Author Archive: parichowk.com

About parichowk.com

www.parichowk.com is a live blog of Greater Noida and Yamuna Expressway..It publishes news, events, issues, happenings, developments, grievances - as it happens

स्कॉच अवार्ड के लिए जनपद गौतम बुद्ध नगर को किया गया नॉमिनेट

जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर बीएन सिंह के द्वारा जनपद में डीएम वार रूम एवं शिक्षा के क्षेत्र में किए गए अविरल प्रयास को स्कॉच अवार्ड के लिए नॉमिनेट किया गया है। इस संबंध में जिलाधिकारी दिल्ली में अपना प्रेजेंटेशन प्रस्तुत करेंगे।

दादरी के निकट फाटक संख्या 149 सी 17 मई से 19 मई, त क मरम्मत के कारण रहेगा बंद

उत्तर मध्य रेलवे दादरी के सीनियर सेक्शन इंजीनियर के द्वारा जानकारी देते हुए अवगत कराया गया है कि दादरी से मारीपत के बीच फाटक संख्या 149सी पर मरम्मत कार्य होने के फलस्वरुप 17 मई 2018 सुबह 8 बजे से 19 मई, 2018 की शाम 8 बजे तक बंद रहेगा । इस संबंध में उन्होंने आम नागरिकों का आह्वान किया है कि इस मार्ग से जाने वाले नागरिक फाटक बंद होने की अवधि के दौरान अन्य मार्गों का प्रयोग कर सकते हैं, ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।

स्ट्रीट लाइट के खम्बे बन रहे है राहगीरों के लिए जान का खतरा


एक तरफ जहां हमारे इस सुंदर शहर ग्रेटर नोएडा की तारीफ सुनने में आती है वही कुछ छोटी छोटी कमिया ऐसी भी है जो शहर के नाम को खराब करने के साथ साथ लोगो को आघात भी पहुचाती है। जैसे आज मैं आपको बताना चाहता हू स्ट्रीट लाइट के खम्बो के बारे मे क्योंकि एक तरफ जहां हमारे शहर की एक विशेषता यह भी है कि यहाँ लाइट एव अन्य वायर सिस्टम भूमिगत है परंतु दूसरी तरफ विशेषकर सेक्टरों में स्ट्रीट लाइट के पोल जड़ो में से गले हुए है एव कमजोर पड़े है सही से उनकी नींव मजबूत न करके एव सही गुणवत्ता न होने के कारण वे गल जाते है अतः इनकी देखरेख एव मरमत की व्यवस्था नियमित होनी चाहिए, क्योंकि तेज आंधी इत्यादि से ये किसी भी समय अचानक किसी को भी जानलेवा खतरा पहुचाते है जिसमे किसी भी व्यक्ति के साथ हादसा होने का डर मंडराता रहता है ।

Showcasing Bengali art & culture 157th Birth Anniversary of Rabindranath Tagore commemorated

The Bengali residents of Greater Noida commemorated Rabindranath Tagore’s 157th Birth Anniversary with a musical procession on Saturday, 12 May. Tagore’s Birthday is an auspicious event in the Bengali calendar. He was born in Calcutta, then in British India, in 1861. The people in and from Bengal celebrate this day with various art forms like music, dance, poetry, painting and theatre all across the world. This is an occasion to showcase their music and art. Quote obviously the musical compositions for a Tagore related event are chosen from the Master’s book of songs Gitabitan. The celebration in Greater Noida was a unique one where the participants sang some popular and some less popular Tagore songs together while walking down the lanes of sector Alpha 1. In the Bengali tradition such a procession is called probhat-pheri. There was an effigy of Tagore installed on a cycle van and this was decorated beautifully with the garlands of jasmine and marigold, and some seasonal flowers. The musical accompaniments were simple – harmonium, khol and mandira, but the songs performed by the participants filled the air with an unforgettable melodious tune. One of the organisers Mrs Urmi Bhattacharjee said that they selected those songs which could be sung in chorus. She said most of these songs belonged to the genre of patriotic songs composed during the freedom movement. The participants were in traditional Bengali attire – men in kurta-pajama and women in cotton sarees – which created a delightful scene. Some children from Greater Noida schools also joined this event. They sang Mahatma Gandhi’s favourite Tagore song: Jodi tor dak shune keu na ashe, tobe ekla chalo re (If no one hears your call then you must walk alone). The accompanist Ganesh Sarkar in his traditional instrument khol made a perfect balance with all the songs; mandira was played by Naresh Das. One of the organisers Suvadip Bhattacharjee played the harmonium. Throughout the procession there was a flavour of Tagore’s very own Bengal and his great musical tradition that is compared with the other classical gharanas. The procession ended at the green park Ashok Vatika where a few songs were also sung together. Sushanto Chakrabarti recited the poem “Abhishar” in his trained voice. The final song in the programme was the National Anthem composed by the bard himself. Everyone in the park stood up to pay their homage to Tagore and our India.

