Author Archive: parichowk.com

About parichowk.com

www.parichowk.com is a live blog of Greater Noida and Yamuna Expressway..It publishes news, events, issues, happenings, developments, grievances - as it happens

सुरेंद्र नागर सपा के स्टार प्रचारकों में, नरेंद्र गायब

सपा ने अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट में पार्टी सांसद सुरेंद्र नागर का नाम तो रखा है, लेकिन इस सूची में एमएलसी नरेंद्र भाटी का नाम नहीं है। अब स्टार प्रचारकों की यह लिस्ट इलाके में चर्चा का विषय बन गई है।

ग्रेटर नोएडा के परी चौक के पास तुगलपुर की स ब्जी मंडी में लगी भीषण आग 300 दुकाने जलकर खाक।

ग्रेटर नोएडा के परी चौक के पास तुगलपुर की सब्जी मंडी में लगी भीषण आग 300 दुकाने जलकर खाक। लाखो रूपये के नुकसान की आशंका। सब्जी, फल, राशन, कपड़े, आदि की दुकाने जली।

राष्ट्रीय लोकदल पार्टी से दादरी प्रत्याश ी रविंद्र भाटी ने किया नामांकन ,उमड़ा जन सैलाव

राष्ट्रीय लोकदल पार्टी से दादरी प्रत्याशी रविंद्र भाटी ने किया नामांकन ,उमड़ा जन सैलाव

नॉएडा से बीजेपी प्रत्याशी पंकज सिंह ने वी वीआईपी अंदाज में किया नामांकन पंकज सिंह के स मर्थन में उमड़ा जन सैलाब

नॉएडा से बीजेपी प्रत्याशी पंकज सिंह ने वीवीआईपी अंदाज में किया नामांकन पंकज सिंह के समर्थन में उमड़ा जन सैलाब

वीवीआईपी केंडिडेट पंकज सिंह के सामने ख़त् म हो गए आयोग और प्रशासन के नियम

विधान सभा चुनाव के लिए गौतम बुद्ध नगर जिला प्रशासन उम्मीदवारों पर सख्ती का डंडा चला रहा है। आचार संहिता का अक्षरशः पालन करवाया जा रहा है। नहीं करने वालों पर धड़ाधड़ एफआईआर दर्ज करवाई जा रही हैं। दूसरी ओर वीवीआईपी उम्मीदवार पंकज सिंह आज नामांकन करने पहुंचे तो आयोग के कायदे, आचार संहिता और प्रशासन की सख्ती कहीं नजर नहीं आई।
नोएडा से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह सूरजपुर जिला मुख्यालय पर नामांकन करने पहुंचे। पंकज सिंह 7 कारों के काफिले के साथ सीधे कलेक्ट्रेट परिसर में दाखिल हुए। जबकि अब तक जिला प्रशासन ने कलेक्ट्रेट के मुख्य द्वार तक 2 कार लाने की इजाजत उम्मीदवारों को दी है। पंकज सिंह के साथ भाजपा के करीब 50 नेता निर्वाचन अधिकारी के दफ्तर पहुंचे। बाकी प्रत्याशी अधिकतम 4 व्यक्तियों के साथ नामांकन करने पहुंचे हैं।
पंकज सिंह के साथ डॉ महेश शर्मा भी नामांकन दाखिल करवाने पहुंचे। महेश शर्मा के पास वाई श्रेणी सुरक्षा का कवर है। आयोग का साफ़ आदेश है कि ऐसी सुरक्षा वाले लोग चुनाव प्रचार से दूर रहेंगे। डॉ महेश शर्मा खुद ही नहीं, उनके सारे सुरक्षा कर्मी भी नामांकन के वक्त आरओ के कार्यालय तक पहुंच गए।