्हें हर काम के लिए सहयोग दिया।
इन  सेवकों में मुख्य रूप से एडवोकेट विकास सक्सेना,  शैलेन्द्र श्रीवास्तव, शशांक श्रीवास्तव, अधिवक्ता जगदीप सिंह और संजय संहा उपस्थित रहे।

फी रेगुलेशन एक्ट को लेकर आईआईएमटी में डीएम बीएन सिंह ने ली महत्वपूर्ण बैठक

फी रेगुलेशन एक्ट को लेकर आईआईएमटी में डीएम बीएन सिंह ने ली महत्वपूर्ण बैठक
ज़िले के सभी स्कूल, कॉलेजों में फी रेगुलेशन एक्ट के तहत सभी कॉलेजों का फीस स्ट्रक्चर जारी कराने के उद्देश्य से जिलाधिकारी बीएन सिंह की अध्यक्षता में ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क स्थित आईआईएमटी इंजीनियरिंग कॉलेज के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें जिलाधिकारी बीएन सिंह ने समस्त स्कूल संचालकों का आह्वान करते हुए कहा है कि सरकार के द्वारा सभी स्कूलों में फीस निर्धारण के संदर्भ में फी रेगुलेशन एक्ट जारी किया गया है। जिसका अनुपालन सभी स्कूल संचालकों के द्वारा किया जाना अत्यंत आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि समस्त स्कूल संचालक फी रेगुलेशन एक्ट के तहत अपने कॉलेज का फीस स्ट्रक्चर तैयार करके अपनी वेबसाइट पर जारी करते हुए उसकी सूचना फी रेगुलेशन समिति को भी उपलब्ध कराने की कार्रवाई आगामी 1 सप्ताह के अंतर्गत करेंगे।
जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया है कि फी रेगुलेशन समिति के सदस्य एक्ट में जो व्यवस्था दी गई है उसी सीमा के अंतर्गत एवं उसी क्षेत्र में अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करेंगे। उन्होंने कहा है कि फी रेगुलेशन एक्ट के अंतर्गत  कोई भी स्कूल संचालक 5 वर्ष से पूर्व स्कूल ड्रेस नहीं बदल सकेंगे यदि बदलना आवश्यक होगा तो उसकी सूचना गठित समिति को दी जाएगी। इसी प्रकार पुस्तक एवं ड्रेस तथा अन्य स्कूल सामग्री बच्चों को खरीदने के लिए किसी दूकान को घोषित नहीं करेंगे और सभी अभिभावक बच्चो की पढाई से संबंदित चीजे कही से भी खरीदने के लिए स्वतंत्र होंगे।
जिलाधिकारी ने कहा कि फी रेगुलेशन एक्ट सभी स्कूल कॉलेजों को उपलब्ध करा दिया गया है और यह एक्ट 25000 एवं उससे अधिक फीस वसूल करने वाले स्कूल कॉलेजों पर लागू होगा। संबंधित एक्ट के अंतर्गत प्री-नर्सरी स्कूल सम्मिलित नहीं होंगे। जिलाधिकारी ने यह भी स्पष्ट किया है कि यदि किसी स्कूल कॉलेज के द्वारा फी रेगुलेशन एक्ट का उल्लंघन होता हुआ पाया जाएगा तो उसके संदर्भ में गठित समिति एक्शन लेते हुए कार्रवाई सुनिश्चित करेगी। अतः सभी स्कूल संचालक सरकार द्वारा जारी किए गए एक्ट का अक्षर से पालन सुनिश्चित करेंगे। इस महत्वपूर्ण बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अनुराग भार्गव के द्वारा आगामी 26 नवंबर से चलने वाले खसरा रूबेला टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के संबंध में स्कूल संचालकों द्वारा किस प्रकार से सहयोग प्रदान किया जाना है उसके संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी उपलब्ध कराई गई।
इसी प्रकार स्कूल कॉलेजों में सेफ्टी क्लब गठन करने के संबंध में एआरटीओ हिमेश तिवारी के द्वारा जानकारी देते हुए संबंधित क्लब गठन करने के लिए कहा गया। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक का संचालन करते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक पीके उपाध्याय के द्वारा फी रेगुलेशन एक्ट के संबंध में विस्तारक रूप से जानकारी उपलब्ध कराई गई। आयोजित कार्यक्रम के अवसर पर समिति के सदस्यों में वरिष्ठ कोषाधिकारी अशोक कुमार, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग विमल कुमार, चार्टर्ड अकाउंटेंट एसके नायर, अभिभावक  संघ की ओर से प्रशांत कुमार, स्कूल कॉलेजों की ओर से कामनी  भसीन अन्य संबंधित अधिकारियों स्कूल कॉलेजों के प्रधानाचार्य एवं संचालकों के द्वारा भाग लिया गया।

सरकार की योजनाओं को लोगो तक पहुँचाने के लिए लगाए गए शिविर

जिला अधिकारी गौतम बुद्ध नगर बीएन सिंह के निर्देश पर जनपद के जिला समाज कल्याण अधिकारी आनंद कुमार सिंह एवं उनके सहयोगी अधिकारियों द्वारा सरकार की विभिन्न पेंशन योजनाओं के लिए शिविर आयोजित किए जा रहे हैं, ताकि सभी लाभार्थियों की खोज करते हुए  सरकार की पेंशन योजनाओं का लाभ उन्हें पहुंचा सके।
जिला समाज कल्याण अधिकारी आनंद कुमार सिंह ने बताया कि इस क्रम में दादरी विकास खंड के ग्राम रौनीलतीफपुर मे एकीकृत पेशंन शिविर का आयोजन किया गया । पेंशन शिविर मे वृद्धावस्था पेशंन, निराश्रित महिला पेशंन एवं दिव्यांग पेशंन योजना का प्रचार प्रसार किया गया। साथ ही साथ मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना का प्रचार भी ग्राम मे किया गया। ग्राम में वृद्धावस्था पेशंन के 30 व्यक्ति प्रथम दृष्टया पात्र पाए गये, किन्तु उनका आय प्रमाण पत्र न बने होने के कारण आवेदन पत्र ऑनलाइन नही कराए जा सके । उपस्थित सभी लोगों को आय प्रमाण पत्र जारी होने की प्रक्रिया की जानकारी दी गई।