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे अवैध रूप स े हो रहे वाहन संचालन पर लगी लगाम


ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे पर अर्ध निर्माण होने के कारण वाहनों के संचालन पर पूर्णता रोक लगाने के उद्देश्य से अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुमार विनीत एवं पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सुनीति के द्वारा दादरी तहसील के बील अकबरपुर एवं सिरसा में पहुंचकर एक्सप्रेस वे पर वाहनों के संचालन पर रोक लगाने की कार्यवाही सुनिश्चित कराई गई। ज्ञातव्य हो कि ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य अभी पूर्ण नहीं हुआ है और इस एक्सप्रेस वे पर अवैध रूप से वाहनों का

अवैध रूप से संचालन हो रहा था जिसे जिला प्रशासन की ओर से संज्ञान लेते हुए बंद कराने की कार्यवाही सुनिश्चित की गई है। इस अवसर पर उनके साथ अपर जिलाधिकारी दादरी अमित कुमार सिंह एवं क्षेत्राधिकारी पुलिस तथा अन्य अधिकारी गण भी उपस्थित रहे।

जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने ज ेवर पहुंच आंधी से नुकसान का लिया जायजा


जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर बीएन सिंह ने समस्त अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहां है कि दैवीय आपदा की स्थिति में आंधी तूफान आने पर समस्त संबंधित विभागीय अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंचकर आवश्यक कार्यवाही करेंगे, तथा जन सामान्य को लाभ पहुंचाने की दिशा में सार्थक कदम उठाएंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि तूफान के कारण विद्युत के पोल बहुता की संख्या में खंभे आदि क्षतिग्रस्त हुए हैं।

अतः बिजली विभाग के अधिकारीगण तत्काल प्रभाव से इस कार्य में जुट जाएं और प्रभावी कार्यवाही करते हुए विद्युत आपूर्ति किया जाना सुनिश्चित करें। इसी प्रकार लोक निर्माण विभाग के अधिकारीगण यदि उनके मार्गों पर कहीं पर पेड़ आदि गिरने के कारण मार्ग अवरुद्ध हुआ है उसे मौके पर जाकर तत्काल प्रभाव से खुलवाने की कार्यवाही करें।

थाना जेवर में बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी ने नगर पालिका एवं नगर पंचायत के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आंधी तूफान आदि आपदा आने पर उनके द्वारा तुरंत राजस्व विभाग के अधिकारियों एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों तथा अन्य संबंधित अधिकारियों से आपसी सामंजस्य स्थापित करते हुए बाधित सेवाओं को तत्काल प्रभाव से बहाल करने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी विभाग के संबंध में नागरिकों को दैवीय आपदा आने के कारण किसी प्रकार की कठिनाई हो रही है तो उस समस्या के बारे में संबंधित अधिकारियों के द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर उसका निराकरण किया जाए वहीं दूसरी ओर कार्य करने की सूचना आम नागरिकों को समय-समय पर तत्काल उपलब्ध कराई जाए ताकि सभी नागरिक यह जान सके कि कितने समय में उनकी समस्याओं का निदान संभव होगा।

उन्होंने राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि दैवीय आपदा आने पर उनके द्वारा समस्त लेखपाल को सक्रिय करते हुए क्षेत्र के नुकसान की जानकारी तत्काल एकत्रित की जाए और यदि कहीं पर आगजनी आदि की समस्या या और कोई दैवीय आपदा आती है तो संबंधित विभागीय अधिकारी के द्वारा तुरंत मौके पर पहुंचकर जनता को सहयोग प्रदान किया जाए और उनकी समस्याओं का निराकरण करने की कार्यवाही तत्काल प्रभाव से की जाए। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अजय पाल ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके द्वारा भी आपदा की स्थिति में तत्काल मौके पर पहुंचकर आम नागरिकों को सहयोग करने की कार्रवाई की जाएगी ताकि आपदा से किसी भी जनहानि एवं अन्य किसी हानि को कम किया जा सके।

आयोजित बैठक में उप जिलाधिकारी जेवर प्रसून द्विवेदी क्षेत्राधिकारी पुलिस जगतराम जोशी तहसीलदार जीत सिंह अधीक्षण अभियंता विद्युत ए के सिंह लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता विमल कुमार क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी विजय बहादुर सिंह नगर पंचायत के अधिकारी गण एवं अन्य संबंधित अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया।

महान क्रांतिकारी शहीद दरियाव सिंह नागर क ी मनाई गयी पुण्यतिथि


आज जुनेदपुर गाँव के शहीद दरियाव सिंह चौक पर 1857 ई. के मुख्य सूत्रधार शहीद दरियाव सिंह नागर की पुण्यतिथि मनाई गई।इस मौके पर उनके चित्र पर पुष्पर्पित किये व भंडारे का आयोजन किया गया।

दरियाव सिंह युवा समिति के सरंक्षक मुन्नीलाल भगत ने बताया कि आज के दिन 14 मई 1857 ई.को बुलंदशहर के काले आम पर महान क्रांतिकारी दरियाव सिंह नागर को फाँसी दी गयी थी।उनके साथ क्षेत्र के 4 और क्रांतिकारियों को फाँसी दी गयी थी। मुन्नीलाल भगत ने बताया कि दरियाव सिंह नागर बहुत ही वीर ,साहसी थे।उनकी वीरता का लोहा अंग्रेज भी मानते थे। 99 वर्षीय बुजुर्ग नत्थू सिंह ने बताया कि दरियाव सिंह से अंग्रेज बहुत डरते थे।एक बार दरियाव सिंह ने कुछ अंग्रेजो को बांधकर उनसे बैलो कि जगह हल चलवाया था तथा उन्हें बैलो के हंटर से पीटा था जिससे अंग्रेजों मे खलबली मच गई थी।उन्होंने बताया कि दरियाव सिंह ऊँचे जमीदार घराने से थे ।उनके पास लगभग 800 बीघा जमीन थी

इस दौरान ग्रामीणों ने जल्द ही विधायक धीरेन्द्र सिंह से मिलकर दनकौर-सिकंदराबाद मार्ग का नाम शहीद दरियाव सिंह नागर मार्ग रखने व उनके नाम पर एक पार्क के निर्माण करने की मांग करने को कहा।

इस दौरान समिति के अध्यक्ष सुनील नागर, दिनेश नागर, अरुण नागर,मोहित नागर,वीरेंद्र एडवोकेट, रमेश कुमार,सुन्दर सिंह,सुभाष, मन्नड सिंह,सुमित कुमार,सरदा महाशय,प्रेम प्रधान,सतीश नागर,आकाश,इंद्रजीत भगत, केशाराम नागर,राकेश नागर व सुनील,,जयबीर, कपिल,रोहित, मनोज फौजी, रणपाल,अनिल,नितिन आदि मौजूद रहे।

बेखौफ चोरों ने ग्रेटर नोएडा में वरिष्ठ अध िकारी के घर को बनाया निशाना, लाखों का माल किया साफ।

ग्रेटर नोएडा :- ग्रेटर नोएडा में लगातार बढ़ रहा है चोरो का आतंक । इस बार बेखौफ चोरों ने प्रसाशनिक अधिकारी के घर को बनाया है निशाना। देर रात ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में तैनात आईएएस विभा चहल के घर चोरो ने बोला धावा। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में विशेष कार्याधिकारी के पद पर तैनात हैं ओएसडी विभा चहल । एक कमरे में परिवार के साथ घर पर विश्राम कर रही अधिकारी के कमरे की कुण्डी लगाकर चोरो ने घर पर रखे 5 हज़ार रुपये नकद समेत 7 लाख के सोने चांदी के जेवर पर किया हाथ साफ । थाना कासना में हुआ मामला दर्ज ।

Thieves stolen Rs 5 Lakh and gold from Delta 1 Gr Noida

ग्रेटर नोएडा दिनदहाड़े करीब 4:00 बजे डेल्टा वन से चोरों ने करीब 12 तोला सोना 5लाख कैश भीड़ भाड़ वाले इलाके से ले उड़े 5लाख दुकान खरीदने के लिए आज ही रखे थे अपने घर में